Submit your post

Follow Us

लद्दाख की टेंशन कम होते ही मोदी सरकार ने चीन को कौन सी छूट देने का मन बना लिया है?

भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव कम होने की खबरों के बीच ऐसी खबर आ रही है जो चाइनीज इन्वेस्टमेंट से जुड़ी है. लद्दाख में सैनिकों के बीच झड़प के बाद भारत ने करीब एक साल पहले चीनी निवेश को लेकर सख़्त रुख अपना लिया था. इसकी वजह से चीन के कई प्रोजेक्ट अधर में लटक गए. अब समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने खबर में दावा किया है कि मोदी सरकार अब ऐसे ही चाइनीज इन्वेस्टमेंट के 45 प्रस्तावों को मंजूरी देने वाला है. इनमें ग्रेट वॉल मोटर्स और SAIC मोटर कॉर्प (SAIC Motor Corp) के बड़े इन्वेस्टमेंट प्रपोजल भी शामिल हैं. SAIC पहले ही भारत में MG मोटर्स के नाम से कारें बना रही है. इतना ही नहीं तनाव और ‘आत्मनिर्भर भारत’ के बावजूद इस बार चीन फिर से भारत का सबसे सबसे बड़ा ट्रेड पार्टनर बन गया है.

150 इन्वेस्टमेंट प्रपोजल अटके हुए हैं

रिपोर्ट के मुताबिक, सीमा विवाद के कारण चीनी कंपनियों के 2 अरब डॉलर के करीब 150 निवेश प्रस्ताव पाइपलाइन में फंसे रह गए थे. इनमें जापान और अमेरिका की कई कंपनियां भी शामिल थीं. इनके निवेश पर भी एक तरह से रोक लगा दी गई थी. प्रस्तावों को लेकर गृह मंत्री की अध्यक्षता वाले मंत्रियों के पैनल ने सख्ती बढ़ा दी थी.

चीन के निवेश प्रस्तावों के मंजूरी देने की खबर पर गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने कोई कमेंट करने से इनकार कर दिया. लेकिन रॉयटर्स को ये लिस्ट देखने का दावा करने वाले दो सरकारी सूत्रों ने बताया कि मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्रों के 45 प्रस्तावों को जल्दी मंजूरी मिल सकती है. इस सेक्टर को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से कम संवेदनशील माना जाता है. सरकारी सूत्र का कहना है कि असंवेदनशील सेक्टर्स के प्रस्तावों को जल्दी मंजूरी दी जाएगी. जानकारों का मानना है कि ऑटोमोबाइल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, केमिकल्स और टेक्सटाइल्स को ‘नॉन-सेंसिटिव’ श्रेणी माना जाता है. डेटा और फाइनेंस से जुड़े निवेश ‘सेंसिटिव’ हैं.

Mg Zs Ev
भारत में 2019 से कारें बनाने वाली चाइनीज़ कंपनी MG भी इन्वेस्टमेंट प्रपोजल के क्लियर होने की राह देख रही है.

ऑटोमोबाइल कंपनियां करना चाहती हैं भारी निवेश

पिछले साल ग्रेट वॉल मोटर्स (GWM) और जनरल मोटर्स (GM) ने एक संयुक्त प्रस्ताव दिया था. इसमें चीनी कंपनी GWM को अमेरिकन कंपनी GM का भारत स्थित कार प्लांट बेचने का प्रस्ताव था. ये डील करीब 250-300 मिलियन डॉलर की हो सकती है.

ग्रेट वॉल की अगले कुछ सालों में भारत में 1 अरब डॉलर निवेश की योजना है. कंपनी की योजना इसी साल से भारत में कारों की बिक्री शुरू करने की है. कंपनी इलेक्ट्रिक कार सेग्मेंट में भी काम करना चाहती है. ग्रेट वॉल का कहना है कि वो इन्वेस्टमेंट संबंधी जरूरी मंजूरियां लेने की कोशिश करेगी. जनरल मोटर्स के प्रवक्ता ने भी कहा है कि हम ट्रांजैक्शन के लिए जरूरी मंजूरी मांग रहे हैं.

SAIC​ ब्रिटिश ब्रांड एमजी मोटर्स के नाम से 2019 से ही अपनी कारें यहां बेच रही है. कंपनी ने भारत में करीब 600 मिलियन डॉलर इन्वेस्ट करने का फैसला लिया था. इसमें से 400 मिलियन डॉलर का इन्वेस्टमेंट कर भी लिया है. कंपनी को आगे का इन्वेस्टमेंट करने के लिए सरकारी मंजूरी की जरूरत है.

