Submit your post

Follow Us

चंद्रयान 2 पर संभाजी भिड़े ने सबसे बेवकूफ़ी वाली बात कही है

574
शेयर्स

चंद्रयान 2 मिशन के बारे में जितने मुंह उतनी बातें. सब अपने-अपने हिसाब से मिशन की सफ़लता और असफ़लता माप रहे हैं. हर चौक-चौराहे पर लोग वैज्ञानिक बने बैठे हैं. वैसे अपने देश में तो लोग टीवी पर मैच देखते हुए सचिन को भी शॉट लगाना सिखाते हैं. तो अब इसरो को भी बता रहे हैं कि क्या करना चाहिए था.

इसी तरह लोग नासा के मून मिशन की सफ़लता के बारे में भी बातें कर रहे हैं, कि उनके जैसा करते तो बात बन सकती थी. ज्ञान देने के इस सिलसिले को आगे बढ़ाया है संभाजी भिड़े ने.

14 के लोकसभा चुनाव में मोदी ने संभाजी भिड़े को 'भिड़े गुरूजी' कहा था और भयानक तारीफ़ की थी
2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी ने संभाजी भिड़े को ‘भिड़े गुरुजी’ कहा था और भयानक तारीफ़ की थी.

भिड़े गुरुजी. कभी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य थे. फिर 1980 के दशक में उन्होंने संघ छोड़कर ‘शिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान’ नाम का एक संगठन बनाया. संगठन नया था, लेकिन भिड़े की विचारधारा में कोई फर्क नहीं था. शिव प्रतिष्ठान एक हिंदू दक्षिणपंथी संगठन है. इसका ज़िक्र राष्ट्रीय मीडिया में तब होने लगा जब उसने 2008 में आई फिल्म ‘जोधा अकबर’ का विरोध किया. यहां विस्तार से पढ़ें.

सोलापुर के एक कार्यक्रम में संभाजी भिड़े ने एक बयान दिया है कि ‘नासा वाले अपना चंद्रयान लैंड कराने में इसलिए सफ़ल हुए क्योंकि उन्होंने दिन चुना था एकादशी का.’

संभाजी भिड़े के हिंदूत्ववादी शिविरों में ख़ूब भीड़ लगती है
संभाजी भिड़े के हिंदुत्ववादी शिविरों में ख़ूब भीड़ लगती है

# क्या है पूरा बयान

भिड़े गुरु का मानना है कि नासा की टाइमिंग बहुत सही थी. उनका कहना है कि अमेरिका ने अपने स्‍पेसक्राफ्ट को चांद पर उतारने की 38 कोशिशें की थीं लेकिन वह असफल रहा. उन्‍होंने दावा किया कि अमेरिकी वैज्ञानिकों ने इस बात की सलाह दी थी कि समय को मापने के लिए भारतीय सिस्‍टम में प्रचलित परंपरा एकादशी का पालन करना चाहिए न कि उस सिस्‍टम को अपनाना चाहिए जिसे वे 38 बार प्रयोग कर चुके हैं. और जब नासा ने एकादशी का दिन चुना तो उनका मिशन सफ़ल हुआ.

# भिड़े और पीएम मोदी कनेक्शन

साल 2014. पीएम मोदी चुनाव प्रचार कर रहे थे. अभी पीएम नहीं हुए थे. मोदी ने महाराष्ट्र के रायगड में मंच से भिड़े गुरु की तारीफ़ की थी.

रायगड में पीएम मोदी ने भिड़े के बारे में कहा था-

मैं भिड़े गुरुजी का बहुत आभारी हूं क्योंकि उन्होंने मुझे निमंत्रण नहीं दिया बल्कि उन्होंने मुझे हुक्म दिया था. मैं भिड़े गुरुजी को बहुत सालों से जानता हूं और हम जब समाज के लिए कार्य करने के संस्कार प्राप्त करते थे तब हमारे सामने भिड़े गुरुजी का उदाहरण प्रस्तुत किया जाता था. अगर कोई भिड़े गुरुजी को बस पर या रेल के डिब्बे में मिल जाए तो कल्पना नहीं कर सकता कि ये कितने बड़े महापुरुष हैं, कितने बड़े तपस्वी हैं. अंदाजा नहीं लगा सकता है.

# भिड़े गुरु का नासा कनेक्शन

काफ़ी वक़्त से संभाजी भिड़े के बारे में कई तरह की अफ़वाहें फ़ैली हुई हैं.

