Submit your post

Follow Us

मध्य प्रदेश : राम मंदिर के लिए चंदा मांगने गए लोगों की दूसरे समुदाय से हुई भिड़ंत

मध्य प्रदेश का शहर इंदौर. दिन 29 दिसम्बर. यहां पर दक्षिणपंथी हिंदूवादी संगठनों के लोगों ने एक रैली निकाली. ये रैली अयोध्या में राम जन्मभूमि निर्माण महोत्सव के उपलक्ष्य में निकाली गई. इस दौरान राम मंदिर के निर्माण के लिए चंदा मांगा जा रहा था. रैली गुज़री मुस्लिम बहुल गांव से. इसके बाद हिंसा हो गई. 12 से ज़्यादा लोग घायल हो गए. पुलिस वीडियो सबूतों के आधार पर लोगों की शिनाख्त करने और उन पर कार्रवाई करने का दावा कर रही है. 

बता दें, इसके पहले 25 दिसंबर को भाजयुमो की बाइक रैली उज्जैन के मुस्लिम बहुल बेगम बाग़ मोहल्ले से गुज़री थी. उसके बाद दो पक्षों के बीच पथराव हुआ था. इसे लेकर पुलिस की कार्रवाई पर सवाल भी उठे थे. 

इंदौर में क्या हुआ?

चंदनखेड़ी गांव, गौतमपुरा थाना क्षेत्र. आरोप है कि रैली में शामिल लोग गांव में मौजूद एक मस्जिद के सामने से खड़े होकर नारे लगाने लगे. पुलिस ने मीडिया से बातचीत में बताया कि इसे लेकर दोनों समुदायों के लोगों के बीच बहस होने लगी. देखते ही देखते पत्थरबाज़ी चालू हो गयी.

स्थानीय लोगों ने ये भी आरोप लगाया कि रैली में शामिल लोग मस्जिद के बाहर खड़े होकर हनुमान चालीसा पढ़ने लगे. मस्जिद में उस समय नमाज़ अदा की जा रही थी. इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर में दावा किया गया कि स्थिति तब बिगड़ने लगी, जब हाथ में भगवा झंडा लिए कुछ लोग ‘जय श्री राम’ चिल्लाते हुए मस्जिद पर चढ़ गए और मीनार को क्षति पहुंचाने लगे. इस पूरी घटना के कुछ वीडियो भी सामने आने का दावा किया गया हैं. इन वीडियो में कुछ लोग कई गाड़ियों को तोड़ते हुए और एक घर को जलाने का प्रयास करते हुए दिख रहे हैं.,

पुलिस का क्या कहना है?

इंदौर के IG योगेश देशमुख ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि वीडियो के आधार पर कुल 24 लोगों को हिरासत में लिया गया है. दोनों पक्षों से और भी कई लोग हिरासत में लिए जा सकते हैं. जो लोग मस्जिद पर चढ़े थे, उनकी पहचान की जाएगी और उचित धाराओं में कार्रवाई की जाएगी, ऐसा पुलिस ने दावा किया है.

उज्जैन की घटना में क्या हुआ था?

उज्जैन में भाजयुमो की रैली के दौरान पथराव की घटना के बाद प्रशासन पर आरोप लगा कि उन्होंने समुदाय विशेष के लोगों के कई मकान अवैध निर्माण बताते हुए अगले ही दिन तोड़ दिए . रासुका यानी  राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई को लेकर भी पुलिस पर सवाल उठे. पुलिस ने इस मामले में अब तक कुल 15 लोगों को पकड़ा है. इनमें से 5 पर रासुका लगायी गयी है जबकि 10 लोगों पर हत्या के प्रयास का मुक़दमा दर्ज किया गया है. गौर करने वाली बात ये है कि ये सभी लोग बेगम बाग़ मोहल्ले के ही हैं. भाजयुमो के कार्यकर्ताओं और रैली में शामिल दूसरे लोगों पर कार्रवाई नहीं हुई है.


लल्लनटॉप वीडियो : उज्जैन: IPS के बताए जा रहे वायरल वीडियो पर परिवहन मंत्री क्या बोले?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.