Submit your post

Follow Us

हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर में बादल फटने और बाढ़ से 15 लोगों की मौत, दर्जनों लापता

जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बादल फटने और अचानक बाढ़ आने के कारण 15 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. इंडिया टुडे/आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश में मरने वालों की संख्या सात से बढ़कर नौ हो गई है. इनमें से सात मौतें लाहौल स्पीति और दो मौतें चंबा में हुई हैं. कम से कम पांच मृतकों के शव मिलने की पुष्टि एक सीनियर डिजास्टर मैनेजमेंट अधिकारी की तरफ से की गई है. कुछ लोगों के लापता होने की भी खबर है. उधर, जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने से 6-8 लोगों की मौत होने और दर्जनों के लापता होने की खबर है. ताजा अपडेट के मुताबिक, अमरनाथ में भी बादल फटा है. हालांकि वहां से किसी बड़े नुकसान की जानकारी नहीं आई है.

हिमाचल में भारी बारिश से बुरा हाल

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, बीते 24 घंटों में हुई भारी बारिश के कारण हिमाचल प्रदेश के कई इलाके बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. कुल्लू, चंबा और लाहौल स्पीति में तो बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. सरकार के सूत्रों ने कई मजदूरों के लापता होने की बात कही है. इन लोगों के अचानक आई बाढ़ के मलबे में फंसने की आशंका जताई गई है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल यानी एनडीआरएफ की टीमों को इन मजदूरों को रेस्क्यू कराने के लिए भेज दिया गया है. वहीं, भागा नदी का जलस्तर बढ़ने के बाद लाहौल स्पीति के दारचा गांव के लोगों को दूसरी जगह पर शिफ्ट किया गया है.

हिमाचल के कई हाइवे और लिंक रोड से जुड़े पुल बाढ़ के चलते क्षतिग्रस्त हुए हैं. भूस्खलन के कारण कई जगहों पर भारी ट्रैफिक जाम लग गया है. मनाली-लेह हाइवे के अलावा ग्रांफू-काजा हाइवे पर गाड़ियों की आवाजाही को रोक दिया गया है. कालका-शिमला और चंडीगढ़-मनाली हाइवे का ट्रैफिक भी लैंडस्लाइड के कारण प्रभावित हुआ है. हालात शिमला और मंडी जिले में भी अच्छे नहीं हैं. यहां कई वाहन भूस्खलन में दब गए.

landslide
शिमला में एक लैंडस्लाइट के बाद के दृश्य- (तस्वीरें- एएनआई)

रेलवे ट्रैक पर गिरा पेड़

हिमाचल प्रदेश में बारिश ने क्या कहर बरपाया है, इसका एक नमूना सोलन में देखने को मिला. यहां रेड अलर्ट के बीच लगातार हो रही बारिश के चलते कालका-शिमला वर्ल्ड हेरिटेज रेलवे ट्रैक पर काफी बड़ा पेड़ और मलवा गिर गया है. इसके चलते ट्रैक बंद हो गया है. आजतक को इस जगह का वीडियो मिला है, जिसमें पेड़ गिरने की वजह से ट्रैक पर रुकी एक ट्रेन साफ देखी जा सकती है. इस कारण यात्रियों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है. हालांकि रेलवे कर्मचारी मौके पर पहुंच गए हैं. उन्होंने पेड़ को काटने और मलवे को हटाने का काम शुरू कर दिया है.

heavy rain
हिमाचल प्रदेश के सोलन में रेलवे ट्रैक पर भारी पेड़ गिरा. (स्क्रीनशॉट्स- आजतक)

