Submit your post

Follow Us

कोलकाता: कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट को निगेटिव बताया, चार दिन बाद मौत हो गई

कोलकाता में एक व्यक्ति से कोरोना वायरस की फर्जी रिपोर्ट के जरिए धोखाधड़ी की गई. इस धोखाधड़ी के चलते व्यक्ति की मौत हो गई, क्योंकि उसे समय पर इलाज नहीं मिल सका. यह घटना 30 जुलाई की है. कोलकाता पुलिस ने मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस पता लगा रही है कि शहर में इस तरह का कोई रैकेट तो नहीं चल रहा.

25 जुलाई को टेस्ट, 26 को नेगेटिव बताया

हिंदुस्तान टाइम्स की ख़बर के अनुसार, पेशे से बैंक मैनेजर एक व्यक्ति को बुखार, खांसी और जुकाम हुई. फैमिली डॉक्टर ने कोरोना जांच कराने को कहा. साथ ही लैब चलाने वाले एक व्यक्ति की जानकारी भी दी. मैनेजर की हालत काफी खराब थी. इसलिए टेस्ट के लिए सैंपल लेने के लिए घर पर ही आदमी बुलाया गया. पुलिस ने बताया कि 25 जुलाई को सैंपल लिया गया. एक दिन बाद यानी 26 जुलाई को घरवालों को टेस्ट रिजल्ट बताया गया. कहा कि कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया है. टेस्ट की रिपोर्ट भी दे दी गई.वॉट्सऐप पर भी मैसेज भेज दिया गया.

तबीयत बिगड़ी तो अस्पताल ले गए, रिपोर्ट फर्जी निकली

लेकिन तबीयत बिगड़ने पर बैंक मैनेजर को प्राइवेट नर्सिंग होम में ले जाया गया. यहां से डॉक्टरों ने उन्हें एमआर बांगड़ अस्पताल में रेफर कर दिया. बांगड़ अस्पताल सरकार की ओर से कोरोना के इलाज के लिए डेजिगनेटेड अस्पताल है. यहां पर डॉक्टरों को कोरोना टेस्ट रिपोर्ट में गड़बड़ी नज़र आई. उन्होंने परिवार को बताया कि यह रिपोर्ट फर्जी है.

रिपोर्ट फर्जी है, यह कैसे पता चला?

बांगड़ अस्पताल के एक डॉक्टर ने बताया कि रिपोर्ट पर हाथ से सैंपल आईडी नंबर लिखा था. इसमें नौ संख्या थीं. जबकि ऑरिजनल रिपोर्ट प्रिंटेड होती है और उसमें 13 संख्याएं आती हैं.

30 जुलाई को हो गई मौत

मृतक के बेटे ने बताया कि बांगड़ अस्पताल में दोबारा कोरोना जांच की गई. यहां पर रिपोर्ट पॉजिटिव आई. लेकिन 30 जुलाई को उसके पिता की मौत हो गई.पहली रिपोर्ट नेगेटिव बताए जाने के चलते काफी समय खराब हो गया. ऐसे में सही समय पर इलाज न मिलने की वजह से उसके पिता को नहीं बचाया जा सका.

तीन में से दो आरोपी सरकारी अस्पताल के कॉन्ट्रेक्टेड कर्मचारी

नेताजी नगर थाने के इंचार्ज सुभाण अधिकारी ने बताया कि वॉट्सऐप नंबर के जरिए फर्जी रिपोर्ट देने वाले आरोपियों को पकड़ा गया. आरोपियों की पहचान इंद्रजीत सिकदर, बिस्वजीत सिकदर और अनीत पायरा के रूप में हुई. इंद्रजीत और बिस्वजीत भाई हैं. ये दोनों कॉन्ट्रेक्ट पर सरकारी अस्पताल में काम करते थे. इन दोनों ने मृतक के परिवार को बताया कि वे एक बड़ी लैब से जुड़े हुए हैं. लेकिन जांच में खुलासा हुआ कि दोनों ने झूठ बोला. वहीं अनीत खुद की लैब चलाता था. तीनों ने मिलकर फर्जी रिपोर्ट तैयार की. इस पर एक मशहूर लैब का नाम था, तो पहली नज़र में शक भी नहीं हुआ.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: झारखंड के गोड्डा से बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे की एमबीए की डिग्री फर्जी है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी की कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण की कोरोना से मौत

लखनऊ PGI में ली अंतिम सांस.

ईरान ने समुद्री डाकुओं को रिहा किया और 11 भारतीय नाविकों को तस्कर बताकर जेल में डाल दिया!

ढाई महीने हो गए, कहीं कोई खोज ख़बर नहीं.

सुशांत सिंह राजपूत के पिता ने रिया चक्रवर्ती के ख़िलाफ FIR दर्ज़ करवाई

सुशांत ने 14 जून को सुसाइड कर लिया था.

अयोध्या में 5 अगस्त के भूमि पूजन को लेकर क्या-क्या तैयारियां चल रही हैं

रामलला की पोशाक से लेकर अयोध्या में रंग-रोगन तक की सारी बातें.

कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को हड़काया, दिल्ली दंगे में पिंजरा तोड़ पर ऐसी बयानबाज़ी क्यों?

पुलिस ने क्या जवाब दिया, वो भी देखिए.

जिस मेट्रो स्टेशन के नीचे दंगे हुए, 5 महीने बाद भी दिल्ली पुलिस ने वहां से CCTV फ़ुटेज नहीं निकाली!

कोर्ट ने कहा, 'पुलिस में अजीब-सी सुस्ती है वीडियो फ़ुटेज को लेकर'

मास्क बांटने के बहाने बच्चे को किडनैप किया, चार करोड़ मांगे, पुलिस ने 24 घंटे में पकड़ लिया

यूपी के गोंडा का मामला, पांच आरोपी भी गिरफ्तार.

चुनाव आयोग ने बीजेपी IT सेल से जुड़ी कंपनी से चुनावी कामधाम करवाया!

ये कम्पनी पूर्व महाराष्ट्र सरकार और दूसरे सरकारी विभागों का भी काम देख रही थी.

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन का दाम पता चल गया है, लेकिन पैसे आपको नहीं देने होंगे!

क्या कहा बनाने वाले आदर पूनावाला ने?

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?