Submit your post

Follow Us

UP: डॉक्टर का ड्राइवर बुर्का पहनकर महिला वार्ड में घुसा, लोगों ने घेरा तो पुलिस ने बचाया

कानपुर के जिला अस्पताल में एक अजब वाकया हुआ. यहां के जिला महिला अस्पताल के लेडीज वॉर्ड में महिलाओं ने देखा कि बुर्का पहने कोई टहल रहा है. उसकी चाल ढाल अलग थी. उसके पैरों की तरफ देखा तो माजरा समझ आया. वह एक आदमी था, जो बुर्का पहनकर अस्पताल में घूम रहा था. उसे देखकर सब हैरत में पड़ गए. अस्पताल स्टाफ भी आ गया. उसे पकड़कर पुलिस को सौंप दिया गया. पुलिस को जब उसने अपनी कहानी बताई तो वो भी हैरान है.

डॉक्टर के ड्राइवर का कारनामा!

अकबरपुर कम्युनिटी हेल्थ सेंटर (CHC) में एक डॉक्टर हैं. आरोपी रईश उन्हीं का ड्राइवर बताया जा रहा है. वह कानपुर के चमनगंज का रहने वाला है. आजतक के रंजय सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला डॉक्टर बुधवार 8 सितंबर को ड्यूटी पर थीं. रईश कथित तौर पर उन्हें कार से छोड़ने आया था. कार खड़ी करने के बाद रईश बुर्का पहनकर अस्पताल में घूमने लगा. फिर महिला अस्पताल में टहलने लगा. महिला वार्ड में घुस गया. वहां कुछ महिलाओं ने उसे देखा तो शक हुआ. उसकी चाल ढाल अलग थी. उन्होंने शोर मचा दिया. स्टाफ को उसके बारे में बताया. लोग जमा हो गए. उसे पीटने के लिए दौड़े. हंगामा देखकर पुलिस वहां आ गई. पुलिसकर्मियों ने जैसे तैसे युवक को वहां से बचाया.

जिस लेडीज वार्ड में ये हंगामा हुआ, उसके पास ही सखी सेंटर है. इसकी संचालक निधि सचान और सहायक श्रेया शुक्ला हैं. अमर उजाला के मुताबिक, इन्होंने बुर्का पहने युवक की चाल ढाल देखी तो संदेह हुआ. दोनों ने उसके पास जाकर पूछने की कोशिश की. इस पर युवक इमरजेंसी वार्ड में घुस गया. वहां पकड़ने की कोशिश की गई तो वह भागने लगा. बाउंड्रीवाल फांदने की कोशिश करने लगा. इसी दौरान शोरगुल सुनकर कर्मचारियों ने उसे पकड़ लिया.

लेडीज अंडरगारमेंट भी पहन रखे थे!

पुलिस ने रईश को हिरासत में ले लिया. उसे कोतवाली ले लाकर पूछताछ की जा रही है. दावा किया जा रहा है कि उसने सिर्फ बुर्का ही नहीं पहना था, वह महिलाओं के अंडरगारमेंट भी पहने हुए था. रईश ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वह एक साल से डॉक्टर की कार चला रहा है. हालांकि पुलिस इसकी छानबीन कर रही है.

अकबरपुर के सीओ अरुण कुमार सिंह ने बताया कि

युवक पूछताछ में अपना पता बार-बार बदल रहा है. फोन पर उसके परिजनों से बातचीत हुई है. उन्होंने युवक के सिरफिरा होने की जानकारी दी है. लेकिन मामले की गंभीरता से छानबीन की जा रही है.

सखी सेंटर की संचालक निधि सचान ने बताया कि जिला महिला अस्पताल में युवक के पकड़े जाने के बाद महिला डॉक्टर ने लोगों से सवाल शुरू कर दिए. डॉक्टर महिलाओं से पूछने लगीं कि युवक ने किसी से कोई अभद्रता तो नहीं की.

आरोपी का दावा, टॉयलेट जाना था

बुर्का क्यों पहना, इसे लेकर रईश ने सफाई दी. उसने कहा कि

जिला अस्पताल में गलती से महिलाओं के कपड़े पहनकर टॉयलेट के लिए चला गया था. कुर्ता और सलवार पहनकर आया था डॉक्टर को लेकर. मांइड काम नहीं किया. टॉयलेट के लिए जाना था तो ऊपर से बुर्का डाल लिया. वहां महिला ने देख लिया था कि मैं जेंट्स हूं, इसलिए वापस अपनी गाड़ी की तरफ आ रहा था. तभी ये सब हो गया.

रईश ने इस बात से इनकार किया कि लोगों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले किया था. उसका दावा कि है वह खुद वहां कॉन्स्टेबल के पास गया था. वह कुछ बहकी-बहकी बात भी कर रहा था. उसने कहा कि शैतान ने हमें बहका दिया था तो ये हो गया. हम ऐसी गलती कभी नहीं करते.


सोशल लिस्ट: फिर वायरल हुआ कड़ाही में बैठे बच्चे का वीडियो, जनता ने खेल पकड़ लिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

रविवार 3 अक्टूबर की शाम से यहां कर्फ्यू लगा है.

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

ब्रिटेन की अदालतों में इन दोनों ने अपनी आय शून्य बताई थी.