Submit your post

Follow Us

महाराष्ट्र चुनाव में कमल के निशान पर चुनाव लड़ेगा छोटा राजन का भाई

दीपक निकालजे. महाराष्ट्र में सतारा की फलटन सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ने जा रहे हैं. उन्हें एनडीए की सहयोगी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया यानी RPI ने टिकट दिया है. लेकिन वो बीजेपी के सिंबल पर चुनाव लड़ेंगे.

दीपक निकालजे हैं कौन?

इससे पहले दीपक तीन बार चेंबूर सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन तीनों बार हार मिली है. लेकिन दीपक निकालजे की पहचान ये नहीं है. सबसे बड़ी पहचान है डॉन छोटा राजन का भाई होना. फलटन जहां से दीपक चुनाव लड़ रहे हैं उसे छोटा राजन का गढ़ माना जाता है.

दीपक निकालजे के नाम की घोषणा केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्य मंत्री रामदास अठावले ने 1 अक्टूबर को की. केंद्रीय मंत्री ने निकालजे के अलावा पांच और नामों की घोषणा भी की. NDA के सीट बंटवारे में अठावले की पार्टी को छह सीटें मिली हैं. सोलापुर की मलशीरस, सतारा की फलटन, नांदेड़ की भंडारा और नायगांव, परभनी की पाठरी और मुंबई की मानखुर्द-शिवाजी नगर सीट.

दीपक ने पहले चेंबूर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था. सीट बंटवारे के बाद यह सीट शिवसेना के पास चली गई है. इसलिए दीपक को फलटन से टिकट दिया गया है. दीपक को राजनीति का शौक है. हालांकि कहा जाता है कि दीपक का चुनाव लड़ना डॉन छोटा राजन को पसंद नहीं है.

दीपक के बारे में एक और बात कही जाती है. अंडरवर्ल्ड पर एक फिल्म बनी थी. नाम था ‘वास्तव’. कहा जाता है कि इसमें दीपक का पैसा लगा था. इसकी एक वजह ये भी है कि फिल्म की कहानी छोटा राजन की जिंदगी से मिलती है. दीपक रियल स्टेट के कारोबार से जुड़े हैं. बॉलीवुड की फिल्में भी प्रोड्यूस करते हैं.

छोटा राजन कौन है?

पुलिस की गिरफ्त में छोटा राजन. फाइल फोटो
पुलिस की गिरफ्त में छोटा राजन. फाइल फोटो

डॉन छोटा राजन का असली नाम राजेंद्र सदाशिव निकालजे है. उसका जन्म 1960 में मुंबई के चेम्बूर की तिलक नगर बस्ती में हुआ था. महज 10 साल की उम्र में उसने ब्लैक में  फिल्म टिकट बेचना शुरू कर दिया था. इसी बीच वह राजन नायर गैंग में शामिल हो गया. जुर्म की दुनिया में नायर को ‘बड़ा राजन’ के नाम से जाना जाता था. यह नायर का दाहिना था, इसलिए लोग इसे ‘छोटा राजन’ कहने लगे. बड़ा राजन की मौत से बाद छोटा राजन ने पूरे गैंग की कमान संभाल ली. इसी दौरान दाऊद इब्राहिम से उसकी करीबी बढ़ी. दोनों एक साथ मिलकर मुंबई में वसूली, हत्या, तस्करी और फिल्म फाइनेंस का काम करने लगे. 1988 में वह दुबई चला गया. इसके बाद दाऊद और राजन मिलकर भारत ही नहीं पूरी दुनिया में गैर-कानूनी काम करने लगे. मगर 1993 में मुंबई के सीरियल बम ब्लास्ट के बाद दोनों एक दूसरे के दुश्मन हो गए.


1993 का लातूर भूकंप जिसमें 30 हज़ार लोग घायल हुए और 10 हज़ार से ज्यादा लोग मारे गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.

मोदी ने दिव्यांग लड़के को फोन दिया, उसने पक्के इलाहाबादी वाला काम कर दिया

कुछ ऐसा कि आप भी जानकर मुस्कुरा देंगे.