Submit your post

Follow Us

के एल राहुल ने याद दिलाए IPL के वो सात मौके, जब बैट्समैन के सर पर कोई भूत सवार था

के एल राहुल. अगले कुछ दिनों तक इसी बंदे की चर्चा रहेगी. अगले ने आतिशी बल्लेबाज़ी दिखा डाली है. किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से खेलते हुए तेज़ रफ़्तार अर्धशतक जमाया. आईपीएल की सबसे तेज़ फिफ्टी थी ये. महज़ 14 गेंदें खेली उन्होंने. ये भयानक बैटिंग थी. इसने पिछले आईपीएल में KKR के सुनील नारायण की खेली ऐसी ही एक पारी की याद दिलाई.

के एल राहुल.
के एल राहुल.

सुनील नारायण. कोलकाता नाइट राइडर्स के मिस्ट्री स्पिनर. जब केकेआर 2012 के आईपीएल सीज़न में उनको लेकर आई थी तब किसी को नहीं पता था वो क्या बला हैं. और जब तक समझ आता केकेआर आईपीएल ट्रॉफी उठा चुकी थी. अगले तीन-चार साल तक उनका जलवा बरक़रार रहा. उनकी गेंदें बल्लेबाज़ों के लिए अबूझ पहेली बनी रहीं. लेकिन 2017 के सीज़न में उतना बड़ा थ्रेट नहीं रह गए थे. हालांकि खराब बॉलर हों गए हो ऐसा भी नहीं था. बहरहाल इतना तो था ही कि उनकी गेंदबाज़ी का उतना बड़ा आतंक नहीं रहा था, जितना शुरू-शुरू में हुआ करता था.

उनसे कोई ना डरे ये उनको रास नहीं आया. लिहाज़ा उन्होंने दूसरे हथियार से लोगों को डराना शुरू कर दिया. गेंद छोड़ के बल्ला उठा लिया. और उससे कहर ढाया. 14 अप्रैल 2017 को पंजाब की टीम के खिलाफ़ जब गौतम गंभीर ने उन्हें ओपनिंग के लिए उतारा तो लोगों की समझ में नहीं आया कि वो ऐसा कर क्यों रहे हैं. जब 18 गेंदों में 37 रन ठोंक कर वो लौटे तब सबको एहसास हुआ कि सुनील अपने नाम की लाज रखने लायक बल्लेबाज़ी कर सकते हैं. और उसके बाद जो धमाके उन्होंने किए, उससे तो लगता है जिनके नाम पर उनका नामकरण हुआ है, वो खुद भी ऐसा आतिशी खेल शायद ही दिखा पाते.

sunilnarineppl

एक और ताबड़तोड़ पारी में सुनील नारायण ने 7 मई 2017 को खेली थी. विराट कोहली की टीम के पुर्ज़े बिखेर दिए. आईपीएल के दस सालों के इतिहास में तब तक की सबसे फास्ट फिफ्टी के रिकॉर्ड पर काबिज़ हुए थे. 15 गेंदों में 50 रन बरसा डाले. ये रिकॉर्ड उस शख्स के नाम था, जो असल में एक गेंदबाज़ है. ऐसी चमत्कारी उपलब्धियां ही आईपीएल की कल्पनातीत सफलता का राज़ है. आइए कुछ ऐसी ही पारियों पर नज़र डालते हैं, जहां खेल में बल्ला नहीं तलवार चली थी. सबसे कम गेंदों में अर्धशतक बनाने वाले लोगों पर एक निगाह..


