Submit your post

Follow Us

ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर ने ही ट्रैफिक रूल तोड़ा, ऊपर वाले अर्थात CCTV ने सब देख लिया

197
शेयर्स

ट्रैफिक नियमों में हाल ही में काफी बदलाव हुए. पेनॉल्टी अमाउंट में भी बढ़ा दिए गए. जिससे लोग नियमों का पालन करें, और रूल्स ब्रेक न करें. पर यहां तो खुद ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर ने ही ट्रैफिक रूल्स ब्रेक कर दिया. हालांकि वो बचे नहीं, ट्रैफिक पुलिस ने उन पर 100 रुपए का जुर्माना लगा दिया, जिसे उन्होंने दे भी दिया.

झारखंड के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर हैं सीपी सिंह. इन्होंने ट्रैफिक रूल्स ब्रेक कर दिया, जिसका अब इन्हें जुर्माना देना पड़ा. सीपी सिंह अपनी गाड़ी में 23 जून को सर्जना चौक से गुजर रहे थे. सिग्नल रेड था, यानी उन्हें अपनी गाड़ी रोकनी थी. पर उनकी गाड़ी वहां से निकल गई. कहते हैं न ऊपर वाला सब देख रहा है. तो ठीक वैसे ही उस चौक में लगे सीसीटीवी में ये वाकया कैद हो गया.

ट्रांस्पोर्ट मिनिस्टर सीपी सिंह को ट्रैफिक पुलिस की ओर से भेजे गए चालान की कॉपी.
ट्रांस्पोर्ट मिनिस्टर सीपी सिंह को ट्रैफिक पुलिस की ओर से भेजे गए चालान की कॉपी.

इसके बाद ट्रैफिक पुलिस ने ऑटोमैटिक नंबर प्लेट रीडर के तहत चालान तैयार किया. फिर उसे कैबिनेट को-ऑर्डिनेशन कमेटी के पास भेज दिया. इन सब के बाद चालान सीपी सिंह के पास पहुंचा. तो बुधवार यानी 28 अगस्त को उन्हें 100 रुपए जुर्माना के तौर पर देना पड़ा. ये मामला सामने तब आया, जब उनका ड्राइवर जुर्माना भरने के लिए ऑफिस पहुंचा.

ट्रांस्पोर्ट मिनिस्टर सीपी सिंह को ट्रैफिक पुलिस की ओर से भेजे गए चालान की कॉपी.
      ट्रांस्पोर्ट मिनिस्टर सीपी सिंह को ट्रैफिक पुलिस की ओर से भेजे गए चालान की कॉपी.

वहीं सीपी सिंह ने कहा है कि उन्होंने फाइन दिया है. उनका कहना है कि अगर हम चाहते हैं कि लोग नियम फॉलो करें, तो पहले हमें सख्ती से फॉलो करना होगा. उन्होंने बताया कि वो खुद अपनी गाड़ी इस्तेमाल नहीं करते हैं, जिससे उनकी गाड़ी वीआईपी के तौर न पहचानी जा सके. और तो और, उन्हें सुरक्षा मिली है, पर वो उसका भी इस्तेमाल नहीं करते हैं.

झारखंड ट्रैफिक पुलिस अब सीधे लोगों के घर पर चालान भेज रही है. सीपी सिंह पहले कोई वीआईपी पर्सन नहीं हैं, जिन्हें चालान भेजा गया हो. इसके पहले रांची ट्रैफिक पुलिस ने क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी को भी जुर्माना भेज चुकी है.

पहले भी सीपी सिंह चर्चा में थे. जब उन्होंने कांग्रेस के विधायक इरफान अंसारी को ‘जय श्री राम’ कहने के लिए फोर्स किया था. इसके बाद इनकी काफी आलोचना भी हुई थी.


वीडियो देखें : प्री-वेडिंग फोटोशूट में ‘रिश्वत’ ले रहे थे थानेदार जी, नप गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

किसका डर है कि अयोध्या मसले में सुन्नी वक्फ बोर्ड रिव्यू पिटीशन नहीं फ़ाइल कर रहा?

चेयरमैन के ऊपर दो-दो केस!

डूबते टेलीकॉम को बचाने के लिए सरकार 42 हज़ार करोड़ की लाइफलाइन लेकर आई है

तो क्या वोडाफोन आईडिया और एयरटेल बंद नहीं होने वाले हैं?

मालेगांव बम ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर देश की रक्षा करने जा रही हैं

रक्षा मंत्रालय की कमेटी में शामिल होंगी.

IIT गुवाहाटी के छात्र एक प्रोफेसर के लिए क्यों लड़ रहे हैं?

प्रोफेसर बीके राय लंबे समय से करप्शन के खिलाफ जंग छेड़े हुए हैं.

आर्टिकल 370 हटने के बाद कश्मीर में पत्थरबाजी कम हुई या बढ़ी?

राज्यसभा में सरकार ने आंकड़े बताए हैं.

फोन कंपनियां ये किस बात के लिए हम लोगों से पैसा लेने जा रही हैं?

कॉल और डाटा का पैसा बढ़ने वाला है, पढ़ लो!

BHU के मुस्लिम टीचर के पिता ने कहा, 'बेटे को संस्कृत पढ़ाने से अच्छा था, मुर्गे बेचने की दुकान खुलवा देता'

बीएचयू में मुस्लिम टीचर की नियुक्ति पर बवाल!

बरसों से इंडिया का मित्र राष्ट्र रहा नेपाल क्या अब ज़मीन को लेकर कसमसा रहा है?

'कालापानी' को लेकर उत्तराखंड के CM टीएस रावत चिंता में हैं या गुस्से में, कहना मुश्किल है.

सरकार Facebook से यूजर्स की जानकारी मांग रही है

2 साल में तीन गुनी हुई इमरजेंसी रिक्वेस्ट्स की संख्या.

पुनर्विचार की सभी याचिकाएं खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल को हरी झंडी दी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रफ़ाल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खूब घेरा था.