Submit your post

Follow Us

कोरोना वायरस की वजह से नोएडा का स्कूल बंद, बच्चों की जांच की जा रही है

नोएडा का एक स्कूल कोरोना वायरस की वजह से बंद कर दिया गया है. दिल्ली और तेलंगाना में कोरोना का एक-एक केस पॉजिटिव पाया जा चुका है. जो स्कूल बंद हुआ है, उसका दिल्ली वाले केस से ही रिलेशन है. दरअसल, इटली से लौटे उस शख्स ने पार्टी दी थी. पार्टी में इस स्कूल के कई बच्चे गए थे.

यूपी के स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम इस बंद स्कूल का दौरा करने वाली है. अधिकारियों ने पार्टी में शामिल सभी लोगों को अलग-थलग रहने को कहा है. नोएडा के चीफ़ मेडिकल ऑफिसर ने कहा है कि सैंपल को जांच के लिए भेजा गया है. उन्होंने बताया-

मैं स्कूल में बैठा हूं. स्कूल की निगरानी की जा रही है. नोएडा में अब तक 40 लोगों का टेस्ट हुआ है. सब नेगेटिव है. पांच लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है. दो-तीन घंटों में रिपोर्ट आएगी. अफवाहों पर ध्यान न दें. हमारे पास सारी सुविधाएं हैं.

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 3,000 के आंकड़े को पार कर चुकी है. चीन में कोरोना वायरस से 42 और मौतें होने की सूचना है. इसी के साथ चीन में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2912 हो गई है. कोरोना के खतरे को देखते हुए ब्रिटिश एयरवेज ने 16 मार्च से 28 मार्च के बीच उड़ान भरने वाली 216 फ्लाइट को कैंसिल कर दिया है.

# स्कूल क्या कह रहा है

स्कूल ने अपने छात्रों के माता-पिता को चिट्ठी लिखी है. उसमें कहा गया है कि-

एक छात्र के अभिभावक को जांच में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है. उस अभिभावक का इलाज चल रहा है. स्कूल को ज़िला प्रशासन और चीफ़ मेडिकल ऑफिसर की तरफ़ से निर्देश जारी किए गए हैं. इस निर्देश के अनुसार स्कूल और उसके छात्रों को किसी भी तरह से डरने की ज़रुरत नहीं है. अभिभावक जो कोरोना वायरस से पीड़ित थे उनका इलाज चल रहा है. हम इन दिशा निर्देशों के तहत कई कदम उठा रहे हैं.

स्कूल 4 मार्च 2020 से 6 मार्च 2020 तक बंद रहेगा. स्कूल को पूरी तरह से सैनिटाइज़ किया जा रहा है. बच्चों को लाने ले जाने वाली बसें भी पूरी तरह से साफ़ की जा रही हैं.

साथ ही स्कूल के बच्चों और उनके अभिभावकों को ये कहा गया है कि अगर कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दें तो बच्चे को स्कूल ना भेजें. तुरंत अस्पताल ले जाएं.

Ministry of Health and Family Welfare का चौबीस घंटे चलने वाला हेल्पलाइन नंबर भी साझा किया है.
+91-11-23978046

# दिल्ली वाले मरीज की हालत स्थिर

दिल्ली का रहने वाला शख्स, जिसमें कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है, वो इटली से 25 फरवरी को भारत लौटा था. उस शख्स में तब तक कोरोना का कोई लक्षण नहीं था. उस समय तक इटली कोरोना से प्रभावित होने वाले बड़े देशों में शामिल भी नहीं था. इसलिए इस शख्स को अलग नहीं रखा गया था. जब उसे बुखार हुआ और सांस लेने में तकलीफ हुई, तो उसने संबंधित अधिकारियों को जानकारी दी. जानकारी के बाद शख्स को अलग-थलग रखा गया.

नोडल सेंटर राम मनोहर लोहिया अस्पताल के एक डॉक्टर ने मीडिया से बातचीत में कहा-

शख्स की हालत स्थिर है. उस पर नजर रखी जा रही है. हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं.

जिस विमान से शख्स भारत आया था, उस विमान के सभी क्रू मेंबर्स को 14 दिनों तक अपने घर में अलग रहने को कहा गया है. कोरोना के लक्षण आने पर उन्हें तुरंत अधिकारियों को बताने को कहा गया है.


वीडियो देखें:

कोरोना वायरस के दो केस दिल्ली और तेलंगाना में मिले, मोदी सरकार क्या बोली?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

भारत सरकार के चाइनीज़ ऐप बंद करने के स्टेप पर TikTok ने चिट्ठी में क्या लिखा?

अपने यूज़र्स के बारे में भी कुछ कहा है.

PM CARES के तहत बने देसी वेंटिलेटर इस हाल में मिले कि लौटाने की नौबत आ गई

और ख़राब वेंटिलेटर बनाने वालों ने क्या सफ़ाई दी?

भारत में चीन के 59 मोबाइल ऐप बैन, टिकटॉक, यूसी, वीचैट भी लपेटे में

कहा कि देश की सुरक्षा की ख़ातिर इन्हें बैन किया जा रहा है.

गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर के बाद हुई हिंसा के लिए CBI ने चार्जशीट में किस-किस का नाम जोड़ा है?

एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग को लेकर हिंसा हुई थी.

क्या अरुणाचल में चीन भारतीय सीमा में 50 किलोमीटर तक घुस गया है?

बीजेपी सांसद ने यह दावा किया है.

पतंजलि का कोरोनिल लॉन्च करने वाले डॉक्टर ने दवा की सबसे बड़ी गड़बड़ी बता दी!

मरीज़ों को केवल कोरोनिल नहीं दी गई थी.

पैंगोंग और गलवान के बाद लद्दाख के इन इलाकों में चीन नई मुसीबत खड़ी कर रहा है

भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है.

राजस्थान में महाराणा प्रताप को लेकर फिर से हंगामा क्यों हो रहा है?

फिर से राजस्थान बोर्ड का सिलेबस चर्चा में है.

पतंजलि ने खांसी-सर्दी की दवा के लाइसेंस पर 'कोरोना की दवा' बना दी!

जारी हो गया है नोटिस

जिस वीडियो में भारत-चीन के सैनिक एक-दूसरे पर मुक्के बरसा रहे हैं, उसका सच क्या है?

वीडियो कब का है, कहां का है?