Submit your post

Follow Us

इंडोनेशिया ओपन टेबल टेनिस टूर्नामेंट में सबसे आगे रहे भारतीय प्लेयर्स

5
शेयर्स

हरमीत देसाई और एंथनी अमलराज. दोनों भारतीय टेबल टेनिस प्लेयर हैं, यानी टेबल वाली टेनिस खेलते हैं. टेबल वाली टेनिस एक टेबल यानी कि मेज पर खेली जाती है. इसमें यही टेबल टेनिस कोर्ट का काम करती है. इसकी बॉल गोल्फ बॉल से भी छोटी होती है. इसके रैकेट्स भी इसी हिसाब से छोटे-छोटे होते हैं. साउथ-ईस्ट एशिया के कई देशों में इसे पिंग-पॉन्ग भी कहा जाता है.

इस संडे, 17 नवंबर को यह दोनों ITTF (इंटरनेशनल टेबल टेनिस फेडरेशन) चैलेंज इंडोनेशिया ओपन के फाइनल में भिड़े थे. इंडोनेशिया के शहर बाटम में हुए इस मैच को हरमीत ने जीता.

टेबल के दोनों ओर भारतीय प्लेयर्स की मौजूदगी वाले इस फाइनल में हरमीत ने बेहतरीन शुरुआत की. उन्होंने पहला सेट 11-9 से अपने नाम कर लिया. हालांकि अमलराज इतनी आसानी से सरेंडर करने के मूड में नहीं थे. उन्होंने अगला सेट इसी अंतर से जीत मैच बराबर कर लिया.

हालांकि विश्व रैंकिंग में 104 नंबर पर मौजूद हरमीत ने जल्दी ही खुद को संभाल लिया. उन्होंने अगले दोनों गेम 11-9 से जीत मैच में 3-1 की लीड ले ली. अमलराज ने अगले गेम में अच्छा खेल दिखाया और कड़े मुकाबले के बाद इसे 12-10 से जीत लिया. लेकिन मौजूदा कॉमनवेल्थ टेबल टेनिस चैंपियन हरमीत ने इसके बाद कोई गलती नहीं की. उन्होंने अगला सेट 11-9 से जीत मैच को 4-2 से अपने पक्ष में कर लिया. यह उनका इस साल का दूसरा इंटरनेशनल टाइटल है.

इससे पहले दोनों ही प्लेयर्स ने इस टूर्नामेंट में कमाल का खेल दिखाया था. हरमीत ने क्वॉर्टर-फाइनल में जापान के युतो किज़ुकुरी जबकि सेमी-फाइनल में हॉन्ग-कॉन्ग के सिउ हांग लाम को 4-2 से मात दी थी. हरमीत ने टूर्नामेंट के क्वॉर्टर-फाइनल से लेकर फाइनल तक एक जैसी स्कोरलाइन से जीत दर्ज की.

जबकि एंथनी ने क्वॉर्टर-फाइनल में पुर्तगाल के होआओ मोन्टीरो और सेमी-फाइनल में सेनेगल के इब्राहिमा डिअव को 4-0 की स्कोरलाइन से हराया.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार Facebook से यूजर्स की जानकारी मांग रही है

2 साल में तीन गुनी हुई इमरजेंसी रिक्वेस्ट्स की संख्या.

पुनर्विचार की सभी याचिकाएं खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल को हरी झंडी दी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रफ़ाल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खूब घेरा था.

महाराष्ट्र में नहीं बनी शिवसेना-एनसीपी की सरकार, अब लगेगा राष्ट्रपति शासन

एनसीपी को सरकार बनाने के लिए आज शाम साढ़े आठ बजे तक का समय मिला था.

करतारपुर कॉरिडोर: PM मोदी ने इमरान को शुक्रिया कहा, लेकिन इमरान का जवाब पीएम मोदी को पसंद नहीं आएगा

वहां पर भी कॉरिडोर से ज़्यादा 'विवादित मुद्दे' पर ही बोलता नज़र आया पाकिस्तान.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.