Submit your post

Follow Us

30 घंटे तक महिला के सीने में घुसा रहा छह इंच लंबा चाकू, फिर भी बच गई जान

तमिलनाडु का कृष्णागिरी ज़िला. यहां 25 मई को 40 बरस की एक महिला पर जानलेवा हमला हुआ था. उसके घर में ही उसके एक पहचान वाले ने सीने पर चाकू से हमला किया था. महिला के सीने पर 30 घंटे तक चाकू चुभा रहा, लेकिन गनीमत रही कि डॉक्टर्स के सफल ऑपरेशन ने महिला की जान बचा ली.

‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्टर शालिनी लोबो ने घटना के बारे में जानकारी दी. बताया कि कोयंबटूर मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने महिला की सर्जरी की. महिला के घरवाले घटना के तुरंत बाद उसे सालेम के सरकारी अस्पताल लेकर गए थे, जहां से उसे कोयंबटूर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया था.

उन्होंने बताया कि चाकू छह इंच से ज्यादा लंबा था, हालांकि, चाकू से फेफड़ों के ही कुछ हिस्सों को चोट पहुंची थी, चाकू की नोक महिला के दिल तक नहीं पहुंच पाई थी. कोयंबटूर हॉस्पिटल के कार्डियोथोरेसिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉक्टर ई. श्रीनिवासन और अनेस्थिसियोलॉजी के हेड डॉक्टर जयशंकर नारायण ने मिलकर इस ऑपरेशन को लीड किया. सर्जरी के कुछ दिन बाद महिला को अस्पताल से डिस्चार्ज भी कर दिया गया, अभी वो खतरे से बाहर है.


वीडियो देखें: मीटिंग का हवाला देकर 14 साल के बच्चे को घर से जंगल ले गए, फिर हत्या कर शव के टुकड़े कर दिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.

सुशांत के पिता और उनके विधायक भाई ने डिप्रेशन को लेकर क्या कहा?

फाइनेंशियल दिक्कत की ख़बरों पर भी बोले.

मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत को दी गई अंतिम विदाई, ये हस्तियां हुईं शामिल

मुंबई में तेज बारिश के बीच अंतिम संस्कार.

सुशांत ने किस दोस्त को आख़िरी कॉल किया था?

दोस्त फोन रिसीव न कर सका. जब तक कॉल बैक किया, देर हो चुकी थी.