भारत अब भी चीन का सबसे बड़ा बिजनेस पार्टनर

भारत और चीन के बीच सीमा पर तगड़ी झड़प के बीच भारत ने 220 चीनी ऐप्स को बंद करने का फैसला लिया. लेकिन इसके बावजूद भी भारत-चीन के बीच व्यापार में जोरों पर है. चीन अब भी व्यापार के मामले में भारत का सबसे बड़ा सहयोगी है. इसके बाद ही अमेरिका का नंबर आता है. पिछले साल भारत ने चीन के साथ 77.7 बिलियन डॉलर का व्यापार किया है. मतलब भारत और चीन के बीच 77.7 बिलियन डॉलर की खरीद-फरोख्त हुई है. भारत ने चीन से 58.7 बिलियन डॉलर का सामान आयात किया है. बता दें कि भारत ने 2020 में अमेरिका के साथ 75.9 बिलियन डॉलर का व्यापार किया है.

हालांकि पिछले साल के मुकाबले इस साल भारत-चीन व्यापार में कमी आई है. पिछले साल भारत और चीन के बीच व्यापार 85.5 बिलियन डॉलर रहा था. इसके पीछे कोरोना संकट के बीच आयात-निर्यात में आई अड़चनों को भी एक कारण माना जा रहा है. इसके बावजूद चीन से मेडिकल उपकरणों की भारी डिमांड बनी रही. भारत ने आत्मनिर्भर बनते हुए चीन पर अपनी निर्भरता कम करने की पुरजोर कोशिश की लेकिन इसका खास असर नहीं दिखा. भारत अब भी भारी मशीनरी, टेलिकॉम उपकरणों और होम एप्लाइंसेज के मामले में चीन पर निर्भर है.


वीडियो – गोगरा हाइट्स, हॉट स्प्रिंग और डेप्सांग जैसे क्षेत्रों के लिए हुई भारत-चीन की मीटिंग में क्या नतीजा निकला?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

"...फिर हम आपकी भी नहीं सुनेंगे" वाले 'भड़काऊ' बयान के ठीक एक साल बाद कपिल मिश्रा ने अब क्या कहा?

दिल्ली दंगे का एक साल, और मौजपुर चौक पर कपिल मिश्रा का बयान.

'मोदी रोजगार दो' के बाद छात्रों का आगे का क्या प्लान है?

'मोदी रोजगार दो' के बाद छात्रों का आगे का क्या प्लान है?

जानिए कितनी भर्तियां अटकी हुईं हैं और सरकार का क्या रवैया है?

3 दिन में 2 हमलों के बाद अब कश्मीर से हथियारों का जखीरा बरामद

3 दिन में 2 हमलों के बाद अब कश्मीर से हथियारों का जखीरा बरामद

3 बंदूक, 6 मैग्ज़ीन, 2 पिस्टल और तमाम हथियार मिले.

उन्नाव केस : 'बगल गांव के लड़के ने दिया जहर, लेकिन जिसे मारना चाहता था...वो बच गई'

उन्नाव केस : 'बगल गांव के लड़के ने दिया जहर, लेकिन जिसे मारना चाहता था...वो बच गई'

IG लखनऊ रेंज ने बताया- प्रपोज़ल नकारे जाने से खफा था लड़का.

पेट्रोल के दामों पर अमूल का कार्टून आखिरकार आ ही गया!

पेट्रोल के दामों पर अमूल का कार्टून आखिरकार आ ही गया!

ट्विटर पर इसकी तगड़ी डिमांड थी.

सुपरस्टार यश के फैन ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा मेरे अंतिम संस्कार में आना

सुपरस्टार यश के फैन ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा मेरे अंतिम संस्कार में आना

यश के अलावा कांग्रेसी नेता सिद्दारमैया का नाम भी लिखा सुसाइड नोट में.

श्रीनगर में भरे बाजार पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर भागा आतंकी, 2 पुलिसवाले शहीद

श्रीनगर में भरे बाजार पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर भागा आतंकी, 2 पुलिसवाले शहीद

CCTV फुटेज में हमलावर कथित तौर पर एके-47 राइफल लिए दिख रहा है.

IPL इतिहास का सबसे महंगा खिलाड़ी बना ये ऑलराउंडर!

IPL इतिहास का सबसे महंगा खिलाड़ी बना ये ऑलराउंडर!

क्या ये रिकी पॉन्टिंग की टीम का नुकसान है?

IPL Auction 2021: कौन क्रिकेटर बिका और कौन नहीं, जानें

IPL Auction 2021: कौन क्रिकेटर बिका और कौन नहीं, जानें

मॉरिस बने IPL इतिहास के सबसे महंगे क्रिकेटर. बॉलर्स हुए मालामाल.

क्या हुआ जब वहीदा रहमान से कहा गया, कोई 'सेक्सी एंड जूसी' नाम रखो

क्या हुआ जब वहीदा रहमान से कहा गया, कोई 'सेक्सी एंड जूसी' नाम रखो

मधुबाला और नर्गिस के दिए उदाहरण देकर कहा गया कि अपना नाम बदल लो.