Submit your post

Follow Us

गुजरात में कथावाचक मोरारी बापू पर पूर्व BJP विधायक ने हमले की कोशिश की

कथावाचक मोरारी बापू पर 18 जून को गुजरात के द्वारकाधीश मंदिर में कथित तौर पर हमले की कोशिश हुई. बीजेपी के पूर्व विधायक पबुभा माणेक पर इसका आरोप है. घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. मोरारी बापू मीडिया से बात कर रहे थे. तभी बीजेपी के पूर्व विधायक पबुभा माणके उनकी तरफ तेजी से बढ़े. मोरारी बापू के दाहिनी ओर बैठीं जामनगर की बीजेपी सांसद पूनम माडम बीच में आ गईं और उन्हें रोक लिया.

पूर्व विधायक का क्या कहना है?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पूर्व विधायक पबुभा माणेक का कहना है कि मोरारी बापू ने कृष्ण और बलराम पर आपत्तिजनक टिप्पणी की, जिस वजह से अहीर समाज में गुस्सा है. कहा जा रहा है कि माणेक नारे लगाते हुए कमरे में पहुंचे थे. मौके पर मौजूद लोगों ने पूर्व विधायक को पीछे धकेला और उन्हें समझाकर दूर ले गए.

हालांकि बाद में पूर्व विधायक ने कहा,

मैं बापू से बस ये कहना चाहता था कि उन्होंने ऐसे शब्द क्यों कहे और कहां से उन्हें ये सब पता चला? जब तक मैं उनके पास जाता उनके समर्थक ये सोचकर मुझे दूर ले गए कि मैं उन पर हमला करने वहां आया हूं.

सीएम विजय रूपाणी ने घटना की निंदा की

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मोरारी बापू पर हमले की कोशिश की निंदा करते हुए कहा,

भारत के गणमान्य संत पूज्य मोरारी बापू के साथ द्वारका में हुई घटना पर मैं दुःख व्यक्त करता हूं. आज भगवान द्वारकाधीश का दर्शन कर जब मोरारी बापू ने द्वारकाधीश और समग्र अहीर समाज से क्षमा मांग ली है, तब इसी बात को लेकर उनके ऊपर हमले का प्रयास अशोभनीय है और मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं.

गुजरात से राज्यसभा सांसद कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि मैं मोरारी बापू पर हमले की निंदा करता हूं. कोई किसी के विचार से असहमत हो सकता है लेकिन हमारे समाज में हिंसा का कोई स्थान नहीं है.

किस बात पर बवाल

पीटीआई के मुताबिक, मोरारी बापू ने कथित तौर पर कहा था कि श्रीकृष्ण अपनी ही जगह द्वारका में धर्म स्थापित करने में नाकाम रहे. कथित तौर पर उन्होंने बलराम को शराब से जोड़ा था. विवाद के बाद मोरारी बापू ने माफी भी मांगी थी.

पबुभा माणेक कौन हैं?

पबुभा माणेक द्वारका के पूर्व विधायक हैं. वो 1990 से लेकर अब तक सात बार विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं. 2017 में उनके चुनाव को हाईकोर्ट में कांग्रेस नेता मेरामन गोरिया की तरफ से चुनौती दी गई. आरोप लगा कि उन्होंने चुनाव में ग़लत जानकारी दी. हाई कोर्ट ने पबुभा माणेक को डिसक्वालिफाई कर दिया. पबुभा माणेक ने कहा कि वो राज्यसभा चुनाव में हिस्सा लेना चाहते हैं. वो हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट गए. लेकिन 17 जून को सुप्रीम कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी.


कोरोना वायरस को लेकर गुजरात हाईकोर्ट ने पहले राज्य सरकार की आलोचना की और अब तारीफ?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ऑक्सीजन सपोर्ट पर, दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किए गए

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.

सुशांत के पिता और उनके विधायक भाई ने डिप्रेशन को लेकर क्या कहा?

फाइनेंशियल दिक्कत की ख़बरों पर भी बोले.