Submit your post

Follow Us

इशांत ने बुमराह के बॉलिंग एक्शन की जो मजाक उड़ाई, वो लोटपोट करने वाली है

809
शेयर्स

इशांत शर्मा. दिल्ली का वो लड़का जिसने 18 साल की उम्र में इंडिया के लिए डेब्यू किया था. पतला दुबला और असाधारण लंबाई वाला ये बॉलर ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बॉलरों को टक्कर देता था. 2007 में इंडिया के बांग्लादेश दौरे के लिए इन्हें टेस्ट टीम में शामिल किया गया और तब से आज तक इशांत 90 टेस्ट, 80 वनडे और 14 टी20 इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं. हाल ही में मशहूर शो ‘ब्रेकफस्ट विद चैंपियंस’ में गौरव कपूर ने इशांत का एक मजेदार इंटरव्यू किया है. उसमें इशांत का अलग ही रूप दिखा है. कई मजेदार बातें और किस्से शेयर किए हैं.

इनमें से एक है जसप्रीत बुमराह के बॉलिंग एक्शन को स्कूटर स्टार्ट करने जैसा बताना. इशांत बड़े ही मजेदार तरीके से बताते हैं कि बुमराह स्कूटर स्टार्ट करते हुए बॉलिंग करते हैं और 150 तक स्पीड फेंक जाते हैं. अपने करियर की शुरुआत के बारे में इशांत ने बताया है कि वो 18 साल के थे और उन्हें क्रिकेट का इतना एक्सपोजर नहीं था. पहली मैच खेलने पहुंचे तो किटबैग खो गया. उस वक्त जहीर खान टीम में थे और उनके जूते पहन कर पहला मैच खेला. ऑस्ट्रेलिया में 2008 में पहली बार मैच ऑफ द सीरीज अवॉर्ड दिया गया तो इशांत दुखी हो गए कि यार मैन ऑफ द मैच नहीं मिला, ये पता नहीं कौन सा अवॉर्ड है. “मुझे पता ही नहीं था कि मैन ऑफ दी सीरीज भी कोई अवॉर्ड होता है, हमने तो मैन ऑफ द मैच ही सुना था.”

शो यहां मौजूद है

इसके अलावा इशांत ने ये भी बताया कि कैसे वो और विराट कोहली जूनियर क्रिकेट साथ खेलते थे और उन्हें उस दौरान 150 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से डीए (डेल्ही अलाउंस) मिलता था. साथ ही इशांत ने एक दिलचस्प किस्सा अपने पिता विजय शर्मा का भी बताया कि वो एयर कंडीशनर ठीक करने का काम करते थे और वो सिर पर रखकर 5 मंजिल तक 1.5-2 टन का एसी ले जाते थे. इशांत बोले,” नया नया टीम में आया था. पैसा मिलना शुरू हुआ तो एक दिन मॉल चला गया. वहां मैंने 42 हजार के स्पीकर्स ले लिए. 30 हजार खुद दे आया और बाकी डिलिवरी के टाइम पापा को देने थे. मगर जब पापा को पता चला कि मैंने 42 हजार के स्पीकर्स ले लिए तो वो मम्मी से बोले- मैं सोच रहा था कि एक स्कूटर ले लूंगा, इसने तो 42 हजार स्पीकर्स में ही खर्च कर दिए.” साथ ही इशांत ये भी कहते हैं कि जब मैं बाहर गया था और पापा को कॉल किया कि आपके लिए क्या लाऊं, तो वो बोले थे- एक रेनकोट ले आना. मैं हंस हंस के पागल हो गया कि रेनकोट कौन मंगवाता है.

इस बीच इशांत ने आखिर में एक बड़ी जरूरी बात कही. कहा,” हमारे देश में कितनी बड़ी तादाद में लोग क्रिकेट खेलते हैं. उनमें से सिर्फ 15 सलेक्ट होते हैं. इसलिए क्रिकेट के साथ पढ़ाई करनी भी जरूरी है क्योंकि जरूरी नहीं कि हर कोई ऊपर तक पहुंचे. मैंने ऐसे कितने ही लोग देखे हैं जिन्होंने अच्छा क्रिकेट खेला मगर बाद में जब कहीं मौका नहीं मिला तो 200 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से क्रिकेट की ट्यूशन भी दी है. लक भी होता है, जिनके साथ लक साथ नहीं होता, उनके लिए पढ़ाई बड़ी काम आती है. तमाम रणजी प्लेयर्स बहुत स्ट्रगल करते हैं.”


लल्लनटॉप वीडियो भी देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अयोध्या में बाबरी मस्जिद को बाबर ने बनवाया ही नहीं?

ये बात सुनकर मुग़लों की बीच मार हो गयी होती.

पेरू में लगभग 250 बच्चों की बलि चढ़ा दी गयी और लाशें अब जाकर मिली हैं

खुदाई करने वालों ने जो कहा वो तो बहुत भयानक है

देश के आधे पुलिसवाले मानकर बैठे हैं कि मुसलमान अपराधी होते ही हैं

पुलिसवाले और क्या सोचते हैं, ये सर्वे पढ़ लो

वो आदमी, जिसने पद्म श्री, पद्म भूषण और पद्म विभूषण ठुकरा दिया था

उस्ताद विलायत ख़ान का सितार और उनकी बातें.

विधानसभा में पॉर्न देखते पकड़ाए थे, BJP ने उपमुख्यमंत्री बना दिया

और BJP ने देश में पॉर्न पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

आईफोन होने से इतनी बड़ी दिक्कत आएगी, ब्रिटेन में रहने वालों ने नहीं सोचा होगा

मामला ब्रेग्जिट से जुड़ा है. लोग फॉर्म नहीं भर पा रहे.

पूर्व CBI जज ने कहा, ज़मानत के लिए भाजपा नेता ने की थी 40 करोड़ की पेशकश

और अब भाजपा के "कुबेर" गहरा फंस चुके हैं.

आशीर्वाद मांगने पहुंचे खट्टर, आदमी ने खुद को आग लगा ली

दो बार मुख्यमंत्री से मिला, फिर भी नहीं लगी नौकरी.

नेटफ्लिक्स पर आने वाली शाहरुख़ की 'बार्ड ऑफ़ ब्लड' में कश्मीर क्यूं खचेर रहा है पाकिस्तान?

पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता के बयान पर सोशल मीडिया कहने लगा 'पीछे तो देखो'.

केरल बाढ़ के हीरो आईएएस कन्नन गोपीनाथन ने कश्मीर मसले पर नौकरी छोड़ते हुए ये बातें कही हैं

नौकरी छोड़ दी. अब न कोई सेविंग्स है, न ही रहने को अपना ख़ुद का घर.