Submit your post

Follow Us

CSK से रिलीज हुए 'धोनी के भाई' ने बड़ी बात बोल दी!

इंडियन प्रीमियर लीग. दुनिया की उन चंद लीग्स में से एक जहां कुछ साल में एक बार हर टीम को लगभग नए सिरे से तैयार करना ही पड़ता है. मेगा ऑक्शन से पहले हर बार टीम्स अपने कुछ ही प्लेयर्स रीटेन कर पाती है. बाकी के प्लेयर्स को एक बार फिर से ऑक्शन में जाना पड़ता है. IPL2022 से पहले होने वाले मेगा ऑक्शन से पहले हर टीम ज्यादा से ज्यादा चार प्लेयर्स ही रीटेन कर सकती थी.

और इस लिमिट के चलते कई टीम्स को अपनी पूरी कोर ही तोड़नी पड़ी. ऐसी टीम्स में मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स जैसी लीग की सबसे बड़ी टीम्स भी शामिल हैं. मुंबई और चेन्नई ने अपने कई अहम प्लेयर्स को गंवाया. और इन प्लेयर्स में चेन्नई के ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो भी शामिल हैं. सालों तक CSK के अहम प्लेयर रहे ब्रावो अब CSK का हिस्सा नहीं हैं.

# Auction में रहेंगे Bravo

हालांकि उन्होंने साफ कर दिया है कि वह अभी लीग से अलग नहीं हो रहे. ब्रावो का कहना है कि वह IPL2022 ऑक्शन में हिस्सा लेंगे. ब्रावो ने ANI से कहा,

‘CSK ने मुझे रीटेन नहीं किया लेकिन मैं ऑक्शन में रहूंगा. मैं 100 परसेंट ऑक्शन में रहूंगा. मुझे नहीं पता कि मैं किस टीम से जुड़ूंगा. जहां भाग्य ले जाएगा मैं वहीं जाऊंगा. मुझे नहीं पता कि CSK मुझे खरीदेगी या नहीं, मुझे कोई और टीम भी खरीद सकती है क्योंकि मैं ऑक्शन में रहूंगा.’

ब्रावो CSK के साथ चार IPL टाइटल जीत चुके हैं. वह लंबे वक्त से धोनी की टीम के कोर का हिस्सा रहे थे. हालांकि चोट और फॉर्म के चलते वह पिछले दो सीजन में कम ही मैच खेलते दिखे. और शायद इसी के चलते फ्रैंचाइज ने उनकी जगह मोईन अली को रीटेन करने का फैसला किया. हालांकि ब्रावो का कहना है कि वह सिर्फ एक व्यक्ति, महेंद्र सिंह धोनी के चलते CSK वापस आना चाहते हैं. ब्रावो ने कहा,

‘हम सभी जानते हैं कि धोनी और मैं एक दूसरे को ‘दूसरी मां से पैदा हुआ भाई’ बुलाते हैं. हमने एक मजबूत दोस्ती बनाई है. वह गेम का ग्लोबल अम्बेसडर है और उसने व्यक्तिगत तौर पर मेरे करियर में मदद की है. CSK में हम दोनों का महान इतिहास रहा है. हमने इस फ्रैंचाइज को सबसे ज्यादा दबदबे वाली फ्रैंचाइज बनाने में मदद की है और यह इतिहास की किताबों में हमेशा ही रहेगा. हमारी दोस्ती मजबूत है और यह बाकी सारी चीजों से ज्यादा महत्वपूर्ण है.’

बता दें कि CSK ने IPL2022 से पहले महेंद्र सिंह धोनी, रविंद्र जडेजा, रुतुराज गायकवाड़ और मोईन अली को रीटेन किया है. टीम ने ब्रावो के साथ फाफ डु प्लेसी को भी रिलीज कर दिया.


रविचंद्रन अश्विन जल्द ही कपिल-कुंबले के इन रिकॉर्ड्स को तोड़ देंगे!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जानिए CDS बिपिन रावत के साथ हेलिकॉप्टर में कौन-कौन सवार था?

जानिए CDS बिपिन रावत के साथ हेलिकॉप्टर में कौन-कौन सवार था?

क्रैश हुए हेलिकॉप्टर में कुल 14 लोग मौजूद थे

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'