Submit your post

Follow Us

दिल्ली में 22 साल के लड़के ने पिता के 50 टुकड़े किए और सूटकेस में भरकर फेंकने जा रहा था

1.36 K
शेयर्स

साल 1930 में अमेरिका में एक सीरियल किलर पकड़ा गया था. नाम था उसका कार्ल पैन्ज़्रम. पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार किया तब उसने अपने ज़ुर्म को कबूलते हुए कहा था- I believe the only way to reform people is to kill them. जिसका हिंदी तर्जुमा है- मेरा मानना ​​है कि लोगों को सुधारने का सिर्फ एकमात्र तरीका है- उन्हें मार देना.

साल 1930 में गिरफ्तार होने के बाग सीरियल किलर कार्ल पैन्ज़्रम ने ये बयान कोर्ट में दिया था.
साल 1930 में गिरफ्तार होने के बाग सीरियल किलर कार्ल पैन्ज़्रम ने ये बयान कोर्ट में दिया था.

दिल्ली में एक बेटे ने अपने पिता की हत्या कर दी है. जो 1930 के उस कातिल की ही याद दिलाता है क्योंकि हत्यारे बेटे ने जुर्म कबूलते हुए कहा है:

मेरे पिता अकसर मुझे डांटा करते थे इसीलिए मैंने उनकी हत्या कर दी.

अब ज़रा इस पर सोचिए कि एक 22 साल के बेटे ने अपने पिता की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी क्योंकि वो उसे डांटते थे. अगर उसे पिता की डांट पसंद नहीं थी तो वो घर छोड़ सकता था, पिता को समझा सकता था. लेकिन उसने पिता की हत्या कर दी.

इस हत्या के पीछे और क्या वजह हो सकती है, ये जांच का विषय है लेकिन शाहदरा की डीसीपी मेघना यादव के बयान से स्थिति कुछ ऐसी ही बन रही है.

अब पूरी कहानी समझिए. ये बात 21 मई की है. जब दिल्ली के शाहदरा इलाके में 50 साल के संदेश अग्रवाल को उनके भाई और बहन ढूंढ रहे थे. लेकिन काफी ढूंढने के बाद वो नहीं मिले. तभी उनकी नज़र संदेश के बड़े बेटे अमन पर पड़ी. अमन अपने घर से बैग से कुछ सामान लेकर निकल रहा था. संदेश के भाई को जब शक हुआ तो उसने पुलिस को इस बात की जानकारी दी.

कुछ ही देर में पुलिस मौके पर पहुंची. बैग की तलाशी ली, तो उसमें संदेश की कई टुकड़ों में लाश मिली. संदेश का बड़ा बेटा अमन लाश को ठिकाने लगाने के लिए जा रहा था. पुलिस ने अमने के एक दोस्त को भी गिरफ्तार किया है. जबकि उसके तीन दोस्त मौका देखकर पहले ही फरार हो गए.

मृतक के भाई के मुताबिक संदेश की पत्नी, 2 बेटे और एक बेटी है. और ये हत्या प्रॉपर्टी के लिए की गई है. संदेश के भाई के मुताबिक वे पहले ही अपनी आधी प्रॉपर्टी अपने परिवार के नाम कर चुके थे. लेकिन  जिस प्रॉपर्टी में वो कॉस्मेटिक की दुकान चला रहे थे. उसे लेकर परिवार में अकसर लड़ाई होती थी. संदेश के भाई के मुताबिक उनका बड़ा बेटा वो दुकान हासिल करना चाहता था, लेकिन संदेश उस दुकान को नहीं दे रहे थे. विवादित दुकान को लेकर कोर्ट में केस भी चल रहा है.

संदेश के भाई के मुताबिक उसका परिवार जब छुट्टी मनाने बाहर गया हुआ था तभी बेटे ने मौका देखकर उनकी हत्या कर दी. संदेश के भाई के मुताबिक उनकी हत्या सोमवार की रात ही कर दी गई होगी. जिसके बाद मंगलवार को वो लाश को ठिकाने लगाने की कोशिश करने में पकड़ा गया. पुलिस अब मामले की छानबीन कर रही है. साथ ही परिवार के बाकी लोगों से भी पूछताछ कर रही है.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Delhi crime: Boy kills his father and chopped his body into slices for disposal later caught by police

टॉप खबर

लोकसभा में बहस हो रही थी, अमित शाह ने ओवैसी को चुप करा दिया!

किस बात पर अमित शाह ऊंगली दिखाकर बात करने लगे थे?

कहानी भारत के अंतरिक्ष मिशन चंद्रयान-2 की, जिसे दुनिया का कोई भी देश इतने सस्ते में नहीं बना पाया

एंड गेम में मारवेल ने जितने पैसे खर्च करके थानोस को मारा, उतने में तो भारत दो बार चांद पर पहुंच जाएगा.

मदरसे में मिला देसी कट्टा, जानिए क्या होता था

और अफवाहों पर बवाल हो गया

बच्चों के बलात्कार पर अब होगी फांसी, मोदी सरकार का फैसला

बहुत दिनों से बात चल रही थी, अब काम होगा!

भाजपा विधायक की बेटी ने दलित से शादी की तो बाप ने मरवाने के लिए गुंडे भेज दिए!

पति और पत्नी भागे-भागे वीडियो बना रहे हैं.

एक महीने से छात्र धरने पर हैं, किसी को परवाह नहीं

ये खबर हर स्टूडेंट को पढ़नी चाहिए.

बजट में सरकार ने अमीरों पर बंपर टैक्स लगाया

पेट्रोल-डीज़ल पर एक रुपया अतिरिक्त लेगी सरकार.

राहुल गांधी के पत्र की चार ख़ास बातें, तीसरी वाली में सारे देश की दिलचस्पी है

आज राहुल गांधी ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया.

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

"अफ़सोस! दिल से माफ़ नहीं कर पाएंगे."

नुसरत जहां के खिलाफ़ जिस फतवे पर बवाल मचा, वैसा फ़तवा जारी ही नहीं हुआ

निखिल से शादी के बाद सिन्दूर-साड़ी में संसद पहुंची थीं नुसरत