Submit your post

Follow Us

बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ट्विटर पर फेक न्यूज से नफरत फैला रहे थे, दिल्ली पुलिस ने हड़का दिया

पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी के सांसद प्रवेश वर्मा. दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान विवादित बयानों के बाद चर्चा में आए थे. अब फिर चर्चा में हैं. उन्हें दिल्ली पुलिस ने ट्विटर पर झिड़क दिया है. क्यों? उन्होंने गुरुवार, 14 मई को अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया और दावा किया कि लॉकडाउन के दौरान मस्जिद में बड़ी संख्या में लोग नमाज़ पढ़ रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने इसे फेक बताया. डीसीपी ईस्ट दिल्ली के ट्विटर हैंडल से इस जवाब के बाद प्रवेश वर्मा ने अपना ट्वीट डिलीट कर लिया.

प्रवेश वर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा,

कोई भी धर्म कोरोना वायरस के चलते इन हरकतों की इजाज़त देता है? लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की पूर्ण तरह से धज्जियां उड़ा दीं. जिन मौलवियों की तनख्वाहें बढ़ा रहे थे केजरीवाल, उनकी तनख्वाहें काट दो, ये हरकतें अपने आप रुक जाएंगी या आपने दिल्ली को नष्ट करने की कमस खा ली है?

प्रवेश वर्मा का ट्वीट जो उन्होंने डिलीट कर लिया है.
प्रवेश वर्मा का ट्वीट जो उन्होंने डिलीट कर लिया है.

‘अफवाह फैलाने से पहले तथ्यों की जांच करें’

डीसीपी ईस्ट दिल्ली की ओर से प्रवेश वर्मा के ट्वीट पर जवाब दिया गया,

ये पूरी तरह से झूठ है. अफवाह फैलाने के लिए दुर्भावनापूर्ण इरादे से इस पुराने वीडियो का इस्तेमाल किया जा रहा है. कृपया अफवाह फैलाने और पोस्ट करने से पहले तथ्यों की जांच करें.

प्रवेश वर्मा के ट्वीट पर डीसीपी ईस्ट दिल्ली का जवाब. फोटो: ट्विटर स्क्रीनशॉट
प्रवेश वर्मा के ट्वीट पर डीसीपी ईस्ट दिल्ली का जवाब. फोटो: ट्विटर स्क्रीनशॉट

आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने दिल्ली पुलिस की बात का हवाला देते हुए कहा,

भाजपा नेताओं को शर्म आनी चाहिए कि वो इस दौर में नफरत और अफवाहें फैला रहे हैं.

सफाई में प्रवेश वर्मा क्या बोले

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, प्रवेश वर्मा ने कहा,

किसी ने मुझे ट्वीट भेजा था. जब मुझे वीडियो की सच्चाई पता चली तो मैंने उसे डिलीट कर दिया.

डीसीपी (ईस्ट) जसमीत सिंह ने कहा, ‘ये वीडियो चार-पांच दिनों से चल रहा है और मैं लोगों को बता रहा हूं कि ये फेक है. अब लोग जागरूक हैं. हम कोई ऐक्शन नहीं ले रहे हैं.’

दिल्ली चुनाव में विवादित बयान दिए थे

प्रवेश वर्मा ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान कई विवादित भाषण दिए थे. जनवरी, 2020 में उन्होंने शाहीन बाग प्रदर्शन को लेकर कहा था,

शाहीन बाग़ में लाखों लोग हैं. दिल्ली के लोगों को सोचना होगा और फैसला लेना होगा. ये लोग आपके घरों में घुसेंगे. आपकी बहन-बेटियों का रेप करेंगे, उन्हें मारेंगे. आज समय है. कल मोदी जी और अमित शाह आपको बचाने नहीं आएंगे.

इसके अलावा उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तुलना आतंकवादी से कर दी थी. प्रवेश वर्मा के चुनाव प्रचार पर चुनाव आयोग ने रोक भी लगाई थी. बीजेपी को दिल्ली चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था.


कोरोनावायरस: दिल्ली प्रशासन को लोगों ने मरते मजदूरों की याद दिलाकर रगेद दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी: औरैया में दो ट्रक टकराने से 24 मज़दूर मारे गए, योगी ने कई पुलिसवालों को सस्पेंड किया

पीएम मोदी ने घटना पर शोक जताया है.

घर-घर खाना पहुंचाने वाली ये कंपनी 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है

राहत वाली बात ये है कि छह महीने तक आधी सैलरी मिलती रहेगी.

बंगाल में हफ्तेभर से क्या बवाल चल रहा है, जिसमें 129 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं

‘तुम कोरोना फैला रहे हो’ कहकर हमला किया, हिंसा भड़की.

लंबे वक्त तक क्रिकेट के नक्शे पर पाकिस्तान को जिंदा रखा था इस जोड़ी ने

वो दिन, जब मिस्बाह-उल-हक़ और यूनिस खान ने क्रिकेट को अलविदा कहा

कश्मीर : चेकप्वाइंट पर गाड़ी नहीं रोकी तो आम नागरिक को CRPF ने गोली मार दी?

क्या है घटना का सच?

रेलवे ने टिकट कटा चुके लोगों को बड़ा झटका दिया है

इसका श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर क्या असर पड़ेगा?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?