Submit your post

Follow Us

बिहार में हार के बाद कपिल सिब्बल ने कांग्रेस आलाकमान पर बड़ी बात कह दी

कांग्रेस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. पार्टी के नेता नेतृत्व पर सवाल उठाते रहे हैं. इस बार कांग्रेस के सीनियर लीडर कपिल सिब्बल ने पार्टी नेतृत्व पर सवाल खड़े किए हैं.

बिहार चुनाव के बाद फिर उठे कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल

RJD के सीनियर नेता शिवानंद तिवारी ने 15 नवंबर को महागठबंधन की हार के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा दिया. गठबंधन के नेताओं के अलावा कांग्रेस के नेता भी नाराज हैं और कांग्रेस को आत्ममंथन करने की सलाह दे रहे हैं. जिन 29 नेताओं ने पहले कांग्रेस को आत्ममंथन की चिट्ठी लिखी थी उनमें से एक कपिल सिब्बल ने फिर यह सलाह कांग्रेस को दे दी है. इस बार उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में यह बात कही. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस हाईकमान को आत्ममंथन करने की जरूरत है.

कपिल सिब्बल ने ट्वीट करके ट्वीट हटा भी लिया.
कपिल सिब्बल ने अपने इंटरव्यू को ट्वीट भी किया.

‘देश के लोगों ने कांग्रेस को नकार दिया है’

इंटरव्यू में कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा,

हममें से कुछ लोगों ने बाकायदा औपचारिक तरीके से बताया कि कांग्रस में क्या किया जाना चाहिए और आगे का रास्ता क्या है. हमें सुनने के बजाय उन्होंने हमसे मुंह फेर लिया है. परिणाम हमारे सामने है. न सिर्फ बिहार में, बल्कि जहां भी उपचुनाव हुए, लोग जाहिर तौर पर कांग्रेस को एक प्रभावी विकल्प नहीं मानते. बिहार में विकल्प आरजेडी ही था. हम गुजरात में सभी उपचुनाव हार गए. लोकसभा चुनाव में भी हमने वहां एक भी सीट नहीं जीती थी. यूपी की कई सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों को दो फीसदी से कम वोट मिले हैं. मुझे उम्मीद हैं कि कांग्रेस आत्ममंथन करेगी. अगर छह साल तक कांग्रेस ने आत्ममंथन नहीं किया है तो हमें इससे क्या उम्मीद है? हमें पता है कि कांग्रेस का क्या कसूर है. संगठनात्मक रूप से हम जानते हैं कि क्या गलत है. मुझे लगता है कि हमारे पास सभी जवाब हैं. कांग्रेस पार्टी खुद ही सारे जवाब जानती है, लेकिन वे यह जवाब नहीं देना चाहती. जब तक आत्ममंथन नहीं किया जाएगा, तब तक कांग्रेस के ग्राफ में गिरावट जारी रहेगी.

कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्लूसी) पर कपिल सिब्बल बोले,

सीडब्लूसी (पार्टी की सर्वोच्च संस्था) में भी लोकतांत्रिक प्रक्रिया को अपनाना चाहिए. इसे पार्टी के संविधान की तरह सीडब्यूसी के संविधान का महत्वपूर्ण हिस्सा भी होना चाहिए. आप नामांकित सदस्यों से यह उम्मीद नहीं कर सकते हैं कि वो सवाल उठाएंगे.

कांग्रेस नेतृत्व में सवाल उठाते हुए चिट्ठी लिखे जाने पर कपिल सिब्बल ने कहा,

नेतृत्व द्वारा बातचीत के लिए कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है, इसलिए मैं उन्हें सार्वजनिक रूप से व्यक्त करने के लिए विवश हूं. मैं एक कांग्रेसी हूं और एक कांग्रेसी रहूंगा और आशा करता हूं कि कांग्रेस फिर से खड़ी हो और राष्ट्र निर्माण को लेकर अपने मूल्यों को आगे बढ़ाए. सबसे पहले हम कांग्रेसियों को यह समझना चाहिए कि हम गिरावट में हैं. जब से संचार क्रांति हुई है, तब से चुनाव प्रेसिडेंशियल चुनाव के रूप में बदल गया. चुनाव के इस प्रेसिडेंशियल रूप में हमें जवाब खोजना होगा और फिर तय करना होगा कि हमें क्या करना है. यदि हम अपनी कमियों को पहचान नहीं पा रहे हैं, तो भी चुनावी प्रक्रिया से वांछित परिणाम नहीं मिलेंगे. हमारी बात सुनने के बजाय उन्होंने हम पर पलटवार किया.

कार्ती चिदंबरम भी दिया समर्थन

अपने इंटरव्यू को कपिल सिब्बल ने ट्वीट किया. उनकी बातों का समर्थन करते हुए कांग्रेस के सीनियर नेता पी. चिंदबरम के सांसद बेटे कार्ति चितंबरम ने रीट्वीट किया और लिखा

यही वक्त है कि हम आत्ममंथन, विचार,  परामर्श करें और कदम उठाएं.

कांग्रेस में लगातार पार्टी नेतृत्व को लेकर सवाल खड़े होते रहे हैं. इससे पहले भी 29 कांग्रेसी नेताओं ने पार्टी को आत्ममंथन की सलाह दी थी. उसका परिणाम यह हुआ था कि कुछ नेताओं को महत्वपूर्ण पदों से हटा दिया गया था और कुछ को बाहर का रास्ता दिखाया गया था.


वीडियो – कपिल सिब्बल, राहुल गांधी पर बिफरे, फिर ट्वीट डिलीट कर दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गुजरात : सूरत BJP के उप जिलाध्यक्ष के यहां इनकम टैक्स का छापा, फ़्रॉड और धोखाधड़ी का केस दर्ज

अधिकारियों के खिलाफ़ ट्वीट, आयकर विभाग का छापा और मुक़दमा.

ऑस्ट्रेलिया दौरे की टीम में बहुत बड़ा बदलाव

रोहित आए, लेकिन विराट का क्या हुआ?

US प्रेजिडेंट की कुर्सी के करीब बाइडेन, ट्रंप पहुंचे कोर्ट ...पर ट्विस्ट कभी भी आ सकता है

अब साफ हो रही थोड़ी तस्वीर.

मथुरा के मंदिर में नमाज पढ़ने पर हंगामा हुआ तो पुलिस ने दिल्ली से किया गिरफ्तार

मंदिर में नमाज पढ़ने पर क्या कहा, ये भी जान लीजिए

तुर्की और ग्रीस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, 19 की मौत, 700 से अधिक घायल

इस भूकंप के कारण सुनामी भी आई.

कॉलेज से लौटती लड़की को सरेआम गोली मारी, परिवार ने 'लव जिहाद' का आरोप लगाया

दोनों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं.

ऑस्ट्रेलिया टूर की टीम से क्यों बाहर हुए रोहित शर्मा?

अनाउंस हुई टीम इंडिया, मिला नया उपकप्तान.

कोयला घोटालाः अटल सरकार में मंत्री रहे दिलीप रे को तीन साल की जेल हो गई है

मामला 21 साल पुराना है.

क्या कहता है बिहार का पहला ओपिनियन पोल: NDA को मिलेगा बहुमत? नीतीश फिर बनेंगे सीएम?

लोकनीति और CSDS के ओपिनियन पोल की बड़ी बातें एक नजर में.

बिहार चुनाव में जितने उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस हैं, उससे ज्यादा तो करोड़पति हैं

आपराधिक छवि वालों की इतनी तादाद से साफ है कि दलों को लगता है, 'दाग' अच्छे हैं