Submit your post

Follow Us

कोरोना से हुई मौत का डेटा छिपा रही खट्टर सरकार?

कोरोना वायरस से देश का बुरा हाल है. केंद्र सरकार सहित कई राज्य सरकारों पर आरोप लग रहे हैं कि कोरोना से संबंधित डेटा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. देश में जगहों से ऐसी रिपोर्ट्स आई हैं जिनमें श्मशान के आंकड़ों और कोविड से हुई मौत के आंकड़ों में हेरफेर देखा गया. ताज़ा मामला हरियाणा से है. आइए जानते हैं कोरोना से संबंधित किस डेटा को लेकर हरियाणा से झोल की रिपोर्ट आ रही है.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट मुताबिक़, हरियाणा सरकार द्वारा जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन में कोविड से हुई मौत के आंकड़े श्मशान के डेटा से नहीं मिल रहे.  हरियाणा में नए श्मशान घाटों के निर्माण और जलाने के लिए लकड़ियों की कमी से पता चलता है कि राज्य में कोविड से मरने वाले लोगों की संख्या लगतार बढ़ रही है. लेकिन सरकार इस पर कुछ और दी दलील देती दिख रही है.

1350 मौतों को सरकार ने 112 में समेट दिया?

हरियाणा सरकार द्वारा साझा किए जा रहे आंकड़े, राज्य में कोरोना वायरस से हो रही मौतों के आंकड़ों से मेल नहीं खाते. लेकिन कैसे? इसे एक उदाहरण से समझिए. 17 मई को पंचकूला से जारी मीडिया बुलेटिन में आठ मौतों का दावा किया गया था, लेकिन इंडिया टुडे को अपनी जांच में 11 मौतों का पता चला. ये कोरोना से हो रही मौतों के लिए नामित सेक्टर 28 के कोविड श्मशान घाट का आंकड़ा है. यहां पिछले हफ्ते अधिकारियों ने शवों को श्मशान में लेना बंद कर दिया था, क्योंकि वह भरे हुए थे और 7 शव अंतिम संस्कार की प्रतीक्षा में थे.

गुरुग्राम की बात करें तो अप्रैल के महीने में मीडिया बुलेटिन में दावा किया गया कि 112 लोगों की कोविड से मौत हुई लेकिन अंतिम संस्कार के रिकॉर्ड में यह आंकड़ा 1350 का है.

Harayana Covid19 Data
मई में सरकारी आंकड़ों के मुताबिक़ गुरुग्राम में 112 लोगों की कोविड से मौत हुई लेकिन अंतिम संस्कार के रिकॉर्ड में यह आंकड़ा 1350 का है. (तस्वीर: इंडिया टुडे)

21 जिलों में डेटा से हेराफेरी?

ये बस कुछ मामले नहीं है जब मीडिया बुलेटिन और वास्तविक मौतों के बीच अंतर हो. इंडिया टुडे की रिपोर्ट मुताबिक़ हरियाणा के 21 जिलों में कोविड से हुई मौत के आंकड़े मेल नहीं खाते हैं.

भिवानी की बात करें तो 3 मई को दावा किया गया कि जिले में कोरोना से कुल 9 मौतें हुई हैं, लेकिन अंतिम संस्कार के डेटा के मुताबिक़ 11 का आंकड़ा था. ऐसे ही पानीपत की बात करें तो 1 मई से 3 मई के बीच कुल 61 कोविड पीड़ित लोगों के अंतिम संस्कार हुए, लेकिन सरकारी डेटा में सिर्फ 30 बॉडीज़ का रिकॉर्ड है.

झज्जर की एक एनजीओ है, मोक्ष कमेटी. इनका दावा है कि पिछले एक महीने में एक दर्जन श्मशान स्थल पर 20 बॉडीज़ का अंतिम संस्कार किया गया, लेकिन मीडिया बुलेटिन में मौत के आंकड़ों वाला कॉलम खाली रहा. वहां एक भी मौत की रिपोर्ट नहीं दर्ज़ की गई.

