Submit your post

Follow Us

ट्रैफिक जाम में 'छोटी गलती' और छिन गई कंपनी में मिलने वाली इतनी बड़ी पोस्ट

CEO (चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर) जिसे हिन्दी में आप मुख्य कार्यकारी अधिकारी कहते हैं.  कंपनी का लीडर.  जैसे गूगल में सुंदर पिचाई हैं. माइक्रोसॉफ्ट में सत्य नडेला हैं. जैसे कभी एप्पल में स्टीव जॉब्स थे. पेप्सिको में इंदिरा नूई थीं. कंपनी में बड़ा पद होता है. सारे बड़े फैसले सीईओ ही लेता है. एक कंपनी का सीईओ बनने के लिए एक व्यक्ति ने अप्लाई किया. लेकिन एक छोटी सी गलती और सीईओ बनते-बनते रह गए.

क्या है मामला

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, एक व्यक्ति ने मल्टिनेशनल कंपनी में सीईओ पद के लिए अप्लाई किया. सारी योग्यता थी. एजुकेशनल क्वालिफिकेशन था. कंपनी में काम करने के लिए एक्सपीरियंस था. अल्पाई करने के बाद सब कुछ ठीक ही चल रहा था. इंटरव्यू के लिए कॉल आई. कई राउंड का इंटरव्यू हो भी चुका था. बस अंतिम राउंड का इंटरव्यू बचा था. कंपनी ने गाड़ी भेजी और वह इंटरव्यू के लिए निकल पड़े. भारी बारिश की वजह से ट्रैफिक जाम था. अब ट्रैफिक जाम में गुस्सा तो आता ही है. इन्हें भी आ गया. फिर क्या था. ड्राइवर पर ही गुस्सा निकाल दिया. बस यहीं गलती हो गई.

ड्राइवर गाड़ी लेकर ऑफिस पहुंचा और मैनेजमेंट से इसकी शिकायत कर दी.  भर्ती प्रक्रिया में शामिल हंट पार्टनर्स कंपनी के मैनेजिंग पार्टनर सुरेश रैना का कहना है-

ड्राइवर की शिकायत को कंपनी ने गंभीरता से लिया. कंपनी ने सोचा, विचार किया कि अगर व्यक्ति बारिश और ट्रैफिक जाम से इतना परेशान हो सकता है तो फिर रोज- रोज की चुनौतियों का सामना कैसे करेगा. इतनी बड़ी कंपनी को आगे कैसे लेकर जा पाएगा. कर्मचारियों से काम कैसे निकलवा पाएगा. काफी सोच विचार के बाद मैनेजमेंट ने सीईओ के उम्मीदवार को बाहर का रास्ता दिखा दिया.

आप को लग सकता है कि इतनी छोटी सी बात के लिए कोई कंपनी ऐसा कैसे कर सकती है. लेकिन कंपनियां किसी भी अहम पद पर कैंडिडेट को चुनने से पहले उसके बारे में पूरी तहकीकात कर रही हैं. सिर्फ लीडरशिप ही नहीं लाइफस्टाइल और फिटनेस तक का ख्लाल रखा जा रहा है. कुछ साल पहले की बात है. कंपनी के डायरेक्टर पद के लिए एक कैंडिडेट को लगभग सलेक्ट कर लिया गया था. लेकिन सोशल मीडिया पर किए गए एक पोस्ट से नौकरी खतरे में पड़ गई. कंपनी ने अगाह किया. और जानकारियां जुटाईं. पता चला कि वह नस्लभेदी टिप्पणी करता है. इसके बाद उनकी नौकरी चली गई.


बरेली से विधायक राजेश मिश्रा उर्फ़ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी मिश्रा अपने पापा से जान को ख़तरा बता रही है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

वो कांग्रेसी जिसने राहुल गांधी को नेता मानने से इनकार कर दिया था

अब वह हमारे बीच नहीं हैं.

राणा कपूर की तीन बेटियां, जिन पर CBI-ED की नजर है

यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर ED की हिरासत में हैं.

फाइनल के बाद रोईं शेफाली वर्मा पर ब्रेट ली ने जो कहा वो आपको जानना चाहिए

ऑस्ट्रेलिया से हारकर रो पड़ी थीं शेफाली.

मध्य प्रदेश में क्या इस बार कांग्रेस अपनी सरकार नहीं बचा पाएगी?

कांग्रेस के 16 विधायक बेंगुलुरु शिफ्ट हो गए हैं. सीएम ने आपात बैठक बुलाई है.

कोरोना वायरस: ईरान में फंसे भारतीयों को लाने के लिए सरकार चीन वाला कदम उठाने जा रही है

ईरान में इस वायरस से अबतक 237 लोगों की मौत हो चुकी है.

ICC विमेंस टी20 प्लेइंग इलेवन टीम में शेफाली नहीं, इस इकलौती भारतीय को चुना गया है

इस टीम में ऑस्ट्रेलियाई टीम से कुल पांच खिलाड़ियों को चुना गया है.

कोरोना वायरसः इटली में एक दिन में 133 लोगों की मौत, डेढ़ करोड़ से ज्यादा लोग घरों में बंद

वहां के PM बोले- बलिदान देना होगा.

यस बैंक के मालिक के जिस पेंटिंग को खरीदने पर BJP ने हल्ला मचाया, वो प्रियंका गांधी ने बनाई ही नहीं

राणा कपूर ED की हिरासत में हैं.

टाइगर श्रॉफ की 'बागी 3' ने अब तक कितने पइसे कमा लिए?

उम्मीद ये थी कि कोरोना वायरस 'बागी 3' की कलेक्शन में बढ़िया सेंधमारी करेगा.

हाईकोर्ट का आदेश- CAA विरोधियों के पोस्टर हटाए जाएं

सरकार ने प्रदर्शनकारियों की फोटो, उनके नाम और पते के साथ चौक-चौराहों पर लगा दी थी.