Submit your post

Follow Us

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी का इस्तीफा, जानिए क्या वजह बताई

गुजरात में बड़ा पॉलिटिकल डेवलपमेंट हुआ है. मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस्तीफा दे दिया है. ये अप्रत्याशित है क्योंकि हाल-फिलहाल ऐसा कोई बड़ा घटनाक्रम नहीं हुआ है, जिसके चलते रुपाणी यूं अचानक इस्तीफा दे दें. 11 सितंबर की दोपहर वे अचानक राजभवन पहुंचे, तभी से कयासबाजी शुरू हो गई थीं. इन पर विराम तब लगा, जब ख़बर पक्की हो गई कि रुपाणी ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत को अपनी इस्तीफा सौंप दिया है.

इस्तीफे के तुरंत बाद मीडिया के सामने आते हुए रुपाणी ने कहा कि –

“मैं भारतीय जनता पार्टी के प्रति आभार व्यक्त करता हूं कि मेरे जैसे एक पार्टी कार्यकर्ता को गुजरात के मुख्यमंत्री पद की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी. मुख्यमंत्री के रूप में मिले इस दायित्व को निभाते हुए मेरे कार्यकाल के दौरान माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जी का विशेष मार्गदर्शन मिलता रहा है.”

आगे रुपाणी बोले कि –

“मेरा मानना है कि अब गुजरात के विकास की यह यात्रा प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में एक नए उत्साह व नई ऊर्जा के साथ नए नेतृत्व में आगे बढ़नी चाहिए. यह ध्यान रखकर मैं गुजरात के मुख्यमंत्री पद के दायित्व से त्यागपत्र दे रहा हूं.”

यानी साफ कर दिया कि अगले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए ही उन्होंने इस्तीफा दिया है और अब पार्टी गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर किसी नए चेहरे को देख रही है. बता दें कि गुजरात में विधानसभा चुनाव होने में करीब सवा साल का समय ही बचा है. 2022 के अंत में राज्य में चुनाव होने हैं.

शाह के करीबी रहे रुपाणी

विजय रुपाणी शुरू से अमित शाह के करीबी रहे. 2016 में जब रुपाणी CM बने थे तो उस वक्त पार्टी के अंदर से भी आवाज़ उठी थी कि अमित शाह ने अपने वीटो पावर का इस्तेमाल कर उन्हें मुख्यमंत्री बनाया है, लेकिन आवाज नक्कारखाने में तूती की तरह ही रह गई. भाजपा के ही एक पूर्व मंत्री ने कहा था,

“विजय रुपाणी रामायण के भरत की भूमिका में हैं. वो मुख्यमंत्री की सीट पर चरण पादुका रखकर अमित शाह के नाम पर शासन चलाएंगे.”

रुपाणी की अमित शाह से नजदीकी बहुत पुरानी रही है. सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस में जब कोर्ट के आदेश के बाद अमित शाह राज्य से बहिष्कार झेल रहे थे, तब वो दिल्ली में विजय रुपाणी के फिरोज शाह रोड स्थित बंगले पर ही रहते थे, जो रुपाणी को बतौर राज्यसभा सांसद मिला हुआ था. अब गुजरात के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के बाद पार्टी उन्हें क्या ज़िम्मेदारी देती है, ये आने वाला समय ही बताएगा.


वीडियो देखें: गुजरात में सूखे और बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद के लिए मोदी सरकार ने कितनी मदद की?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

यहां तक कि CRPF कान्स्टेबल की मौत भी फ्रेंडली फायर में हुई थी!

अक्षय कुमार की मां का निधन

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

नई अफगानिस्तान सरकार का लीडर यूएन की आतंकियों की लिस्ट में शामिल है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

रायपुर पुलिस ने नंद कुमार बघेल को ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया.

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

पीड़ित इस वक़्त कूपर अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत बेहद नाज़ुक है.

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

कई दिनों से अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया की तबीयत खराब है.

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

500 लंगर, 100 चिकित्सा शिविर, 5 हज़ार वॉलेंटियर्स.

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

न्यूयॉर्क समेत पूरे अमेरिका में अब तक 44 लोगों के मारे जाने की बात कही गई है.

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

सोशल मीडिया पर नसीरुद्दीन शाह का ये वीडियो वायरल है.