भांति-भांति की बातें कही जाती हैं इनके बारे में
भांति-भांति की बातें कही जाती हैं इनके बारे में

कहा जाता रहा है कि संभाजी भिड़े नासा की सलाहकार समिति में काम करते थे और उन्हें विज्ञान के क्षेत्र में 100 से ज़्यादा सम्मान मिल चुके हैं. संभाजी भिड़े एटॉमिक फिजिक्स में गोल्ड मेडलिस्ट हैं.

पोस्ट में बताया गया है कि भिड़े आम इंसान नहीं हैं, नासा में भी काम कर चुके हैं
पोस्ट में बताया गया है कि भिड़े आम इंसान नहीं हैं, नासा में भी काम कर चुके हैं

इसमें से कितने दावे सच हैं ये तो फैक्ट चेक का मामला है. और कई मीडिया संस्थानों ने किया भी है. ज़्यादातर मामले फ़र्जी बताए जाते हैं. लेकिन 1 जनवरी, 2018 को भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा के मामले में संभाजी और मिलिंद एकबोटे के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. पुणे के पिंपरी पुलिस स्टेशन में. संभाजी श्रीशिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान के संस्थापक हैं, वहीं मिलिंद हिंदू एकता अघाड़ी के अध्यक्ष हैं. इन दोनों पर हिंसा भड़काने का आरोप लगा था.

# वैसे एकादशी होती क्या है

हिंदू कैलेंडर की ग्यारहवीं तिथि को एकादशी कहते हैं. दरअसल, हिंदू मास में दो पक्ष होते हैं. शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष. शुक्ल पक्ष में चांद बढ़ता है, जिसके बाद पूर्णिमा आती है. और कृष्ण पक्ष में चांद घटता है, जिसके बाद अमावस्या आती है. दोनों पक्षों में एक-एक एकादशी आती है. खैर.

वैसे संभाजी को विवादित बयानों के लिए जाना जाता रहा है. एक बार उन्‍होंने नासिक में कहा था, ‘आम बहुत ताकतवर और पौष्टिक होते हैं. कुछ महिलाएं जिन्‍होंने मेरे बगीचे के आम खाए, उन्‍होंने बेटों को जन्‍म दिया है.’ भिड़े खुद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुरु भी कहते आए हैं.


वीडियो देखें:

मोदी सरकार के 100 दिनों का रिपोर्ट कार्ड, आर्टिकल 370, अर्थव्यवस्था किस हाल में हैं सब?|Episode 298

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

सारा अली खान के स्कूल के दिनों का वीडियो वायरल, देखकर पहचान नहीं पाएंगे

तारीफ़ भरे कमेंट्स की झड़ी लग गई है.

10 साल पहले हुई खुदाई में निकले 1600 साल पुराने 'प्रेमी' कंकालों से जुड़ा सच सामने आया

एक ऐसा सच जो प्रेम के बारे में आपकी सोच बदल देगा.

एक ही आदमी ने 1 मिनट में IRCTC पर 11 लाख रुपये के टिकट बुक किए, पुलिस सकते में!

एक साथ 426 टिकट बुक हुए, मतलब धांधली सॉलिड है.

कल पक्का पता चल जाएगा कि इसरो के चंद्रयान का क्या हुआ

नासा की ये मशीन खोलेगी सारे राज.

ICICI बैंक में अकाउंट है? अगर हां, तो ज़ोर का झटका बहुत ज़ोर से लगने वाला है

कैश जमा करवाना और निकालना भारी पड़ने वाला है.

360 km का सफर तय कर गोल्ड मेडल लेने पहुंची, मगर बुर्के की वजह से खाली हाथ लौटी

लड़की ने बुर्का पहना था, इसलिए मंच से लौटाया गया.

'इंशाअल्लाह' छोड़ने के बाद सलमान खान ने संजय लीला भंसाली पर चुप्पी तोड़ी

सलमान ने भंसाली की फिल्म छोड़ी थी, जिसके बाद दोनों में झगड़े की खबर आई थी.

32 साल के आदमी को बुड्ढा बनाकर अमेरिका भेजने वाले का पता चल गया है

फर्जी तरीके से अमेरिका भेजने के लिए 30 लाख रुपए लिए थे.

लोकल पत्रकार ने अनाज सड़ने की खबर दिखाई तो मुकदमा हो गया

डिपार्टमेंट का कहना है कि उनकी छवि खराब हुई है.

UP पुलिस ने जोश-जोश में बैलगाड़ी का चालान काट दिया!

खेत के सामने खड़ी थी बैलगाड़ी.