Submit your post

Follow Us

बवाल के बाद बदली गई रामायण एक्सप्रेस के वेटर्स की ड्रेस अब कैसी है?

रामायण एक्सप्रेस. धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इसी महीने शुरू की गई. ट्रेन की धार्मिक यात्रा शुरू हुए ज्यादा दिन नहीं हुए कि ये विवादों में घिर गई. विवाद का कारण है ट्रेन के वेटर्स की वेशभूषा. दरअसल ट्रेन में काम कर रहे वेटर्स की ड्रेस भगवा रंग की थी. ये बात संतों को रास नहीं आई. उन्होंने वेटर्स की ड्रेस भगवा होने पर कड़ी आपत्ति जता दी. यहां तक कि ट्रेन रोकने तक की धमकी दे दी गई. इसके चलते रामायण एक्सप्रेस के वेटर्स का ड्रेस कोड बदल दिया गया है. इसकी तस्वीर भी सामने आई है.

ramayan express
विरोध के चलते बदली गई रामायण एक्सप्रेस के वेटर्स की ड्रेस. (तस्वीर- इंडिया टुडे)

ट्रेन रोकने की धमकी दी थी

हिन्दुस्तान टाइम्स की ख़बर के अनुसार संतों ने कहा था कि अगर रामायाण एक्सप्रेस के वेटर्स का ड्रेस कोड नहीं बदला गया तो वे इसके विरोध में ट्रेन ही रोके देंगे. अखबार के मुताबिक संतों ने कहा कि ये ड्रेस हिंदू धर्म का अपमान है जिसे तुरंत रोका जाना चाहिए.

समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में उज्जैन अखाड़ा परिषद के पूर्व महासचिव अवधेश पुरी ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय रेल मंत्री को पत्र लिखकर ये मांग की है कि अगर ये ड्रेस कोड वापस नहीं लिया गया तो साधु-संत 12 दिसंबर को दिल्ली में ये ट्रेन रोकेंगे. अवधेश पुरी ने कहा था

“हमने दो दिन पहले रेल मंत्री को पत्र लिखकर रामायण एक्सप्रेस में भगवा रंग में भोजन परोसने वाले वेटर्स के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया है. साधु जैसी टोपी के साथ भगवा पोशाक पहनना और रुद्राक्ष की माला (हार) पहनना हिंदू धर्म और उसके संतों का अपमान है.”

लोगों ने क्या कहा?

भगवा ड्रेस कोड पर उज्जैन अखाड़ा परिषद से लेकर आम लोग भी नाराज दिखे. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें रामायण एक्सप्रेस ट्रेन के वेटर्स भगवा रंग की ड्रेस में दिखाई दिए. इस पर विवाद खड़ा हो गया. कुछ लोगों ने इसे हिंदू धर्म का अपमान बताया. अनिल तिवारी नाम के शख्स ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा,

रामायण एक्सप्रेस ट्रेन में रेस्टोरेंट में इस तरह से हिंदू संतों का अपमान न किया जाए. हिंदू संत की वेशभूषा में लोगों का जूठन उठाना बंद किया जाए. वैसे उम्मीद नहीं है कि कोई ब्राह्मण नेता मुंह खोलेगा, पर ये उनके लिए भी टेस्ट है. कुर्सी के लिए इतना तो ना गिरो.

गुंजेश गौतम झा नाम के एक यूजर ने लिखा,

“हिंदू भावनाओं की ठगी, विक्षिप्तता और मूर्खता का इससे बड़ा उदाहरण कोई और नहीं हो सकता. अयोध्या रामेश्वरम रामायण सर्किल एक्सप्रेस के रेस्टोरेंट में वेटर अब साधु-संत की वेशभूषा पहन यात्रियों के जूठन समेटेंगे. रेल मंत्री जी ये संतों की वेशभूषा का अपमान है. अतिशीघ्र बदलाव कीजिए.”

 

वहीं शूजा गांधी नाम के एक यूज़र ने कहा,

रामायण एक्सप्रेस ट्रेन की पहली यात्रा पर प्रसारित तस्वीरें और वीडियो घृणित और अस्वीकार्य हैं. हमारी भावनाओं को आहत करना, भगवा साधु संत के ड्रेस कोड में वेटर्स को देखना दर्दनाक है. इसे हटाना होगा.

क्या कहा रेलवे ने?

इंडिया टुडे के मोहित शर्मा की रिपोर्ट के मुताबिक ट्रेन के वेटर्स के ड्रेस कोड के खिलाफ विरोध बढ़ता देख रेलवे को इसमें बदलाव करना पड़ा है. इस पूरे मामले पर रेलवे की ओर से कहा गया है,

“रामायण यात्रा एक्सप्रेस के सर्विस स्टाफ की ड्रेस को पूरी तरह से बदल दिया गया है. अब सर्विस स्टाफ प्रोफेशनल कपड़ों में दिखेगा. असुविधा के लिए खेद है.”

भगवान राम से जुड़ी जगहें घुमाती है रामायण एक्सप्रेस

रामायण एक्सप्रेस लोगों को भगवान राम से जुड़ी जगहों पर घुमाने के लिए शुरू की गई है. ये ट्रेन दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से चलती है, और अयोध्या जाती है. वहां से ये लोगों को नंदीग्राम, जनकपुर, सीतामढ़ी होते हुए नेपाल ले जाती है. इसके बाद वापस ट्रेन से यात्रियों को काशी ले जाया जाता है. यहां से बसों के जरिए काशी के प्रसिद्ध जगहें घुमाने के बाद श्रृंगवेरपुर और चित्रकूट ले जाया जाता है.


कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा देने आए कैंडिडेट ने नक़ल करने का एडवांस जुगाड़ निकाला पर फंस गया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

कोरोना के केस बढ़ने के बीच DDMA की नई गाइडलाइंस जारी.

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP की तारीफ़ का सच.

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

BharatPe के लीगल नोटिस और अशनीर ग्रोवर के 'गाली' वाले ऑडियो पर क्या बोला Kotak?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल बेचने वाली चीनी कंपनी है.

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद ने कहा, "मुसलमानों से हिंदुओं को मरवाओगे क्या?"