Submit your post

Follow Us

समस्तीपुर के क्वारंटीन सेंटर में प्रधान पति ने मनोरंजन के लिए लौंडा नाच होने दिया, अब कटा बवाल

अलग-अलग शहरों में फंसे मजदूर अपने-अपने जिलों को लौट रहे हैं. लेकिन घर जाने देने से पहले उन्हें क्वारंटीन किया जा रहा है. कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए. बिहार के समस्तीपुर जिले में भी प्रवासी मजदूरों को रखने के लिए क्वारंटीन सेंटर बनाए गए हैं. इन्हीं में से एक है विभूतिपुर इलाके के देसरी कर्रख के एक स्कूल में बना क्वारंटीन सेंटर. यहां का एक वीडियो वायरल है.

वीडियो में कुछ आदमी औरतों के वेश में डांस करते दिख रहे हैं. बताया जा रहा है कि क्वारंटीन सेंटर में रह रहे कुछ मजदूर और नरेश सदा नाम के शख्स ने ग्राम प्रधान के पति से कार्यक्रम कराने का आग्रह किया था. इसका बाद वार्ड सदस्यों की सहमति से डांस का आयोजन किया गया.

प्रशासन क्या कह रहा?

जिला प्रशासन ने वीडियो की जांच के आदेश दिए हैं. क्षेत्र के कोरोना प्रभारी राजीव रंजन सिन्हा ने इंडिया टुडे से बात की. उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजन कराने की अनुमति किसी को नहीं है. अगर ऐसा हुआ है तो जांच कर दोषियों पर कारवाई की जाएगी. विभूतिपुर प्रखंड के सीओ ने स्कूल के प्रिंसिपल और केंद्र प्रभारी राजकिशोर से स्पष्टीकरण मांगा है.

जाते जाते जान लीजिए कि लौंडा नाच क्या होता है?

लौंडा नाच बिहार में लोकप्रिय है. काफी पुराना. इसमें लड़के, लड़कियों की ड्रेस पहनकर नाचते हैं. मिथिला क्षेत्र में इसे छकरबाजी कहते हैं, वहीं भोजपुर इलाके में ये लौंडा नाच के नाम से मशहूर है. इसमें नाचने वाले लड़कों की उम्र आमतौर पर 12 से 20 के बीच होती है. जब भी गांवों में कहीं मेला लगता है या कोई इवेंट होता है तो इस तरह के डांस के प्रोग्राम रखे जाते हैं. ऐसा नाच आपने ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ फिल्म में भी देखा होगा.


वीडियो – पड़ताल: क्या कांग्रेस नेता ने मंदिरों से सोना निकालकर सरकारी घाटा पूरा करने को कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.

लॉकडाउन 4: पर्सनल गाड़ी से शहर या राज्य के बाहर जाने के क्या नियम हैं?

केंद्र सरकार ने इस पर क्या कहा है?

कोरोना संक्रमण के बीच स्विगी ने बहुत बुरी खबर दी है

दो दिन पहले जोमैटो ने भी ऐसा ही ऐलान किया था.

ममता बनर्जी ने लॉकडाउन के नियमों में बहुत बड़ा बदलाव किया है

केंद्र सरकार की नई बात मानने से मना कर दिया!