Submit your post

Follow Us

पहाड़ियों के बीच से नहर निकालने वाले लौंगी भुइंया की ये इच्छा महिंद्रा ने पूरी कर दी

बिहार का गया. यहां के लहथुआ क्षेत्र के कोठिलवा गांव में रहने वाले लौंगी भुइयां ने अपने गांव में पानी लाने के लिए पहाड़ियों के बीच से नहर निकाल दी थी. 70 साल के इस शख्स ने अपने गांव की पास की पहाड़ी से तीन किलोमीटर तक लंबी नहर खोद दी. और उन्हें ये करने में 30 साल लगे. उनके इस काम की खूब तारीफ हुई. मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक.

लौंगी भुइयां ने कहा था कि अगर उन्हें एक ट्रैक्टर मिल जाए तो उनको बड़ी मदद हो जाएगी. किसी तरह ये बाद आनंद महिंद्रा तक पहुंच गई और उन्होंने भुइयां की इच्छा पूरी कर दी.

आनंद महिंद्रा ने लौंगी भुइयां को ट्रैक्टर उपलब्ध करा दिया है. रोहिन, जिनके सामने भुइयां ने अपनी इच्छा जताई थी, उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. उन्होंंने ट्वीट करते हुए लिखा है,

धन्यवाद आनंद महिंद्रा और महिंद्रा ग्रुप. लौंगी जी को ट्रैक्टर मिल गया है. लौंगी जी बहुत खुश थे. खूब सारा प्यार और आशीर्वाद भेजा है आनंद महिंद्रा के लिए. हम सबका शुक्रिया अदा किया है.
ये ट्वीट देखिए-

इससे पहले रोहिन कुमार ने लौंगी भुइयां के साथ सेल्फी पोस्ट की थी और लिखा था,

गया के लौंगी मांझी ने अपने ज़िंदगी के 30 साल लगा कर नहर खोद दी, उन्हें अभी भी कुछ नहीं चाहिए, सिवा एक ट्रैक्टर के, उन्होंने मुझसे कहा है कि अगर उन्हें एक ट्रैक्टर मिल जाए तो उनको बड़ी मदद हो जाएगी.

इस ट्वीट में रोहिन ने आनंद महिंद्रा को भी टैग किया. और उनसे ट्रैक्टर देकर मदद करने की अपील की. इसी के बाद आनंद महिंद्रा ने रोहिन को जवाब में रीट्वीट किया और पूछा कि वो इनकी मदद कैसे कर सकते हैं. उन्होंने लिखा-

उनको ट्रैक्टर देना मेरा सौभाग्य होगा. जैसा कि आप जानते हैं, मैंने ट्वीट किया था कि मुझे लगता है कि उनकी नहर ताज या पिरामिडों के समान ही प्रभावशाली है. उनका हमारा ट्रैक्टर इस्तेमाल करना सम्मान की बात होगी. रोहिन बताएं कि हमारी टीम उन तक कैसे पहुंच सकती है?

रोहिन ने उन्हें मैसेज के ज़रिए लौंगी भुइयां के बारे में जानकारी देने की बात कही. इसके कुछ समय बाद भुइयां को ट्रैक्टर मिल गया.

बता दें कि एएनआई से बातचीत में लौंगी भुइयां ने बताया था,

पिछले 30 सालों से, मैं अपने मवेशियों को पालने और नहर की खुदाई करने के लिए पास के जंगल में जाता हूं. इस प्रयास में मेरे साथ कोई भी शामिल नहीं था……गांव वाले तो कमाने-धमाने शहर गए हैं. मैंने यहीं रहने का फैसला किया था.

बारिश के दौरान पहाड़ियों पर रुका हुआ सारा पानी नदी में चला जाता था जिसका कोई सीधा लाभ गांव को नहीं मिल पाता था. लौंगी भुइयां इससे परेशान थे और फिर उन्होंने पहाड़ियों से नहर निकालने की सोची और अकेले ऐसा कर दिखाया.


वीडियो देखें : बिहार के लौंगी भुइयां, जिनकी 30 साल की मेहनत ने पहाड़ियों के बीच से नहर निकाल दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चीन की इंटेलीजेंस को गोपनीय रिपोर्ट्स भेजने के आरोप में चीन की महिला सहित पत्रकार गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने कई सारे मोबाइल फोन, लैपटॉप समेत कई सेंसिटिव दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

केरल और बंगाल से अल कायदा के 9 संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार!

एनआईए ने दोनों राज्यों में छापे मारे.

हरसिमरत कौर बादल ने किसानों से जुड़े मुद्दे को लेकर मोदी सरकार से इस्तीफा दिया

हरसिमरत कौर केंद्र सरकार में फूड प्रॉसेसिंग इंडस्ट्रीज मिनिस्टर थीं.

20 सैनिकों की मौत के बाद भारत सरकार ने चीन में मौजूद बैंक से कई हज़ार करोड़ रुपए उधार लिए

सरकार ने ये जानकारी दी तो कांग्रेस ने इसे हथियार बना लिया

संसद सत्र से पहले दो जगह कराई कोरोना जांच, रिपोर्ट देखकर चकरा गए सांसद महोदय

मॉनसून सत्र से पहले हुई जांच में 17 MP कोविड पॉजिटिव मिले हैं.

बिहार: 70 साल के इस शख्स ने दशरथ मांझी जैसा काम कर दिया है

और इस नेक काम में उन्हें 30 साल लगे.

कोरोना से ठीक होने के बाद अगले कुछ दिनों तक क्या करें, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया

प्रोटोकॉल जारी किया है, पढ़ लें.

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का एम्स में निधन

तीन दिन पहले लालू की पार्टी छोड़ी थी.

दिल्ली दंगा: पुलिस ने कहा-चार्जशीट में योगेंद्र यादव और येचुरी का नाम है पर आरोपी के रूप में नहीं

मीडिया में चल रही खबरों पर दिल्ली पुलिस ने स्थिति स्पष्ट की है.

जो काम खुद बाल ठाकरे करते थे, शिवसेना वालों ने उसी के लिए एक्स नेवी ऑफिसर को पीट दिया!

पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.