सरकार बना रही नए श्मशान

कोरोना से बढ़ रही मौतों की संख्या को देखते हुए सरकार ने नए श्मशान घर बनाए हैं. ये उन नामित श्मशान घर के अतिरिक्त हैं जहां मौजूदा वक्त में अंतिम संस्कार किए जा रहे हैं. पानीपत, रोहतक में 2-2 और ज़ींद और कुरुक्षेत्र में 1-1 नए श्मशान घर बनाए गए हैं.

जलाने के लिए लकड़ी कम पड़ रही

कोरोना की दूसरी लहर में हुई मौतों के कारण लकड़ी की खपत बहुत बढ़ गई है. इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हरियाणा सरकार ने बढ़ती मांग पूरी करने को लेकर वन विभाग से पेड़ों की कटाई करने को कहा है.

Anil Vij
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज. (तस्वीर: पीटीआई)

सरकार क्या कह रही?

अनिल विज हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री हैं. उन्होंने कोविड से जुड़ी मौतों के डेटा में हेराफेरी के आरोपों को खारिज़ कर दिया है. मीडिया बुलेटिन से आंकड़ों के मेल नहीं खाने को लेकर मंत्री जी का कहना है,

अन्य प्रदेश के लोगों को हरियाणा के निवासियों में नहीं जोड़ा जा रहा है. हालांकि जहां उनकी मौत हुई, उनका अंतिम संस्कार उसी क्षेत्र में किया जा रहा. इन लोगों की मौत का आंकड़ा संबंधित राज्यों की लिस्ट में जोड़ा जा रहा है.

कोरोना से हरियाणा का बुरा हाल

हरियाणा में 17 मई तक 83 हज़ार से अधिक कोरोना वायरस के एक्टिव केस हैं. राज्य में इस वायरस से अब तक 6,799 लोगों की मौत हो चुकी है. गुरुग्राम, फरीदाबाद और हिसार जैसे जिले सबसे बुरी तरह से प्रभावित हैं.


वीडियो- क्या कोरोना वैक्सीन विदेश भेजने को लेकर मोदी सरकार सच छिपा रही है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अपने पैतृक गांव में कोरोना से 30 मौतों की खबर पर क्यों भड़क गए केंद्रीय मंत्री वीके सिंह?

बीते दो हफ्ते में 30 लोगों की मौत से गांव में दहशत का माहौल है.

कोरोना काल के बीच चीन ने मंगल ग्रह पर उतारा ‘आग का देवता’!

ऐसा करने वाला दुनिया का तीसरा देश बना.

मुसीबत में भी चालाकी करने से बाज नहीं आ रहा है चीन, मदद के नाम पर भेज रहा घटिया माल

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर में वो बात नहीं जो पहले थी, कई चीजें गायब.

यूपी के हर जिले में कोरोना से जुड़ी शिकायतों की सुनवाई की हाई कोर्ट ने स्पेशल व्यवस्था कर दी है

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने चुनावी ड्यूटी में जान गंवाने वालों पर भी अहम फैसला दिया है.

नदी में कोरोना पीड़ितों के शव बहाने से क्या पानी संक्रमित हो जाता है?

बिहार और यूपी में ऐसे मामले सामने आ रहे हैं.

कनाडा के बाद अब अमेरिका में भी 12 से 15 साल के बच्चों को लगेगी फाइज़र की वैक्सीन

ये वैक्सीन भारत कब तक आएगी.

डॉक्टरों की सबसे बड़ी संस्था IMA ने कोरोना पर सरकार को खूब सुनाया है!

कहा-स्वास्थ्य मंत्रालय का रवैया हैरान करने वाला.

दिल्ली में फिर बढ़ा लॉकडाउन, इस बार और भी सख़्ती

दिल्ली के सीएम ने क्या बताया?

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

लगातार हो रही हिंसा की जांच के लिए होम मिनिस्ट्री ने अपनी टीम बंगाल भेज दी है.

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

कीनिया में अपने दोस्त से मिलने गए थे, वहां तेज बुखार आया था.