Submit your post

Follow Us

ये अद्भुत पुलिस अफसर देख रहे हैं, जो है भी और नहीं भी है

एक फिल्म थी- ट्रांसफॉर्मर्स. उसमें एलियन्स थे, जो ट्रक बन जाते थे. न्यूज़ीलैंड में इससे थोड़ी मिलती-जुलती बात हुई. वहां आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (AI) से एक डिजिटल पुलिस अफसर बना दी गई है. माने, वो डिजिटल की दुनिया में तो है, पर असल में नहीं. इस अफसर का नाम है- ELLA (ऐला). इसका मतलब है- इलेक्ट्रॉनिक लाइफलाइक असिस्टेंट. माने ऐसी इलेक्ट्रॉनिक सहयोगी, जो जीवंत लगे. इसको यूं समझिए कि ऐमजॉन की एलेक्सा को आवाज़ के साथ-साथ एक इंसानों जैसा चेहरा भी मिल जाए. आप उसे स्क्रीन पर देख सकेंगे. जो पूछेंगे, उसका जवाब भी मिलेगा.

ऐला हिस्सा है न्यूज़ीलैंड पुलिस की नई डिजिटल सेवा का. इसके पीछे की मंशा है न्यूज़ीलैंड पुलिस फोर्स को ज़्यादा से ज़्यादा आधुनिक बनाना. पूरी दुनिया स्मार्टफोन पर पहुंच गई है. ऐसे में न्यूज़ीलैंड पुलिस अपनी इस डिजिटल सेवा के मार्फत लोगों से जुड़ने की कोशिश कर रही है.

‘ऐला’ से बात कैसे हो सकेगी?

कई मॉल में देखा होगा आपने. एक डिजिटल पैनल लगा होता है, जहां टाइप करके आप उस मॉल की किसी दुकान का लोकेशन जान सकते हैं. इसको एक तरह का ‘किओस्क’ कहते हैं. न्यूज़ीलैंड पुलिस ने भी इसी तर्ज पर ऐला को तैयार किया है. वो पुलिस हेडक्वॉर्टर में लगे एक ‘किओस्क’ की डिजिटल स्क्रीन पर नज़र आएगी. इसे लाने का एक बड़ा मकसद पुलिस स्टेशनों पर भीड़ कम करना है. आमतौर पर पुलिस से जो सामान्य जानकारियां मांगते हैं लोग, वो बातें ऐला से भी पूछ सकते हैं.

बताया गया है कि ऐला सामने वाले के चेहरे के हावभाव परख लेगी. फिर उसके हिसाब से जवाब देगी. इस तरह कि किसी इंसान से बात करने का एहसास होगा. कुछ-कुछ वैसा ही, जैसा वीडियो कॉल पर बात करते हुए होता है.

AI के बारे में जानना है, तो नीचे वाला पैराग्राफ ज़रूर पढ़िए

फेसबुक, ट्विटर जैसे प्लेटफॉर्म. बहुतेरे ऐप. टेस्ला जैसी गाड़ियां. आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (AI) को लेकर दुनियाभर में काफी काम हो रहा है. कुछ लोग काफी वाहवाही करते हैं. कुछ बड़ी सतर्कता और संशय जताते हैं.  AI के बारे में छिलका छुड़ाकर जानना है, तो ‘युवल नोआ हरीरी’ नाम के एक लेखक को पढ़िए-सुनिए. वो तो कहते हैं कि आने वाली दुनिया AI की ही है. कि जैसे इंसानी सभ्यता को एक वक़्त धर्म ने चलाया, वैसे ही आने वाले बखत में दुनिया को चलाने की ड्राइविंग सीट पर AI ही बैठा मिलेगा.


क्या चीन से भारत आ रहे पैकेज अपने साथ कोरोना वायरस ला रहे हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

भारतीय सेना ने नौ आतंकवादी मारे, हमारे भी तीन जवान शहीद

पिछले 24 घंटे यानी 4 से 5 अप्रैल के बीच सेना ने नौ आतंकवादियों को मार गिराया.

यूपी: लॉकडाउन में गश्त कर रही पुलिस पर मुस्लिमों ने फूल बरसाए

इस दौर में ऐसी तस्वीरें किसी भी धर्म-मज़हब से जुड़ी हों, आती रहनी चाहिए.

सहारनपुर में जमातियों को नॉनवेज न मिलने पर हंगामे की खबर का सच पुलिस ने खुद बताया

कुछ न्यूज पोर्टल ने इस तरह की खबर छापी थी, पुलिस का जवाब आया है.

यूपी: कोरोना पर बहस को लेकर एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या!

चाय की एक दुकान पर बहस हुई थी.

लॉकडाउन: जुम्मे की नमाज से रोका तो पुलिस पर पत्थर फेंके गए

घटना कर्नाटक के हुबली की है.

9 मिनट लाइट बंद करने से ग्रिड फेल? अधिकारी ने 'चक दे इंडिया' के कबीर खान वाला जवाब दिया है

‘एंड आई एम द सीईओ ऑफ सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई यूटिलिटी’

मध्य प्रदेश: जिस इलाके में डॉक्टर्स की टीम पर हमला हुआ, वहां 10 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं

पिछले दिनों इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था .

लॉकडाउन में बच्चों की भूख मिटाने रिक्शा से घर-घर जाकर मिड डे मील बांट रहे हैं मास्टरजी

सुबह निकलते हैं और शाम को घर लौटते हैं.

धूप में रहने और विटामिन लेने से कोरोना का खतरा नहीं होता? क्या कहते हैं AIIMS के डॉक्टर

मास्क, अख़बार और कई तरह के कन्फ्यूज़न के बारे में भी बताया.

नर्सों ने कहा- बिना PPE और N95 मास्क के कर रहे हैं काम, तो मंत्री ने यह जवाब दिया

मामला अमृतसर का है.