Submit your post

Follow Us

हरियाणा: पुलिस ने किसानों को किया रिहा, टोहना थाने का घेराव खत्म करेंगे किसान

एक जून को हरियाणा के जेजेपी विधायक के साथ हुए विवाद के बाद गिरफ्तार दोनों किसानों को रिहा कर दिया गया है. भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बताया कि अब वे टोहाना थाने का घेराव नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि एक शख्स अभी भी पुलिस हिरासत में है और उसे रिहा करने के लिए पुलिस-प्रशासन के साथ बैठक जारी है.

आपको बता दें कि किसानों ने हरियाणा के फतेहाबाद के टोहाना थाने का घेराव कर रखा था. यहां राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव समेत कई किसान नेता धरने पर बैठ गए थे. मौके पर सैकड़ों किसान जमा हो गए थे और पुलिस थाने के बाहर टेंट लगा दिए थे. राकेश टिकैत और अन्य किसान नेताओं ने कहा था कि जब तक गिरफ्तार किसानों को रिहा नहीं किया जाता, तब तक ये धरना-प्रदर्शन जारी रहेगा.

 क्या है पूरा मामला?

एक जून को जननायक जनता पार्टी के विधायक देवेंद्र सिंह बबली के खिलाफ किसानों के समूह ने प्रदर्शन किया. उनके खिलाफ नारेबाजी करने के साथ-साथ काले झंडे दिखाए. जेजेपी एमएलए देवेंद्र बबली ने आरोप लगाया था कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया और उनकी एसयूवी कार के सामने के शीशे को तोड़ दिया. प्रदर्शनकारियों पर काफिले में शामिल लोगों के साथ मारपीट का भी आरोप है.

इसके बाद गुस्से में विधायक ने किसानों के खिलाफ सार्वजनिक रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी. पुलिस ने इस मामले में खुद से मामला दर्ज किया और दो किसान नेताओं रवि आज़ाद और विकास सीसर को गिरफ्तार कर लिया. इस मामले में विरोध के लिए काफी संख्या में किसान, टोहाना पुलिस स्टेशन पहुंच गए. पुलिस और प्रशासन के साथ किसानों की कई बैठकें हुईं. आखिरकार प्रशासन ने 7 जून को किसानों को रिहा करने का फैसला किया.

किसानों का क्या कहना है?

संयुक्त किसान मोर्चा के गुरनाम सिंह चढ़ूनी, योगेंद्र यादव और राकेश टिकैत मौके पर पहुंच गए थे. किसान नेताओं ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में कहा था कि वो मौके से तब तक नहीं हटेंगे जब तक कि गिरफ्तार किसानों को रिहा नहीं किया जाता है. किसान नेताओं ने कहा था कि अगर गिरफ्तार किसानों को रिहा नहीं किया जा रहा है तो उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाए. किसानों और स्थानीय प्रशासन के बीच बैठकों के कई दौर हुए और आखिरकार 7 जून को मामले का फैसला हो पाया.

विधायक देवेंद्र सिंह बबली ने मांगी माफी

इस पूरे मामले में जेजेपी विधायक देवेंद्र सिंह बबली ने अपनी अशोभनीय टिप्पणी के लिए माफी मांग ली है. उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसा नहीं बोलना चाहिए था और अपनी टिप्पणी के लिए वे माफी मांगते हैं. उन्होंने कहा,

“मैं एक सरकारी कार्यक्रम में जा रहा था जब मुझ पर हमला हुआ. मुझे भरोसा है जिन्होंने ये हमला किया वे लोग किसान नहीं थे. उस वक्त गुस्से में मैंने कुछ गलत शब्द बोले थे जिनके लिए मैं माफी मांगता हूं. हालांकि हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ कानून अपना काम करेगा.”

किसान नेताओं ने कहा ता कि बबली ने माफी मांग ली है और अब गिरफ्तार नेताओं को भी रिहा कर दिया जाना चाहिए, लेकिन पुलिस-प्रशासन से जुड़े लोगों ने कहा कि इस तरह वे गिरफ्तार आरोपियों को रिहा नहीं कर सकते हैं. उन्हें कानूनी राय लेनी होगी.


 

हरियाणा: राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव समेत कई किसान टोहना में थाने के बाहर क्यों प्रदर्शन कर रहे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

रविवार 3 अक्टूबर की शाम से यहां कर्फ्यू लगा है.

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

ब्रिटेन की अदालतों में इन दोनों ने अपनी आय शून्य बताई थी.