Submit your post

Follow Us

दिल्ली में 22 साल के लड़के ने पिता के 50 टुकड़े किए और सूटकेस में भरकर फेंकने जा रहा था

5
शेयर्स

साल 1930 में अमेरिका में एक सीरियल किलर पकड़ा गया था. नाम था उसका कार्ल पैन्ज़्रम. पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार किया तब उसने अपने ज़ुर्म को कबूलते हुए कहा था- I believe the only way to reform people is to kill them. जिसका हिंदी तर्जुमा है- मेरा मानना ​​है कि लोगों को सुधारने का सिर्फ एकमात्र तरीका है- उन्हें मार देना.

साल 1930 में गिरफ्तार होने के बाग सीरियल किलर कार्ल पैन्ज़्रम ने ये बयान कोर्ट में दिया था.
साल 1930 में गिरफ्तार होने के बाग सीरियल किलर कार्ल पैन्ज़्रम ने ये बयान कोर्ट में दिया था.

दिल्ली में एक बेटे ने अपने पिता की हत्या कर दी है. जो 1930 के उस कातिल की ही याद दिलाता है क्योंकि हत्यारे बेटे ने जुर्म कबूलते हुए कहा है:

मेरे पिता अकसर मुझे डांटा करते थे इसीलिए मैंने उनकी हत्या कर दी.

अब ज़रा इस पर सोचिए कि एक 22 साल के बेटे ने अपने पिता की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी क्योंकि वो उसे डांटते थे. अगर उसे पिता की डांट पसंद नहीं थी तो वो घर छोड़ सकता था, पिता को समझा सकता था. लेकिन उसने पिता की हत्या कर दी.

इस हत्या के पीछे और क्या वजह हो सकती है, ये जांच का विषय है लेकिन शाहदरा की डीसीपी मेघना यादव के बयान से स्थिति कुछ ऐसी ही बन रही है.

अब पूरी कहानी समझिए. ये बात 21 मई की है. जब दिल्ली के शाहदरा इलाके में 50 साल के संदेश अग्रवाल को उनके भाई और बहन ढूंढ रहे थे. लेकिन काफी ढूंढने के बाद वो नहीं मिले. तभी उनकी नज़र संदेश के बड़े बेटे अमन पर पड़ी. अमन अपने घर से बैग से कुछ सामान लेकर निकल रहा था. संदेश के भाई को जब शक हुआ तो उसने पुलिस को इस बात की जानकारी दी.

कुछ ही देर में पुलिस मौके पर पहुंची. बैग की तलाशी ली, तो उसमें संदेश की कई टुकड़ों में लाश मिली. संदेश का बड़ा बेटा अमन लाश को ठिकाने लगाने के लिए जा रहा था. पुलिस ने अमने के एक दोस्त को भी गिरफ्तार किया है. जबकि उसके तीन दोस्त मौका देखकर पहले ही फरार हो गए.

मृतक के भाई के मुताबिक संदेश की पत्नी, 2 बेटे और एक बेटी है. और ये हत्या प्रॉपर्टी के लिए की गई है. संदेश के भाई के मुताबिक वे पहले ही अपनी आधी प्रॉपर्टी अपने परिवार के नाम कर चुके थे. लेकिन  जिस प्रॉपर्टी में वो कॉस्मेटिक की दुकान चला रहे थे. उसे लेकर परिवार में अकसर लड़ाई होती थी. संदेश के भाई के मुताबिक उनका बड़ा बेटा वो दुकान हासिल करना चाहता था, लेकिन संदेश उस दुकान को नहीं दे रहे थे. विवादित दुकान को लेकर कोर्ट में केस भी चल रहा है.

संदेश के भाई के मुताबिक उसका परिवार जब छुट्टी मनाने बाहर गया हुआ था तभी बेटे ने मौका देखकर उनकी हत्या कर दी. संदेश के भाई के मुताबिक उनकी हत्या सोमवार की रात ही कर दी गई होगी. जिसके बाद मंगलवार को वो लाश को ठिकाने लगाने की कोशिश करने में पकड़ा गया. पुलिस अब मामले की छानबीन कर रही है. साथ ही परिवार के बाकी लोगों से भी पूछताछ कर रही है.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या मुखर्जी नगर में रहने वाले स्टूडेंट्स को जबरन छुट्टी पर भेज रही है दिल्ली पुलिस?

लोग इसे CAA प्रोटेस्ट से जोड़कर देख रहे हैं.

यूपी : बिजनौर के गांववालों ने बताया, 'पुलिस घरों में घुसकर मुस्लिमों को प्रताड़ित कर रही है'

दो लड़कों की मौत, और एक भीड़ से भरी हुई जेल.

पहले CAA आएगा फिर NRC, ये हम नहीं अमित शाह कई बार कह चुके हैं, ये रहे सबूत

लेकिन कानून मंत्री कह रहे हैं ऐसा कोई प्लान नहीं है.

CAA Protest: RJD के बिहार बंद में हिंसक प्रदर्शन की खबर

आम जनता को परेशान करने के वीडियो सामने आए.

उन्नाव रेप केस : पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट ने क्या सजा दी है?

25 लाख रुपए का मुआवजा भी देना होगा.

CAA PROTEST: जामा मस्ज़िद के बाहर भीम आर्मी का प्रदर्शन, अमित शाह के घर के बाहर प्रोटेस्ट में शर्मिष्ठा मुखर्जी अरेस्ट

आज देश में कहां पर क्या हो रहा है?

पूरे देश में नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन, कई नामी लोग हिरासत में

और लोग पूछ रहे, "सब चंगा सी?"

जयपुर सीरियल बम ब्लास्ट के फैसले में एक आरोपी को क्यों छोड़ा गया?

इस ब्लास्ट में 71 लोगों की जान गई थी और 185 ज़ख्मी हुए थे.

कोर्ट ने रतन टाटा का मूड खराब कर दिया, वापिस आ गए साइरस मिस्त्री

और अब टाटा समूह जाएगा सुप्रीम कोर्ट!

जामिया प्रोटेस्ट: पुलिस की FIR में कांग्रेस के पूर्व MLA समेत इन 6 लोगों के नाम हैं

आरोप है कि हिंसा से दो दिन पहले से वो लोगों को भड़का रहे थे.