Submit your post

Follow Us

चार सौ बीस तो बहुत देखे होंगे, ये बाप-बेटे तो आठ सौ चालीस निकले

नटवरलाल की ठगी के किस्से तो आपने सुने होंगे जिसने ताजमहल और लालकिला तक को बेच दिया होगा. लेकिन दिल्ली में ऐसे बाप-बेटे पकड़े गए हैं जो चार सौ बीस नहीं आठ सौ चालीस निकले हैं. ये ठगी भी किसी छोटी-मोटी चीज के नाम पर नहीं कर रहे थे, नासा के नाम पर कर रहे थे. नासा माने नेशनल एरोनॉटिक्स स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन. अमेरिका का इसरो जो अंतरिक्ष की सारी खबरें रखता है.

दिल्ली के एक बाप-बेटे की जोड़ी ने नासा के नाम पर एक व्यापारी से करीब डेढ़ करोड़ रुपए ऐंठ लिए. बताया कि एक चमत्कारिक यंत्र बनाया है जो बिजली ही बिजली पैदा करेगा. नासा इसको अरबों-खरबों में खरीदने वाला है.

कौन हैं ये महानुभाव और क्या है पूरा मामला 

इन महान पिताजी का नाम है वीरेंद्र मोहन बराड़ और सुपुत्र का नाम है नितिन. पहले इनकी एक मोटर गैराज हुआ करती थी. पर समय का पहिया घूमा और गैराज के दिन लद  गए. फिर चालू हुआ इनका वैज्ञानिक दिमाग. जिसने इन्हें असली वाला वैज्ञानिक बनने का आइडिया दिया.

इन्होंने बना लिया एक चमत्कारिक डिवाइस. जिसका नाम था ‘राइस पुलर’. जो राइस मतलब चावलों को अपनी तरफ खींचता था. ऐसे-वैसे नहीं आसमान की बिजली से चार्ज होकर. जिस बिजली के झटके को बड़े-बड़े नहीं झेल पाते हैं उसको एक प्लेट झेलकर चावलों को अपने पास बुलाती थी. उनका दावा था कि इस डिवाइस को बिजली पैदा करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. नासा इसको खरीदने वाला है वो भी 37,500 करोड़ में. बस इसकी फाइनल टेस्टिंग बची है जिसके लिए पैसा चाहिए.

असल में ये प्लेट कुछ नहीं एक सादा सी कॉपर की प्लेट थी. प्लेट पर चुंबक की कोटिंग थी. जिन चावलों को ये खींचता था उन पर लोहे की कोटिंग होती थी. इस वजह से ये प्लेट इन चावलों को अपनी तरफ खींचता था.

मुर्गे कैसे फंसाते थे?

अब दोनों चालू तो थे ही. बड़े लोगों की पार्टी में साइंटिस्ट बनकर पहुंच जाते थे. वहां यूनिक डिवाइस होने की डीगें हांकते और रिसर्च के लिए थोड़ी फंडिग की जरूरत बताते. और अगर कोई इंटरेस्ट लेता तो उसको अपने जाल में फंसाते.

ऐसे ही दिल्ली के एक कपड़ा व्यापारी को फंसा लिया. लालच दिया कि दो करोड़ इनवेस्ट करो और पांच गुना कमाओ. स्कीम बढ़िया लगी तो वो पैसा लगाने को तैयार हो गया.

टेस्टिंग के लिए स्पेशल सूट खरीदा गया. पहाड़ और बारिश वाली जगह टेस्टिंग के लिए चुनी गई. नासा और डीआरडीओ के फर्जी वैज्ञानिक भी बुलाए गए. अलग-अलग जगह से फर्जी कॉल कर व्यापारी को भरोसा दिलाया गया कि सब सच में हो रहा है. धीरे-धीरे 1.43 करोड़ रुपये ठग लिए. लेकिन हर बार टेस्टिंग के दिन मौसम खराब की बात कहकर टेस्टिंग टाल दी जाती.

ये हैं दोनों ठग बाप-बेटे
ये हैं दोनों ठग बाप-बेटे लाल और काली टीशर्ट वाले.

व्यापारी को जब डाउट हुआ तो उसने पुलिस में शिकायत दी. पुलिस ने वैज्ञानिकों के ठिकाने पर छापा मारा तो पुलिस वाले भी दंग रह गए. घर में बाकायदा एक लैब बनी हुई थी और दोनों वैज्ञानिक प्रैक्टिकल कर रहे थे. लेकिन जब पुलिस ने पूछताछ की तो सारी साइंस धरी की धरी रह गई. मामला खुल गया. लाखों में विदेश से खरीदा सूट तो कनॉट प्लेस का 1200 रुपए का निकला. दोनों वैज्ञानिक ठग निकले.

पुराने खिलाड़ी हैं दोनों बाप बेटे

जी हां, ऐसे खेल दोनों बाप बेटे पहले भी खेल चुके हैं. पुलिस रिकॉर्ड़ के मुताबिक ये पहले भी ठगी कर चुके हैं. कभी दोमुंहे सांप तो कभी नागमणि के नाम पर. यहां तक की लोगों को जादुई शीशे भी इन वैज्ञानिकों ने बेचे हैं. पहले कुरूक्षेत्र में जेल भी काट चुके हैं. दोनों दिल्ली के मीराबाग में एक दम रईस बनकर रहते हैं. मकान का किराया ही 60 हजार रुपए है. दो बॉडीगार्ड, वो भी बंदूक वाले और ऑडी कार रखते थे. दिल्ली में सात ऑफिस भी हैं. और अंग्रेजी तो ऐसी फर्राटेदार कि अंग्रेज भी शर्मा जाए.

लेकिन अब ये पहुंच चुके हैं सलाखों के पीछे जहां अब अपने पूरे एक्सपेरीमेंट करेंगे.


ये भी पढ़ें-

बेंगलुरु में फ्लैट से 9,746 वोटर कार्ड मिले, पकड़वाने गई BJP लाइव वीडियो कर के फंस तो नहीं गई!

अमित शाह ने कर्नाटक में बीजेपी का सबसे बड़ा ‘दुश्मन’ खोज निकाला है!

वफादार मुसलमान ने बचाई थी महाराणा प्रताप की जान

सच जान लो : हल्दीघाटी की लड़ाई हल्दीघाटी में हुई ही नहीं थी

वीडियो- पड़ताल: क्या ट्रेन में बच्ची होने की वजह से BJP नेता को पब्लिक ने उतार दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.