Submit your post

Follow Us

कोरोना से मरे आठ लोगों के शव एक ही गड्ढे में फेंक दिए, वीडियो वायरल हुआ तब जागे अधिकारी

सोशल मीडिया पर 30 जून से एक वीडियो काफी वायरल है. इसमें PPE किट पहने हुए कुछ लोग, काले बैग से लिपटे कुछ शवों को एक ही गड्ढे में डालते दिख रहे हैं. डालते क्या एक तरीके से फेंकते हुए दिख रहे हैं.

‘इंडिया टुडे’ से जुड़े नोलन पिंटो ने बताया कि ये घटना कर्नाटक के बेल्लारी की है. डिप्टी कमिश्नर एन.एस. नकुल ने बताया कि एडिशनल DC ने इस वीडियो की पुष्टि की है. करीब आठ कोरोना मरीज़ों के शवों को इस तरह से दफनाया गया था.

ज़िला प्रशासन ने माफी मांगी

मामला सामने आने के बाद बेल्लारी ज़िला प्रशासन ने माफी मांगी है. साथ ही जिस टीम ने इस तरह से शवों को दफनाया था, उसे हटाकर नई टीम बनाई गई है. ज़िला प्रशासन की तरफ से जारी हुए प्रेस नोट में कहा गया है,

‘कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. शवों को दफनाने की प्रक्रिया दिख रही है. बेल्लारी के एडिशनल डिप्टी कमिश्नर के तहत एक जांच का आदेश दे दिया गया है. ये वीडियो उन आठ मरीज़ों के शवों का है, जिनकी कोविड-19 से मौत हो गई थी.

वीडियो में कोरोना के मरीज़ों को दफनाने की प्रक्रिया के लिए जो प्रोटोकॉल या SOP बने हैं, उनका पालन होता तो दिख रहा है, जैसे बॉडी बैग्स वगैरह हैं, लेकिन जिस तरह से उन्हें दफनाया गया, उससे ज़िला प्रशासन भी दुखी है. इस अपमानजनक तरीके से शवों के साथ बर्ताव करने की हम आलोचना करते हैं. वो पूरी टीम जो इस प्रक्रिया में शामिल थी, उसे भंग कर दिया गया है और नई टीम बनाई गई है. इसके सभी लोग प्रशिक्षित हैं.’

इसके आगे ज़िला प्रशासन ने माफी मांगी. कहा,

‘इस घटना पर मरीज़ों के परिवार वालों से और बेल्लारी के लोगों से पूरा ज़िला प्रशासन माफी मांगता है.’

ज़िला प्रशासन ने बताया की मामले की जांच के आदेश दिए जा चुके हैं. वहीं वीडियो वायरल होने पर कांग्रेस नेता डी.के. शिवकुमार ने ट्वीट करके इस पर विरोध जताया. कहा,

‘कोविड-19 के मरीज़ों के शवों को इस तरह से बेल्लारी के एक गड्ढे में फेंका जा रहा है, ये काफी परेशान करने वाला है. क्या यही शिष्टाचार है? ये बताता है कि सरकार किस तरह से कोरोना संकट को हैंडल कर रही है. मैं सरकार से अपील करता हूं कि जल्द से जल्द इस पर एक्शन लिया जाए और ऐसा दोबारा न हो.’

बेल्लारी में अब तक कोरोना के 830 से ज्यादा मामले आ गए है. इनमें से करीब 29 लोगों की मौत हो चुकी है.


वीडियो देखें: अनलॉक 2.0 के लिए सरकार ने क्या गाइडलाइंस जारी की है, जान लीजिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

'कोरोनिल' पर पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह यू-टर्न मार गए!

पतंजलि का दावा था कि 'कोरोनिल' दवा कोरोना वायरस ठीक करने में कारगर होगी.

चीन के ऐप तो बैन हो गए, पर उन भारतीयों का क्या जो इनमें काम करते हैं

चीनी ऐप के कर्मचारियों में घबराहट है.

चीनी ऐप पर बैन के बाद चीन ने भारत के बारे में क्या बयान दिया है?

भारत को कैसी जिम्मेदारी याद दिलाई चीन ने?

लगभग 16 मिनट के राष्ट्र के नाम संदेश में नरेंद्र मोदी ने क्या काम की बात की?

संदेश का सार यहां पढ़िए.

भारत सरकार के चाइनीज़ ऐप बंद करने के स्टेप पर TikTok ने चिट्ठी में क्या लिखा?

अपने यूज़र्स के बारे में भी कुछ कहा है.

PM CARES के तहत बने देसी वेंटिलेटर इस हाल में मिले कि लौटाने की नौबत आ गई

और ख़राब वेंटिलेटर बनाने वालों ने क्या सफ़ाई दी?

भारत में चीन के 59 मोबाइल ऐप बैन, टिकटॉक, यूसी, वीचैट भी लपेटे में

कहा कि देश की सुरक्षा की ख़ातिर इन्हें बैन किया जा रहा है.

गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर के बाद हुई हिंसा के लिए CBI ने चार्जशीट में किस-किस का नाम जोड़ा है?

एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग को लेकर हिंसा हुई थी.

क्या अरुणाचल में चीन भारतीय सीमा में 50 किलोमीटर तक घुस गया है?

बीजेपी सांसद ने यह दावा किया है.

पतंजलि का कोरोनिल लॉन्च करने वाले डॉक्टर ने दवा की सबसे बड़ी गड़बड़ी बता दी!

मरीज़ों को केवल कोरोनिल नहीं दी गई थी.