Submit your post

Follow Us

डॉक्टरों की सबसे बड़ी संस्था IMA ने कोरोना पर सरकार को खूब सुनाया है!

IMA यानी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की आलोचना की है. कहा है कि वो इस मंत्रालय की सुस्ती को देखकर हैरान है. 8 मई को IMA ने एक बयान जारी किया. इसमें बताया कि उसने, केंद्र सरकार से पूर्ण लॉकडाउन की मांग की थी. लेकिन सरकार ने उनके प्रस्ताव को कूड़ेदान में डाल दिया. IMA ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को लिखा था कि वह नींद से जागे और चुनौतियों का सामना करे. IMA ने आरोप लगाया है कि उनके सदस्यों और चिकित्सा क्षेत्र के विद्वानों की सलाह को भारत सरकार ने दरकिनार कर दिया.

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, भारत में डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों का सबसे बड़ा संगठन है. IMA ने अपने एक बयान में कहा है कि कोरोना के कारण जो संकट पैदा हुआ है, उससे निपटने में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ‘सुस्त’ रहा है.

संगठन ने कहा कि वो लगातार पूर्ण लॉकडाउन की मांग कर रहा है, ताकि स्वास्थ्य सुविधाओं को संभलने का वक्त मिल सके. साथ ही लॉकडाउन से ही संक्रमण के फैलने की चेन को तोड़ा जा सकेगा. IMA ने कहा कि केंद्र सरकार ने लॉकडाउन लगाने की सलाह को नहीं माना और नतीजा ये है कि रोजाना करीब 4 लाख नए केस सामने आ रहे हैं, इसके अलावा मॉडरेट से गंभीर मामलों की तादाद करीब 40 प्रतिशत तक बढ़ गई है. कुछ राज्यों ने 10 से 15 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है लेकिन पूरे देश में लॉकडाउन जरूरी है ताकि संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सके.

India Covid
भारत में हर दिन कोविड से हज़ारों लोगों की मौत हो रही है. (तस्वीर: एपी)

IMA ने कहा कि कोरोना को लेकर जो भी फैसले लिए जा रहे हैं उनका जमीनी हकीकत से कोई लेना देना नहीं है. ऊपर जो लोग बैठे हैं वह जमीनी हकीकत को समझने के लिए तैयार ही नहीं हैं और इन बातों को ध्यान में लिए बगैर ही फैसले किए जा रहे हैं.

ऑक्सीजन की कमी को लेकर IMA ने कहा कि ऑक्सीजन का हर दिन संकट गहरा हो रहा है और लोगों की मौत हो रही है. इस बात से डॉक्टरों और और मरीजों में पैनिक भी हो रहा है. देश में ऑक्सीजन का प्रोडक्शन पर्याप्त है लेकिन डिस्ट्रीब्यूशन में दिक्कतें सामने आ रही हैं. इसके अलावा संगठन ने आंकडों में पारदर्शिता रखने को कहा है. IMA ने कहा कि पहली वेव में हमने 756 डॉक्टर खो दिए और इस वेव में अभी तक 146 डॉक्टरों की मौत हो गई है. वहीं अस्पतालों में हो रही सैकड़ों मौतों को गैर कोविड मौत बताया जा रहा है.


वीडियो- कोरोना की दूसरी लहर से पहले तैयारी का समय था फिर क्यों चूकी मोदी सरकार?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

'ट्रीटमेंट अच्छा मिल जाता तो मैं भी बच जाता' आखिरी पोस्ट लिखने वाले यूट्यूबर राहुल वोहरा की मौत

'ट्रीटमेंट अच्छा मिल जाता तो मैं भी बच जाता' आखिरी पोस्ट लिखने वाले यूट्यूबर राहुल वोहरा की मौत

कोरोना संक्रमित थे, फेसबुक पोस्ट के जरिए मांगी थी मदद.

किसी को बिना बताए अस्पताल से कहां गायब हो गए कोरोना के 23 मरीज?

किसी को बिना बताए अस्पताल से कहां गायब हो गए कोरोना के 23 मरीज?

मामला दिल्ली के हिंदूराव अस्पताल का है.

बिहार: पप्पू यादव को BJP नेता के बाद अब कहां मिली एंबुलेंस जो खड़े-खड़े सड़ रही थीं

बिहार: पप्पू यादव को BJP नेता के बाद अब कहां मिली एंबुलेंस जो खड़े-खड़े सड़ रही थीं

जिस नेता ने सांसद निधि से एंबुलेंस खरीदी थी, उन्होंने पप्पू यादव को धन्यवाद क्यों दिया.

हिमंत बिस्व सरमा होंगे असम के नए मुख्यमंत्री, 10 मई को लेंगे शपथ

हिमंत बिस्व सरमा होंगे असम के नए मुख्यमंत्री, 10 मई को लेंगे शपथ

पिछले एक हफ्ते से सीएम को लेकर सस्पेंस बना हुआ था.

गुजरात में अखबारों के आधे पन्‍ने शोक संदेशों से भरे पड़े हैं!

गुजरात में अखबारों के आधे पन्‍ने शोक संदेशों से भरे पड़े हैं!

भावनगर के अखबार में एक दिन में 200 से अधिक शोकसंदेश प्रकाशित हुए हैं.

कोरोना पर रिसर्च छापने वालों ने मोदी सरकार की जमकर क्लास लगा दी है!

कोरोना पर रिसर्च छापने वालों ने मोदी सरकार की जमकर क्लास लगा दी है!

लिखा- कोरोना कंट्रोल करने की जगह मोदी सरकार सोशल मीडिया से अपनी आलोचना हटवा रही थी.

महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस से 8 कोरोना मरीजों की मौत, 200 का चल रहा इलाज

महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस से 8 कोरोना मरीजों की मौत, 200 का चल रहा इलाज

कोविड-19 से बचे लेकिन ब्लैक फंगस ने जान ले ली.

गुजरात के कच्छ में मुस्लिम धर्मगुरु के जनाजे में उमड़ी भीड़

गुजरात के कच्छ में मुस्लिम धर्मगुरु के जनाजे में उमड़ी भीड़

कोरोना गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ीं.

कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने के नियमों में क्या बड़ा बदलाव हुआ है?

कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने के नियमों में क्या बड़ा बदलाव हुआ है?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं.

मदरसे में क्लीनिक चला रहा था फर्जी डॉक्टर, छापेमारी के लिए गई टीम को बंधक बनाने की कोशिश

मदरसे में क्लीनिक चला रहा था फर्जी डॉक्टर, छापेमारी के लिए गई टीम को बंधक बनाने की कोशिश

मामला मध्य प्रदेश के आगर मालवा का है.