Submit your post

Follow Us

20 दिन तक बच्ची स्कूल नहीं आई, स्कूल ने घर फ़ोन किया तो भावुक कर देने वाली कहानी पता चली

अमीरा ने स्कूल जाना बंद कर दिया था, क्योंकि उनकी मां की रोशनी चली गई थी. उनको ग्लौकोमा यानी काला मोतिया था. इसके बाद जब ये बात अमीरा के स्कूल वालों को पता चली, तो उन्होंने ऑपरेशन करवाया. इसके बाद उनकी हालत में थोड़ा सुधार हुआ.

पूरा मामला जानिए-

दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक, लड़की का नाम अमीरा है. इसके परिवार के कुछ लोग 15 साल पहले अफगानिस्तान के काबुल प्रांत में हुए बम धमाके में घायल हो गए थे. इससे घबराए अमीरा के परिवारवाले भारत आ गए थे. अमीरा के पापा का नाम अब्दुल मजीद है. वह गुरुग्राम के एक रेस्टोरेंट में बावर्ची का काम करने लगे. और तभी से ये परिवार शरणार्थी के रूप में यहां रह रहे हैं.

खैर. अमीरा की मां मेहरनिशां(42) को ग्लौकोमा यानि काला मोतिया था. इससे उनकी आंखों की रोशनी धीरे-धीरे कम हो गई थी. अब्दुल के रेस्टोरेंट चले जाने के बाद मेहरनिशां को संभालने वाला कोई नहीं होता था. इस वजह से अमीरा ने स्कूल जाना ही बंद कर दिया. अमीरा 6वीं क्साल की स्टूडेंट है.

20 दिन बीत गए थे, पर अमीरा स्कूल नहीं गई और न ही स्कूल में इस बात की जानकारी दी. फिर खुद स्कूलवालों ने अमीरा के घरवालों से कॉन्टैक्ट किया. और पता चला कि मां के आंख की रोशनी चले जाने के कारण अमीरा ने स्कूल बंद किया है. स्कूल मैनेजमेंट ने एक संस्था से सम्पर्क किया. और मेहरनिशां का सरकारी अस्पताल में ऑपरेशन करवाया. इससे उनको काफी मदद मिली है.

अमीरा अब स्कूल जा सकेंगी, क्योंकि उनकी मां अब पहले से बेहतर हो गई हैं. और ऐसा बहुत कम देखने-सुनने को मिलता है कि स्कूल अपन स्टूडेंट्स का ऐसा ख्याल भी रखता है. अमीरा की कहानी आपको भावुक जरूर कर देगी, पर आपको एक सीख भी जरूर देगी.


वीडियो देखें : उत्तर प्रदेश के इस घर की छत पर क्या तबाही बरस पड़ी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इज़रायल का दावा, कोरोना की दवा मिल गयी!

बस बड़े लेवल पर निर्माण का इंतज़ार.

कोरोनावायरस : आंकड़े की जांच हुई तो पश्चिम बंगाल का सच सामने आ गया!

पश्चिम बंगाल का कोरोना से जुड़ी मौतों का आंकड़ा छिपा रहा है?

दिल्ली में शराब पर सरकार की ‘स्पेशल फीस’

..ताकि ‘रहें सलामत पीने वाले’.

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

चेरिंग दोरजे दो महीने पहले ही अध्यक्ष बनाए गए थे.

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.

जानिए कौन हैं जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए पांच सुरक्षाकर्मी

सुरक्षाकर्मी आतंकियों के कब्जे से आम लोगों को निकालने के लिए गए थे.

दिल्ली में एक ही बिल्डिंग में मिले कोरोना के 58 पॉजिटिव मरीज

जिन्हें संक्रमण हुआ है वो लोग एक ही टॉयलेट इस्तेमाल करते थे.

कुलभूषण जाधव मामले में वकील हरीश साल्वे ने खोले पाकिस्तान के कई बड़े राज

भारतीय अधिवक्ता परिषद के ऑनलाइन लेक्चर में कई बातें बताईं.

लोकपाल मेंबर कोरोना पॉज़िटिव पाए गए थे, अब हार्ट अटैक से मौत हो गई

अप्रैल से एम्स में थे अजय कुमार त्रिपाठी.