1. किरेन पोलार्ड (17 बॉल, 28 अप्रैल 2016)

मुंबई इंडियंस का होमग्राउंड वानखेड़े स्टेडियम. सामने थी शाहरुख़ की टीम केकेआर. जब पोलार्ड बैटिंग करने आए तब जीतने के लिए 7 ओवर में 69 रन चाहिए थे. 6 विकेट हाथ में थे. 20-20 के हिसाब से कोई ख़ास मुश्किल काम नहीं था. और पोलार्ड ने उसे और भी आसान बना डाला. 5 ओवर में ही बना दिए इतने रन. महज़ 17 गेंदों में 51 रन बनाए. चौके थे 2 और छक्के थे 6. वानखेड़े में ना घुसने देने पर उस दिन शाहरुख ने शुक्र ही मनाया होगा.

pollard-m1


2. क्रिस मॉरिस (17 बॉल, 27 अप्रैल 2016)

डेहली डेयरडेविल्स का गुजरात लायंस से फिरोजशाह कोटला मैदान पर मैच था. लायंस ने पहले बैटिंग करते हुए 172 रन बनाए. जवाब में दिल्ली की पारी लड़खड़ा गई. 57 रन पर 4 धुरंधर बल्लेबाज़ पवेलियन लौट चुके थे. ऐसे में ज़िम्मा उठाया इस साउथ अफ़्रीकी खिलाड़ी ने. अपनी पहली 17 गेंदों में ही 7 छक्के मार चुके थे मॉरिस. 17 गेंदों में 50 पार कर गए. हालांकि आगे चल के थोड़े स्लो हो गए. अगले 32 रन बनाने के लिए 35 गेंदें ले ली. शायद इसी सुस्ती का खामियाज़ा उनकी टीम को भुगतना पड़ा. दिल्ली वो मैच 1 रन से हार गई. मॉरिस 52 गेंदों में 82 रन बना कर नाबाद रहे.

dc-Cover-6sdo2er7855hh3hu09n7bkiu27-20160428172810.Medi


3. एडम गिलक्रिस्ट (17 बॉल, 22 मई 2009)

गिलक्रिस्ट हमेशा से बड़े मैच के खिलाड़ी रहे हैं. मुझे उम्मीद है 2003 वर्ल्ड कप फाइनल की शुरुआत कोई भी भारतीय क्रिकेट प्रेमी भूला नहीं होगा. आईपीएल में भी वो अपनी इस साख पर खरे उतरे हैं. 2009 आईपीएल का सेमी-फाइनल था. साउथ अफ्रीका के सेंचूरियन में दिल्ली डेयरडेविल्स से लड़ाई थी. टार्गेट था 154 रन. हर्शेल गिब्स के साथ ओपनिंग करने आए गिलक्रिस्ट ने मैच एकतरफा कर दिया. डर्क नैनस के एक ही ओवर में 5 चौके ठोक डाले. 17 गेंदों में अर्धशतक पूरा किया जो उस वक़्त का रिकॉर्ड था. कुल 35 गेंदे खेली और 85 रन बना गए. 10 चौके और 5 छक्कों के साथ. जब तक वो आउट हुए मैच डेक्कन चार्जर्स के कब्ज़े में आ चुका था. इसके बाद चार्जर्स ने फाइनल भी जीता.

Adam Gilchrist blasted 71 runs for the Deccan Chargers.


4. क्रिस गेल (17 बॉल, 23 अप्रैल 2013)

आतिशी बल्लेबाज़ी की लिस्ट बने और उसमें गेल का नाम ना हो, ऐसा कैसे हो सकता है! 4 साल पहले बेंगलुरु में जो तांडव उन्होंने मचाया था वो भुलाना नामुमकिन है. पुणे वॉरियर्स की टीम को दिन में तारे दिखाए थे उन्होंने. जितने रन 50 ओवर के मैच में भी काफी होते हैं, उतने 20-20 में बना दिए थे उस दिन रॉयल चैलेंजर्स ने. 263 रन. गेल ने ना सिर्फ 17 गेंदों में 50 रन मारे, बल्कि उसे 100 बल्कि 150+ में तब्दील कर दिया. 30 गेंदों में शतक मार कर एक नया रिकॉर्ड बनाया. उनका अंतिम स्कोर था 66 गेंदों में 175 रन. 13 चौके और 17 छक्के. सारे विशेषण, सारे रूपक कम पड़ जाए ऐसी अद्भुत पारी थी वो. उस दिन के बाद गेल गेल ना रहे. लिजेंड बन गए.