कश्मीर में 7 की मौत

कश्मीर की बात करें तो यहां किश्तवाड़ जिले के होनजार गांव में मंगलवार 27 जुलाई को बादल फटने से अचानक बाढ़ आ गई. इस घटना में किश्तवाड़ के 7 लोग मारे गए हैं. वहीं, 25 से 40 लोग लापता हो गए हैं. श्रीनगर में भी बारिश ने पिछले 18 सालों के सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं. आजतक संवाददाता अशरफ वानी ने बताया कि बांदीपोरा में भी बादल फटने की घटना हुई है. इससे जिले के कई पुल और सड़कों के अलावा खेती को भी नुकसान हुआ है. उधर, तेज बारिश के कारण चेनाब नदी का जलस्तर भी काफी बढ़ गया है. ऐसे में स्थानीय प्रशासन ने लोगों से नदी के पास ना जाने की अपील की है.

rain
भारी बारिश के कारण चेनाब नदी का जलस्तर बढ़ा. (तस्वीर- एएनआई)

किश्तवाड़ के डेवलेपमेंट कमिश्नर अशोक कुमार शर्मा ने समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कहा कि बादल फटने के बाद से एसडीआरएफ ने अब तक 5 लोगों के शव रिकवर किए हैं. अधिकारी ने बताया कि बादल फटने से आई बाढ़ में 6 घर बह गए. वहीं, सिविल डिफेंस और एसडीआरएफ के डायरेक्टर जनरल वीके सिंह ने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी दो टीमों को डोडा और उधमपुर जिले में भेजा गया है. इसके अलावा दो अन्य टीमों को जम्मू और श्रीनगर भेजने की तैयारी है.

बिजली गिरने और बादल फटने की घटनाएं क्यों बढ़ी हैं?

आजतक से जुड़े राम किनकर सिंह ने बादल फटने की घटनाओं में इज़ाफा होने की वजह जानने के लिए मौसम वैज्ञानिक सोमा सेन से बात की. उनका कहना है कि ये सब कुछ क्लाइमेट चेंज की वजह से हो रहा है. सोमा सेन ने कहा,

“कई शोधों से साफ हुआ है कि भारी बारिश, असमय बारिश या फिर बारिश ना होने की घटनाओं की फ्रीक्वेंसी के बढ़ जाने का क्लाइमेंट चेंज से सीधा संबंध है. जब भारी मात्रा में नमी वाले बादल एक जगह इकट्टठा होते हैं तो उनमें मौजूद बूंदो के भार की वजह से बादल की डेंसिटी बढ़ जाती है और अचानक तेज बारिश शुरू हो जाती है. इसे ही बादल फटना कहते हैं.”

बाढ़ और बादल फटने के अलावा बीते सालों में वज्रपात यानी बिजली गिरने की फ्रीक्वेंसी में भी इजाफा देखने को मिला है. इससे वज्रपात से होने वाली मौतों में भी बढ़ोतरी हुई है. इस बारे में वैज्ञानिक सोमा सेन ने बताया,

“वज्रपात दो तरह का होता है. पहला क्लाउड टू क्लाउड लाइटनिंग जो सालोंसाल चलती रहती है. दूसरा, क्लाउड टू ग्राउंड लाइटनिंग होती है. इसे ही आकाशीय बिजली कहते हैं. मिट्टी के साथ जब करेंट का इलेक्ट्रिकल डिस्चार्ज होता है, उसी समय वज्रपात होता है. पिछले 20 सालों में वज्रपात की घटनाएं बढ़ी हैं.”

सोमा सेन का कहना है कि जब भी वज्रपात हो तो सबसे बड़ा बचाव है किसी पक्के स्ट्रक्चर में सुरक्षा लेना. उन्होंने बताया कि बिजली गिरने के समय क्लिफ यानी किसी चट्टान के पास नहीं रहना चाहिए, क्योंकि ये आकाशीय बिजली को खींचने में मदद करती हैं. कोई स्वीमिंग पूल में है, या खेत सींच रहा है तो उसे पानी से तुरंत बाहर आ जाना चाहिए.


वीडियो- महाराष्ट्र में लगातार हो रही बारिश के चलते 136 लोगों की मौत 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.