Submit your post

Follow Us

कोरोना की दूसरी लहर में लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिली, लेकिन हरियाणा के मंत्रियों को महंगी कारें मिल गईं!

कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर की दर्दनाक यादें लोग भूले नहीं हैं. इस लहर ने देश के हेल्थ स्ट्रक्चर की भी पोल खोल कर रख दी थी. अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहे थे, केमिस्ट की दुकानों पर दवाइयां नहीं मिल रही थीं. इस सब पर ऑक्सीजन की कमी ने क्राइसिस को और बढ़ा दिया. केंद्र से लेकर राज्य सरकारें भले कह रही हों कि उनके यहां ऑक्सीजन की कमी से किसी को मौत नहीं हुई, लेकिन पूरी दुनिया ने देखा कि लोग कैसे मेडिकल ऑक्सीजन पाने के लिए दर-दर भटक रहे थे.

लेकिन जो खबर आपको हम देने जा रहे हैं, वो कोरोना संकट से जुड़ी नहीं है. ना ही ऑक्सीजन की कमी से इसका कोई लेना-देना है. ये जानकारी तो हमारे ‘महान’ नेताओं के बारे में है, जिनकी सुविधाओं में कोई कमी नहीं होनी चाहिए और जिनका ख्याल हर संकट से बढ़कर किया जाता है.

बात कर रहे हैं हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार की. आजतक से जुड़े जगबीर घनघस की रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना की प्रचंड दूसरी लहर में जब लोग अपनों की जान बचाने के वास्ते मारे-मारे फिर रहे थे, उस दौरान हरियाण सरकार माननियों के लिए एक से एक नई गाड़ी खरीद रही थी. रिपोर्टर जगबीर घनघस के मुताबिक, एक RTI में ये बड़ी जानकारी सामने आई है.

Manohar Lal Khattar
हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर. (तस्वीर: पीटीआई)

क्या-क्या पता चला?

बताया गया है कि सोशल एक्टिविस्ट बृजपाल परमार ने हरियाणा सरकार के मंत्रियों और नेता प्रतिपक्ष के खर्च के बारे में जानने के लिए ही ये RTI दायर की थी. आवेदन का जवाब आया तो पता चला कि इस साल जनवरी से लेकर जुलाई महीने तक हरियाणा सरकार के हर मंत्री के लिए नई गाड़ियां खरीदी गई थीं. सबसे महंगी गाड़ी राज्य के गृह मंत्री अनिल विज को मिली. RTI के मुताबिक, विज साहब को 65 लाख रुपये की मर्सडीज खरीद कर दी गई. ये भी पता चला कि मंत्रियों ने इन नई गाड़ियों को खूब दौड़ाया. इतना इस्तेमाल किया कि 90 लाख रुपये का तेल फूंक डाला.

रिपोर्टर जगबीर घनघस ने एक्टिविस्ट बृजपाल परमार से बात की. उन्होंने बताया कि सरकार ने हर मंत्री के लिए गाड़ी खरीदी. खुद सीएम मनोहरलाल के लिए चार महंगी कारें खरीदी गईं. गृह मंत्री अनिल विज को 65 लाख 75 हजार रुपये की सबसे महंगी मर्सडीज मिली. यहां तक कि नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा के लिए भी 36 लाख रुपये से ज्यादा कीमत की कार खरीदी गई.

Rti
आरटीआई का स्क्रीनशॉट.

ये लिस्ट देखकर पता चलता है कि ज्यादातर मंत्रियों-विधायकों के लिए टोयोटा फॉर्चूनर कार ली गई, जिसकी कीमत 36 लाख रुपये से ज्यादा है. गृह मंत्री अनिल विज को मर्सडीज मिल गई, जो 65 लाख रुपये से भी ज्यादा की है.