570259e13c2c47d1b930ccda0ee97311


5. सुरेश रैना (16 बॉल, 30 मई 2014)

एक हारे हुए मैच में इससे ज़्यादा बेहतरीन पारी शायद ही कोई और हो. 2014 का क्वालीफायर मैच था. मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में. पंजाब ने सहवाग के शतक के दम पर 226 रन बोर्ड पर टांग दिए थे. ज़ाहिर सी बात है जीत बेहद मुश्किल थी. लेकिन जब पारी की तीसरी गेंद फेस करने सुरेश रैना क्रीज़ पर उतरे, अचानक से पासा पलटता दिखाई दिया. जिस सहजता से उन्होंने पंजाब की बॉलिंग की धज्जियां उड़ाई वो अकल्पनीय था. क्रिकेट पंडित मानते हैं कि ये इनिंग पॉवर हिटिंग और बेसिक क्रिकेटिंग शॉट्स का बेहद संतुलित मुज़ाहिरा थी. रैना ने ना सिर्फ 16 गेंदों में 50 बनाए, बल्कि अगर आउट ना होते तो उस दिन गेल का फास्टेस्ट हंड्रेड का रिकॉर्ड भी शायद तोड़ डालते.

उनके आउट होने का दुःख क्रिकेट प्रेमियों को इसलिए भी सालता है कि उसमें उनकी कोई गलती नहीं थी. ब्रेंडन मैक्युलम की एक गलत कॉल पर वो रन आउट हो गए. 25 गेंदों में 87 रन बना कर. 6 छक्के और 12 चौके लगाए उन्होंने. चेन्नई सुपर किंग्स ने पावर प्ले में 100 का आंकडा छुआ. ये रिकॉर्ड अब जा के क्रिस लिन और सुनील नारायण ने तोडा है. रैना की बैटिंग की अहमियत इसी से पता चलती है कि रैना के रहते टीम ने 6 ओवर में 100 रन बनाए और उनके जाने के बाद अगले 100 रन बनाने के लिए 14 ओवर ले लिए. चेन्नई वो मैच 24 रन से हारी.

suresh-raina--csk-v-kxip-2015-ipl


6. यूसुफ़ पठान (15 बॉल, 24 मई 2014)

ये कोलकाता का आख़िरी लीग मैच था. सनराइजर्स हैदराबाद ने 161 का टार्गेट दिया था. यूं तो केकेआर प्ले-ऑफ के लिए क्वालीफाई कर गई थी, लेकिन टॉप दो में आने के लिए उसे ये टार्गेट 15.2 ओवर में हासिल करना था. इससे उन्हें एक एक्स्ट्रा मौक़ा हासिल होता फाइनल में पहुंचने का. थैंक्स टू यूसुफ़ पठान केकेआर ने 14.2 ओवर में ही बना लिए सारे रन. पठान 50 रनों तक महज़ 15 गेंदों में पहुंचे. उस वक़्त ये रिकॉर्ड था जिसकी बराबरी कल उनके ही साथी सुनील नारायण ने की. डेल स्टेन जैसे रफ़्तार के सौदागर के एक ओवर में उन्होंने 26 रन लूट लिए थे. 7 छक्कों और 5 चौकों के साथ उन्होंने 22 गेंदों में 72 रन बनाए. जिस वक़्त वो आउट हुए, तब तक केकेआर का मकसद हल हो चुका था. केकेआर ना सिर्फ टॉप टू में शामिल हुई, बल्कि उस साल भी उसने फाइनल जीतते हुए ट्रॉफी उठाई.

