Submit your post

Follow Us

यूपी: वीरता के लिए पुलिस पदक से सम्मानित थाना प्रभारी पर रिश्वत का आरोप, केस दर्ज

बिजेंद्र पाल राणा. मेरठ के सदर बाजार पुलिस स्टेशन के प्रभारी निरीक्षक थे. पहली पहचान तो ये कि इन्हें वीरता के लिए पुलिस पदक से इसी साल 15 अगस्त को नवाजा गया था. लेकिन 15 दिन बाद वो अपनी बहादुरी की वजह से नहीं, बल्कि गलत कारणों से खबरों में हैं. रिश्वत के मामले में बिजेंद्र पाल राणा के खिलाफ FIR दर्ज की गई है.

बिजेंद्र पाल राणा को 25 मामलों में गंभीर अपराधों के आरोपी और दो लाख के इनामी शक्ति नायडू के एनकाउंटर के लिए वीरता पुरस्कार मिला था. ये एनकाउंटर मेरठ में पिछले साल हुआ था.

Rana Madel
15 अगस्त को सम्मानित किया गया था.

मेरठ के SSP प्रभाकर चौधरी ने मंगलवार, 31 अगस्त की शाम राणा और हेड कांस्टेबल मनमोहन के खिलाफ रिश्वत का मामला दर्ज किया था. आजतक के मेरठ संवाददाता उस्मान चौधरी की रिपोर्ट के मुताबिक, मेरठ के SSP की ओर से बनाई टीम ने सदर बाजार थाने के हेड कॉन्स्टेबल मनमोहन को 30 हज़ार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया. इसको आधार बनाकर सदर थाना के प्रभारी निरीक्षक बिजेंद्र पाल राणा को भी भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत आरोपी बनाया गया.

आरोप है कि सदर थाने के हेड कॉन्स्टेबल मनमोहन और सदर थाना प्रभारी निरीक्षक बिजेंद्र पाल राणा ट्रक चोरी के मामले में पूछताछ के लिए लाए गए खतौली के वकार को छोड़ने के एवज में 1 लाख की रिश्वत मांग रहे थे. खबर के मुताबिक, 50 हजार की रकम पहले ही हेड कॉन्स्टेबल मनमोहन को दी जा चुकी थी. 31 अगस्त को बाकी की रकम दी जानी थी.

खतौली निवासी वकार 31 अगस्त की शाम 4 बजे थाने के बाहर पोस्ट ऑफिस के सामने मनमोहन को बाकी रकम देने पहुंचा. लेकिन तभी एसपी सिटी की टीम ने मनमोहन को 30 हजार की रकम के साथ पकड़ लिया.

रिपोर्टर उस्मान चौधरी के मुताबिक, एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया,

एक व्यक्ति के द्वारा एक तहरीर दी गई, एफिडेविट दिया गया. जिसमें गंभीर आरोप लगाए गए थे थाना सदर बाजार के प्रभारी निरीक्षक और हेड कॉन्स्टेबल के बारे में कि इन लोगों ने उन्हें बिना किसी कारण के अवैध रूप से हिरासत में रखा. मारपीट की. छोड़ने के लिए रिश्वत मांगी गई. इसके बाद सदर थाने के हेड कांस्टेबल मनमोहन और थाना प्रभारी निरीक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया. हेड कॉन्स्टेबल मनमोहन को गिरफ्तार कर लिया गया है.

केस दर्ज होने के बाद बिजेंद्र पाल राणा गायब हो गए. इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि बाद में उन्होंने एक पुलिस वॉट्सऐप ग्रुप में पोस्ट किया कि वो इलाहाबाद हाईकोर्ट में दीवानी आवेदन (सीए) दायर करने के लिए प्रयागराज जा रहे हैं. लेकिन मेरठ के एसपी विनीत भटनागर ने कहा कि कोई भी पुलिसकर्मी एसएसपी की अनुमति के बिना सीए दाखिल करने के लिए शहर से बाहर नहीं जा सकता है. थाना प्रभारी को पकड़ने के लिए टीमें गठित कर दी गई हैं.

वहीं, बिजेंद्र पाल राणा का कहना है कि गिरफ्तार हेड कांस्टेबल ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के निराधार आरोप लगाए हैं. अगर इस संबंध में निष्पक्ष जांच की जाती है तो उन्हें खुशी होगी.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिजेंद्र पाल राणा और हेड कॉन्स्टेबल को निलंबित कर दिया गया है. मनमोहन को एंटी करप्शन कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है.

मेडल का क्या होगा?

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि राज्य के अधिकारियों के अनुसार कई स्तर की जांच प्रक्रिया के बाद पुलिस पदक के लिए नामों को अंतिम रूप दिया जाता है. मजिस्टिरियल और पुलिस पूछताछ के बाद आईजी या एडीजीपी-रैंक के अधिकारियों द्वारा यूपी डीजीपी को प्रत्येक नाम की सिफारिश की जाती है. डीजीपी मुख्यालय में एक समिति हरेक मामले की जांच करती है और इसे राज्य सरकार को भेजती है. राज्य स्तर पर एक अन्य समिति गृह मंत्रालय को सिफारिश करने से पहले मामले की फिर से जांच करती है.

वहीं, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि भ्रष्टचार का मुकदमा दर्ज होने के बाद इंस्‍पेक्‍टर बिजेंद्र राणा का पदक वापस हो सकता है. इसके लिए शासन को रिपोर्ट भेजी जाएगी.


UP चुनाव: मेरठ के इस व्यक्ति का नाम एक साल में तीन बार बदलने के पीछे दिलचस्प कहानी है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.