90 लाख का तेल पी गई कारें

वहीं, सबसे ज्यादा तेल फूंकने का श्रेय विधायक ओपी यादव को जाता है. उन्होंने 7 महीनों में एक लाख 16 हजार 456 किलोमीटर गाड़ी दौड़ाई. RTI के मुताबिक, इस दौरान विधायक ने 11 लाख 55 हजार रुपये से ज्यादा का तेल इस्तेमाल किया. दूसरे नंबर पर रहे विधानसभा के उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा. उनकी कार लगभग एक लाख 8 हजार किलोमीटर भागी. पेट्रोल फूंका गया करीब 11 लाख रुपये का. सबसे कम तेल खर्च किया सीएम मनोहर लाल खट्टर ने. दूसरे मंत्रियों या विधायकों की तुलना में उनकी कार मात्र 20 हजार 593 किलोमीटर चली, जिसके लिए 2 लाख 18 हजार 114 रुपये का तेल खर्च हुआ.

वहीं डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की कार 27 हजार 531 किलोमीटर दौड़ी. तेल का खर्चा आया 3 लाख 29 हजार 617 रुपये. कृषि मंत्री जेपी दलाल का रिकॉर्ड भी कंपैरेटिव्ली ठीक रहा. उनकी कार लगभग 28 हजार किलोमीटर चली, जिस पर लगभग 3 लाख रुपये का तेल लगा. बृजपाल परमार ने बताया कि महामारी के दौरान सात महीनों में मंत्रियों की कारों ने 90 लाख रुपये का तेल पी लिया.

Bjp Jjp To Form New Govt
हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज (सबसे दाएं), सीएम खट्टर और रविशंकर प्रसाद (बीच में) और दुष्यंत चौटाला (बाएं). (फाइल फोटो- पीटीआई)

‘ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई मौतें’

वैसे हरियाणा सरकार भी देश की उन राज्य सरकारों में शामिल है, जिनका दावा है कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान उनके यहां ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं हुई. आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले महीने ही हरियाणा विधानसभा में राज्य सरकार ने एक सवाल के जवाब में ये बात कही थी. जवाब दिया था गृह मंत्री अनिल विज ने. कांग्रेस विधायक आफताब अहमद ने खट्टर सरकार से पूछा था कि 24 मार्च 2021 से 31 जुलाई 2021 के बीच क्या किसी भी मरीज की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई. इस पर अनिल विज ने दावा ठोका कि इन 4 चार महीनों में एक भी भी कोरोना संक्रमित की मौत की वजह ऑक्सीजन की कमी नहीं थी.

सरकारों के पास हर सवाल का जवाब होता है!


वीडियो- हरियाणा के BPS मेडिकल कॉलेज की छात्राएं अपने ही प्रोफेसर के खिलाफ क्यों खड़ी हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

असम में बॉडी के ऊपर कूदता रहा 'कैमरामैन', पुलिस के अतिक्रमण हटवाने में 2 की मौत

असम के दरांग में हुई इस हिंसा के दृश्य विचलित करने वाले हैं.

पाकिस्तान ने तालिबान के लिए कुर्सी मांगकर झगड़ा करा दिया, SAARC बैठक रद्द

अफगानिस्तान की पूर्व लोकतांत्रिक सरकार के शामिल होने के खिलाफ है पाकिस्तान.

गोवा घूमने गई 25 साल की एक्ट्रेस की कार एक्सीडेंट में डेथ

गोवा में पुल से नीचे गिरी कार, पानी में डूबने से हुई डेथ.

नरेंद्र गिरि कथित आत्महत्या: आरोपी आनंद गिरि को किस महंत ने 'हिस्ट्रीशीटर' कहा?

यूपी पुलिस ने आनंद गिरि को गिरफ्तार कर लिया है.

रूस की यूनिवर्सिटी में अंधाधुंध गोलीबारी, 8 की मौत, आरोपी की उम्र हैरान कर देगी

इस यूनिवर्सिटी में भारत के भी कई छात्र पढ़ते हैं.

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

केंद्रीय मंत्री पद से हटाए जाने के बाद भाजपा छोड़ी थी.

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

कहानी में एक और किरदार सामने आया है, राज फौजदार.

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

पुलिस ने बीकानेर, जयपुर, पाली और उदयपुर से 17 लोगों को गिरफ्तार किया है.

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर कई दावे किए हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीर ने ये भी कहा कि कई मुस्लिम अपने पिता को बाबा भी कहते हैं.