Submit your post

Follow Us

महाराष्ट्र के रायगढ़ में ढही इमारत का मंज़र बेहद दर्दनाक था

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में 24 अगस्त को हुए बिल्डिंग हादसे में बचाव कार्य जारी है. हादसे में अब तक 12 लोगों की मौत हो चुकी है. शव मलबे से निकाले जा रहे हैं. कई लोग घायल भी हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ये बिल्डिंग सोमवार को भरभराकर गिर पड़ी थी.
रायगढ़ जिले के काजलपुरा इलाके में स्थित इस इमारत में 40 से 45 परिवार रहते थे. एनडीआरएफ की तीन टीमें पहुंचकर राहत-बचाव कार्य जारी रखे हैं. जानकारी के मुताबिक, हादसे के वक्त इमारत में 70 लोग फंसे थे. रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ और घटना स्थल पर स्थानीय पुलिस के साथ एनडीआरएफ की टीमें भेजी गईं.

महाराष्ट्र की घटना पर पीएम नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है. पीएमओ ने उनके हवाले से ट्वीट करते हुए लिखा, ‘महाराष्ट्र में रायगढ़ के महाड में बिल्डिंग गिरने की घटना से दुखी हूं. मेरी संवेदना उन परिवारजनों के साथ है जिन्होंने अपने प्रियजनों को इस घटना में खो दिया. मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल जल्द स्वस्थ हों. हर संभव सहायता करने के लिए स्थानीय अधिकारी और एनडीआरएफ की टीम त्रासदी स्थल पर मौजूद है’

# अब पुलिस जांच शुरू हुई

पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों के खिलाफ धारा 304, 337, 338 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है. इसमें इमारत के बिल्डर फारुख काजी, आर्किटेक्ट गौरव शाह, बिल्डिंग के आरसीसी सलाहकार बाहुबली धमाने, महाड नगर पालिका के कार्यकारी अधिकारी दीपक झिंझाड़ और बिल्डिंग इंस्पेक्टर शशिकांत दिघे को आरोपी बनाया गया है. आईपीसी की धारा 304 के तहत जुर्म सिद्ध होने पर कम से कम 10 साल से लेकर उम्र कैद तक की सजा का प्रावधान है.

इस संबंध में रायगढ़ की जिलाधिकारी निधि चौधरी ने बताया कि बिल्डिंग का निर्माण साल 2013 में पूरा हुआ था. साल 2013 में ही बिल्डिंग का निर्माण पूर्ण होने का सर्टिफिकेट दिया गया था. उन्होंने इमारत के गिरने के पीछे जर्जर हालत को वजह बताया.
रायगढ़ की इस इमारत में 40 फ्लैट थे. जिसमें लगभग 84 लोगों के रहने की बात कही जा रही है. हादसे में 60 लोग पूरी तरह सुरक्षित हैं. 24 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका जताई गई थी. इनमें से 19 लोगों को मलबे से निकाला जा चुका है. एनडीआरएफ और स्थानीय पुलिस ने मलबे से 11 लोगों के शव और आठ लोगों को जीवित बाहर निकाल लिया.

# मृतकों के परिजन का पांच लाख के मुआवजे का ऐलान

महाराष्ट्र सरकार की तरफ़ से हादसे में मारे गए लोगों के परिजन को 5 लाख रुपये की सहायता राशि दी जाएगी. घायलों को 50 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा. महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि हादसे में घर गंवाने वाले लोगों की मदद के लिए हम कैबिनेट मीटिंग में प्रस्ताव रखेंगे.


ये वीडियो भी देखें:

कानपुर: पुलिस लाइन्स के बैरक की छत गिरी, एक कॉन्स्टेबल की दबकर मौत हो गई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?

सलमान खान की रेकी करने वाला शार्प शूटर पकड़ा गया

जनवरी में रची गई थी सलमान खान की हत्या की साजिश!

रोहित शर्मा और इन तीन खिलाड़ियों को मिलेगा इस साल का खेल रत्न!

इसमें यंग टेबल टेनिस सेंसेशन का भी नाम शामिल है.