Submit your post

Follow Us

ज़हीर बोले, विराट-रोहित नहीं...ये तय करेंगे सीरीज़ किसकी होगी!

2018-19 में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी. उस सीरीज़ में कप्तानी विराट कोहली के कंधों पर ही थी. खूब शोर भी था कि स्मिथ और वॉर्नर के नहीं होने का असर ऑस्ट्रेलिया पर पड़ेगा. हुआ भी बिल्कुल वैसा ही. 70 साल के क्रिकेट इतिहास में पहली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में हरा दिया.

अब एक बार फिर से टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया पहुंच गई है. इस बार फिर से विराट कोहली टीम का नेतृत्व करेंगे. लेकिन इस बार ऑस्ट्रेलियन टीम में स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर दोनों वापस आ गए हैं. इस बार टीम इंडिया को इनसे सतर्क रहना होगा.

टीम इंडिया के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ ज़हीर खान ने भी इंडियन टीम को यही बात याद दिलाई है. ज़हीर ने कहा है कि स्मिथ-वॉर्नर से बचकर रहने की ज़रूरत है. वहीं गेंदबाज़ों का रोल इस सीरीज़ में बहुत बड़ा होने वाला है. ज़हीर के मुताबिक इस सीरीज़ में जिस टीम की गेंदबाज़ी कारगर रहेगी, वही टीम इस सीरीज़ पर अपना कब्ज़ा जमाएगी.

ज़हीर खान ने गेंदबाज़ी के पहलू पर कहा,

ऑस्ट्रेलिया की पिचों पर अच्छा पेस और बाउंस रहता है, इसलिए मुझे लगता है कि तीनों फॉर्मेट में जीत और हार का अंतर गेंदबाज ही तय करेंगे. जो टीम एक गेंदबाज़ी यूनिट के तौर पर सामने वाली टीम को कम स्कोर पर रोकती है, वो ही सीरीज़ में बेहतर करेगी.

इस सीरीज में बुमराह, शमी, कमिंस, हेजलवुड, स्टार्क जैसे विश्व के बेहतरीन तेज गेंदबाज़ हैं. ज़हीर ने कहा कि इस सीरीज़ में विश्व के मौजूदा बेहतरीन गेंदबाज़ बॉलिंग करते दिखेंगे. ऐसे में गेंदबाज़ों पर बहुत कुछ निर्भर करेगा.

वॉर्नर-स्मिथ की वापसी है टीम इंडिया के लिए खतरा:

ज़हीर ने गेंदबाज़ों के अलावा भारतीय टीम को सतर्क करते हुए वॉर्नर और स्मिथ का भी ज़िक्र किया. ज़हीर ने कहा,

इस सीरीज में स्मिथ और वार्नर के रहने से भारतीय टीम के लिए सीरीज इतनी आसान नहीं रहने वाली है. दोनों के वापस आ जाने से भारतीय टीम को पिछले दौरे के मुकाबले थोड़ा कड़ा मुकाबला करना होगा. इस सीरीज़ में कोई भी टीम फेवरेट्स की तरह नहीं जाएगी क्योंकि दोनों के पास क्वालिटी बैटिंग और बोलिंग लाइनअप है, जो कि इस दौरे को और ज़्यादा रोमांचक बना रही है.

भारतीय टीम के साथ इस सीरीज़ के लिए एक बड़ा सेटबैक भी है. भारतीय कप्तान विराट कोहली चार मैचों की टेस्ट सीरीज़ में सिर्फ पहला मैच खेलकर वापस लौट आएंगे. विराट पिता बनने वाले हैं. और वो पैटरनिटी लीव पर रहेंगे. ऐसे में बाकी बचे तीन मैचों में विराट कोहली के बिना ही टीम इंडिया को खेलना होगा.

बता दें, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत को तीन वनडे, तीन टी20 और चार टेस्ट मैच खेलने हैं. सीरीज़ का आगाज़ 27 नवंबर से होगा.


विडियो: सिर्फ T20I खेलने वाले इंडियन क्रिकेटर्स को अब क्या फायदा मिलेगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

देश भर से सामने आ रही ये घटनाएं हिला देंगी.

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

वैक्सीन के रेट्स को लेकर देशभर में कन्फ्यूजन की स्थिति क्यों है?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

जानिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने भारत के हालात पर क्या लिखा है.

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

यूपी जैसे बड़े राज्य में केवल 1 प्लांट ही लगा.

कोरोना की दूसरी लहर के बीच किन-किन देशों ने भारत को मदद की पेशकश की है?

कोरोना की दूसरी लहर के बीच किन-किन देशों ने भारत को मदद की पेशकश की है?

पाकिस्तान के एक संगठन की ओर से भी मदद की बात कही गई है.

अब सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हम राष्ट्रीय आपातकाल जैसी स्थिति में हैं, क्या केंद्र के पास कोई नेशनल प्लान है?

अब सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हम राष्ट्रीय आपातकाल जैसी स्थिति में हैं, क्या केंद्र के पास कोई नेशनल प्लान है?

ऑक्सीजन सप्लाई से जुड़ी एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा था.

'सबसे कारगर' कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर ने भारत के सामने क्या शर्त रख दी है?

'सबसे कारगर' कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर ने भारत के सामने क्या शर्त रख दी है?

भारत सरकार की ओर से इस पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

दिल्ली हाई कोर्ट ने ऑक्सीजन की किल्लत पर केंद्र सरकार को बुरी तरह लताड़ दिया है

दिल्ली हाई कोर्ट ने ऑक्सीजन की किल्लत पर केंद्र सरकार को बुरी तरह लताड़ दिया है

बुधवार रात 8 बजे हुई सुनवाई में कोर्ट ने केंद्र को जमकर खरी-खोटी सुनाई.

कोरोना संकट के बीच देश के ये 3 शीर्ष मेडिकल एक्सपर्ट आपके लिए बहुत काम की बातें बता गए हैं

कोरोना संकट के बीच देश के ये 3 शीर्ष मेडिकल एक्सपर्ट आपके लिए बहुत काम की बातें बता गए हैं

कोरोना की रोकथाम से जुड़े हर जरूरी सवाल का जवाब दिया है.

कोविड प्रोटोकॉल्स की धज्जियां उड़ाते UP पंचायत चुनाव पर हाईकोर्ट की ये टिप्पणियां ज़रूर जानिए

कोविड प्रोटोकॉल्स की धज्जियां उड़ाते UP पंचायत चुनाव पर हाईकोर्ट की ये टिप्पणियां ज़रूर जानिए

सरकारी कर्मचारियों की चुनावी ड्यूटी पर भी नाराज़गी ज़ाहिर की.