Submit your post

Follow Us

विदेशी मीडिया ने भारत सरकार की आलोचना की तो विदेश मंत्री ने अपनी टीम को काम पर लगा दिया!

ऑस्ट्रेलिया का एक अख़बार है ‘द ऑस्ट्रेलियन’. हाल ही में उसने भारत में कोविड-19 की स्थिति और स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी पर लिखा था –

Modi leads India into Viral Apocalypse

यानी – मोदी की वजह से भारत क़यामत की स्थिति में पहुंच गया है.

अख़बार ने प्रधानमंत्री मोदी को ‘भीड़ से प्यार करने वाला’ बताया. ये भी लिखा कि घमंड, उग्र-राष्ट्रवाद और अफ़सरों की अक्षमता ने मिलकर भारत में असाधारण स्तर का संकट खड़ा कर दिया है.

बाकी तमाम देशों का मीडिया भी भारत में बिगड़े हालातों को लेकर मुखर रहा और केंद्र सरकार के रवैये को इसके लिए ज़िम्मेदार ठहराया. अब देश के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपनी टीम को निर्देश दे दिए हैं कि विदेश मीडिया की इस तरह की कवरेज को ‘काउंटर’ करना है. विदेश मंत्री के अलावा बैठक में विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन, विदेश सचिव हर्ष श्रींगला भी मौजूद थे.

“विदेशी मीडिया एकतरफा रिपोर्टिंग कर रहा”

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक विदेश मंत्री ने 29 तारीख़ को तमाम भारतीय राजदूतों और उच्चायुक्तों से बात की. इस वर्चुअल मीटिंग में एस जयशंकर का कहना रहा कि विदेश मीडिया ने भारत में कोविड के हालातों पर जो रिपोर्टिंग की है, वो एकतरफा और भेदभाव से पूर्ण रही. विदेश मंत्री ने निर्देश दिए कि आगे इस तरह की रिपोर्टिंग होने पर तत्काल उसका जवाब दिया जाए और सरकार की तरफ से किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी जाए.

उन्होंने कहा कि संबंधित अधिकारी ये बात मजबूती से सामने रखें कि सरकार कोविड-19 के बीच किस तरह से ऑक्सीजन की कमी को पूरा कर रही है. ये बताएं कि कंसंट्रेटर, सिलेंडर, दवाइयां, वेंटिलेटर, वैक्सीन वगैरह की आपूर्ति पर कैसे ध्यान दिया जा रहा है.

जयशंकर बोले- दबाव में न आएं

इंडियन एक्सप्रेस ने मीटिंग में शामिल अधिकारियों के हवाले से लिखा है कि एस जयशंकर ने मीटिंग में स्पष्ट कर दिया कि अगर किसी देश का मीडिया भारत को लेकर नकारात्मक बात लिखता है तो उसके दबाव में आने की ज़रूरत नहीं है. बल्कि वहां मौजूद भारतीय प्रतिनिधियों को दोगुनी ताकत से भारत सरकार का पक्ष रखना चाहिए. विदेश मंत्री ने कहा कि कोविड एक अभूतपूर्व समस्या सामने आई है. इसके सामने बड़े-बड़े देशों के सिस्टम बैठ गए. इसलिए कोई भी ऐसा कतई न सोचे कि केवल भारत में ही स्थितियां ख़राब हुई हैं.

विदेशी मीडिया ने क्या लिखा था?

द ऑस्ट्रेलियन के अलावा ब्रिटिश अख़बार ‘द गार्डियन’ ने अपने संपादकीय में सीधे-सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार बताया है. अख़बार ने लिखा कि कोरोना से निपटने में भारत की विफ़लता का कारण मोदी का अति-आत्मविश्वास है.

टाइम मैगज़ीन ने लिखा- ‘ये नरक है. प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व की विफ़लता ने भारत का कोरोना संकट और गहरा कर दिया है.’

वॉशिंगटन पोस्ट ने लिखा कि इस तबाही से बचा जा सकता था. संक्रमण के खतरे के बीच स्टेडियम्स, कुंभ और चुनावी रैलियों की भीड़ ने सब बर्बाद कर दिया.


इंडिया में कोरोनावायरस से दो लाख से अधिक की मौत, विदेशी मीडिया ने क्या लिखा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.