Submit your post

Follow Us

Google के इस कदम के बाद फेक न्यूज फैलाने वाले सिर पीट लेंगे

5
शेयर्स

गूगल ने पॉलिटिकल ऐड्स से संबंधित नियमों को कड़ा कर दिए हैं. गूगल को लगता है कि वोटर्स को प्रभावित करने के लिए और गलत जानकारी फैलाने के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का गलत इस्तेमाल किया जा सकता है. गलत जानकारियों के लिए इस तरह के प्लेटफॉर्म पहले से ही दबाव में हैं.

गूगल का कहना है कि उसके नियम किसी भी एडवरटाइजर को गलत जानकारी देने से रोकते हैं, चाहे वह एडवरटाइजर पॉलिटिक्स या किसी भी और सेक्टर से जुड़ा हो. हम अपनी पॉलिसी को और ज्यादा साफ और स्पष्ट बना रहे हैं. ऐसे उदाहरण को जोड़ रहे हैं कि छेड़छाड़ की गई फोटो या वीडियो को किस तरह से रोका जाए.

गूगल के एडवरटाइजिंग प्रोडक्ट मैनेजमेंट के उपाध्यक्ष स्कॉट स्पेंसर ने कहा, ‘यह हमारी पॉलिसी के खिलाफ हैकि कोई भी एडवरटाइज़र गलत क्लेम करे. फिर चाहे वह कुर्सी की कीमत से जुड़ा दावा हो, या ऐसा दावा जिसमें कहा जाए कि आप टेक्स्ट मैसेज के जरिए वोट कर सकते हैं, या फिर ऐसा दावा कि चुनाव पोस्टपोन कर दिया गया है, या फिर किसी उम्मीदवार की मौत का दावा हो.’

स्पेंसर ने आगे बताया कि लोकतंत्र में डायलॉग बहुत जरूरी है, लेकिन कोई भी इस बारे में पुख्ता तौर पर नहीं कह सकता कि हर दावा और कटाक्ष सही है या नहीं. ऐसे में, ऐसे ऐड्स कम ही होंगे जिस पर हम एक्शन लें. लेकिन जहां कहीं साफ उल्लंघन होगा, वहां हम जरूर फैसला लेंगे.

जिन ऐड्स को बैन किया जा सकता है उसमें ऐसे ऐड शामिल हैं जो गलत दावा करते हैं, जिससे वोटर का भरोसा कम होता है या इलेक्शन में उनकी भागीदारी पर असर पड़ता है.

हाल ही में ट्विटर ने दुनिया भर में अपने प्लेटफॉर्म पर पॉलिटिकल ऐड्स पर रोक लगाने की बात कही थी. फेसबुक ने पॉलिटिकल एड्स को लेकर कहा था कि हम ऐसे कई तरीकों को देख रहे हैं जिनसे हम पॉलिटिकल ऐड्स के लिए अपने अप्रोच को रिफाइन करें.

अमेरिका, ब्रिटेन, भारत जैसे देशों में पॉलिटिकल एड्स को लेकर फेसबुक और गूगल जैसी कंपनियों पर लगातार सवाल उठ रहे हैं.


वीडियो- सरोगेसी रेगुलेशन बिल 2019 का राज्यसभा में विरोध क्यों हो रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या मुखर्जी नगर में रहने वाले स्टूडेंट्स को जबरन छुट्टी पर भेज रही है दिल्ली पुलिस?

लोग इसे CAA प्रोटेस्ट से जोड़कर देख रहे हैं.

यूपी : बिजनौर के गांववालों ने बताया, 'पुलिस घरों में घुसकर मुस्लिमों को प्रताड़ित कर रही है'

दो लड़कों की मौत, और एक भीड़ से भरी हुई जेल.

पहले CAA आएगा फिर NRC, ये हम नहीं अमित शाह कई बार कह चुके हैं, ये रहे सबूत

लेकिन कानून मंत्री कह रहे हैं ऐसा कोई प्लान नहीं है.

CAA Protest: RJD के बिहार बंद में हिंसक प्रदर्शन की खबर

आम जनता को परेशान करने के वीडियो सामने आए.

उन्नाव रेप केस : पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट ने क्या सजा दी है?

25 लाख रुपए का मुआवजा भी देना होगा.

CAA PROTEST: जामा मस्ज़िद के बाहर भीम आर्मी का प्रदर्शन, अमित शाह के घर के बाहर प्रोटेस्ट में शर्मिष्ठा मुखर्जी अरेस्ट

आज देश में कहां पर क्या हो रहा है?

पूरे देश में नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन, कई नामी लोग हिरासत में

और लोग पूछ रहे, "सब चंगा सी?"

जयपुर सीरियल बम ब्लास्ट के फैसले में एक आरोपी को क्यों छोड़ा गया?

इस ब्लास्ट में 71 लोगों की जान गई थी और 185 ज़ख्मी हुए थे.

कोर्ट ने रतन टाटा का मूड खराब कर दिया, वापिस आ गए साइरस मिस्त्री

और अब टाटा समूह जाएगा सुप्रीम कोर्ट!

जामिया प्रोटेस्ट: पुलिस की FIR में कांग्रेस के पूर्व MLA समेत इन 6 लोगों के नाम हैं

आरोप है कि हिंसा से दो दिन पहले से वो लोगों को भड़का रहे थे.