KKR-batsman-Yusuf-Pathan-in-action-during-the-match-between-Sunrisers-Hyderabad-and-Kolkata-Knight-Riders-1


7. सुनील नारायण (15 बॉल, 7 मई 2017)

इसके बारे में क्या लिखें! ये तो सबके ज़हन में अभी भी ताज़ा है. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ़ सुनील नारायण और क्रिस लिन ने दो-दो इतिहास रचे थे. एक तो 15 गेंदों में पचासा जड़ कर सुनील नारायण सबसे तेज़ अर्धशतक के मामले में टॉप पर काबिज़ हो गए. इसके अलावा उन्होंने आईपीएल के इतिहास में पावर-प्ले में सबसे ज़्यादा रन बना डाले. 6 ओवर में 105. सुन के ही दिमाग चकराता है. धूम-धड़ाके की शुरुआत तो क्रिस ने की, लेकिन सुनील जल्दी ही उन्हें ओवरटेक कर गए. अपने दोस्त सैम्युएल बद्री पर दूसरी बार कहर बन कर टूटे. उनके एक ओवर में 25 रन ले गए. 6,6,6,4,2,1. जब तक सुनील और अगले ओवर में क्रिस आउट हुए, मैच आरसीबी के हाथ से निकल चुका था. आगे तो महज़ औपचारिकता थी.

vivo-ipl-2017-m46-rcb-v-kkr_10824e54-3327-11e7-aae9-524ad91d2809


ये भी पढ़ें:

राहुल द्रविड़ ने जिसे बॉलिंग पर ध्यान देने को कहा, अब वो लड़का अश्विन की जगह खेलेगा

शहीदों को सम्मान देना है तो गौतम गंभीर से सीखिए मनोज तिवारी जी

जब जडेजा ने कोहली की टीम के ताबूत में आखिरी कील ठोंक दी

एक लीटर पानी के लिए कोहली जितना खर्च करते हैं, उतने में 8 लीटर पेट्रोल आ जाए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार ने बताया, दूसरे आर्थिक पैकेज में क्या मिलेगा

चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर कृष्णमूर्ति सुब्रह्मण्यम ने कोरोना संकट से निकलने का प्लान बताया.

विशाखापटनम में कंपनी से जहरीली गैस के रिसाव के बाद कैसे थे हालात, तस्वीरों में देखिए

अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है. हजारों लोग प्रभावित हुए हैं.

छह अस्पतालों ने इलाज करने से मना कर दिया, आठ दिन की बच्ची मौत हो गई

आगरा में 15 दिन में तीन ऐसे मामले देखे गए हैं, जब हॉस्पिटल ने इलाज करने से मना कर दिया.

इटली का दावा, कोरोना वायरस की वैक्सीन मिल गयी

चूहों से इंसानों तक वैक्सीन का सफ़र

इन राज्यों में शराब की होम डिलीवरी कैसे होगी, क्या हैं नियम और तरीके?

शराबियों ने सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ी, तो सरकार ने यह तरीका निकाला है.

हॉस्पिटल ने कह दिया कि दाढ़ी कटवाओ, अब डॉक्टर प्रोटेस्ट कर रहे हैं

काम से हटाए जाने के बाद ये लोग विरोध कर रहे हैं.

क्या कोरोना मरीजों से प्राइवेट अस्पताल मोटी फीस वसूल रहे हैं?

मुंबई से ऐसे कई मामले आए हैं.

पूरी दुनिया में पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा टैक्स भारत में लिया जा रहा है

इस मामले में भारत ने फ्रांस और जर्मनी को पीछे छोड़ दिया है.

इज़रायल का दावा, कोरोना की दवा मिल गयी!

बस बड़े लेवल पर निर्माण का इंतज़ार.

कोरोनावायरस : आंकड़े की जांच हुई तो पश्चिम बंगाल का सच सामने आ गया!

पश्चिम बंगाल का कोरोना से जुड़ी मौतों का आंकड़ा छिपा रहा है?