Submit your post

Follow Us

अपने पैतृक गांव में कोरोना से 30 मौतों की खबर पर क्यों भड़क गए केंद्रीय मंत्री वीके सिंह?

भारत में कोरोना वायरस (Covid-19) की दूसरी लहर में हज़ारों गांवों से मौत की खबरें आ रही हैं. दिल्ली से सटे राज्य हरियाणा में भी हालात कुछ ऐसे ही हैं. हरियाणा के भिवानी ज़िले के बापोड़ा गांव में पिछले 2 हफ्तों में ही 30 लोगों की मौत हो चुकी है. लेकिन यह कोई आम गांव नहीं है, ये केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेनाध्यक्ष वी.के.सिंह का पैतृक गांव है. समाचार एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक़ इतनी मौतों के बावजूद भी गांव के लोग कोरोना टेस्ट करवाने को राजी नहीं हैं. हालांकि वीके सिंह ने खुद ट्वीट कर इस खबर पर तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने सनसनी फैलाने के लिए खबर को गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगाया है.

2 हफ्ते में 30 लोगों की मौत

बापोड़ा गांव के सरपंच नरेश कुमार के मुताबिक़ बीते दो हफ्ते में 30 लोगों की मौत से गांव में दहशत का माहौल है. उन्होंने पीटीआई से कहा कि कई लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण भी पाए गए हैं, लेकिन टेस्ट करवाने पर पूरे गांव में सिर्फ़ तीन लोग ही कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं. नरेश आगे बताते हैं कि जिन लोगों की मौत हुई है उनको खांसी, बुखार जैसे कुछ लक्षण थे. लेकिन किसी ने कोविड की जांच नहीं कराई थी. ऐसे में मौत का कारण पता लगा पाना बहुत मुश्किल है. उन्होंने ये भी बताया की मृतकों में ज़्यादातर लोग बुजुर्ग थे.

गांव में लोगों की इतनी ज़्यादा मौत की खबर के बाद अब ज़िले के स्वास्थ्य विभाग ने यहां एक एंबुलेंस लगाई है. इसी एंबुलेंस में लोगों की जांच की जा रही है. 2011 की जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक़, बापोड़ा में 2657 परिवार रहते हैं और कुल आबादी 14,332 है. हालांकि सरपंच नरेश कुमार के मुताबिक, गांव की आबादी 20 हजार के करीब है. वो कहते हैं कि आमतौर पर हफ्ते में एक-दो लोगों की मरने की खबर आती थी, लेकिन पिछले कुछ वक्त से हालात बेकाबू हैं.

एक ही दिन में मरे सात लोग

सरपंच नरेश पीटीआई से अपनी बातचीत में ये भी दावा करते हैं कि एक दिन तो गांव में 7 लोगों की एक साथ मौत हो गई थी. उस दिन शमशान घाट पूरा भर गया था. वो आगे कहते हैं कि इन सब के बावजूद, लोग टेस्टिंग कराने को तैयार नहीं हैं. हालांकि, वो ये भी कहते हैं कि स्वास्थ्य विभाग ने टेस्टिंग को बढ़ाया है, और बीते दिनों में करीब डेढ़ सौ लोगों की जांच की गई, जिसमें से सिर्फ़ एक पॉजिटिव पाया गया.

ये नजारा सिर्फ़ इसी विशेष गांव तक सीमित नहीं हैं. ऐसी ही खबरें हरियाणा के और भी कई गांवों से आ रही हैं. इन हालातों को लेकर राजनीति भी तेज़ हो गई है. राज्य में विपक्षी कांग्रेस पार्टी मांग कर रही है कि इस मामले पर एक स्पेशल टास्क फ़ोर्स का गठन किया जाए.

वीके सिंह ने क्या कहा?

इस खबर के मीडिया में आने के बाद केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए इसे गलत करार दिया. वीके सिंह ने लगातार 3 ट्वीट किए. जिसमें उन्होंने बताया कि गांव में मौतें किस वजह से हुई है. वीके सिंह ने अपने पहले ट्वीट में लिखा.

अपने अगले ट्वीट में केंद्रीय मंत्री ने बताया कि पिछले 30 दिन में 4 लोगों की मौत अस्पताल में हुई है जबकि 17 लोगों की नेचुरल डेथ हुई है. 

अपने अगले ट्वीट में वीके सिंह ने इस खबर को सिरे से खारिज करते हुए लिखा,

आपको बता दें कि वीके सिंह यूपी के गाजियाबाद से सांसद हैं. लेकिन अपने पैतृक गांव को लेकर आई इस खबर पर उन्होंने अपना पक्ष भी खुलकर रखा है.

हरियाणा में कोरोना के मामले

बता दें कि कोरोना वायरस की शुरुआत से अब तक हरियाणा में कुल 6,94,427 लोग संक्रमित हुए हैं. जिनमे से 5,97,676 लोग ठीक हो चुके हैं. 6685 लोगों की मौत हुई है. और फ़िलहाल 90,066 लोग संक्रमित हैं. पिछले एक हफ़्ते में औसतन हर दिन हरियाणा में 9000 नए मामले आ रहे हैं और 12000 लोग ठीक हो रहे हैं. जो की एक अच्छी खबर है.


वीडियो: लॉकडाउन लगाए बिना संक्रमण से बचने का तरीका इस डॉक्टर ने बताया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

सीएम योगी को मेरठ की गली में क्या वाकई खाट लगाकर आगे जाने से रोक दिया गया?

सीएम योगी को मेरठ की गली में क्या वाकई खाट लगाकर आगे जाने से रोक दिया गया?

कांग्रेसी नेताओं के ट्वीट के बाद मेरठ पुलिस ने बताई सच्चाई.

क्या है नारद स्टिंग केस जिसमें ममता बनर्जी के 2 मंत्रियों को CBI ने अरेस्ट किया है?

क्या है नारद स्टिंग केस जिसमें ममता बनर्जी के 2 मंत्रियों को CBI ने अरेस्ट किया है?

इस स्टिंग मामले में और कितने नेताओं के नाम हैं और वो अब किस पार्टी में हैं?

दवाओं की जमाखोरी के आरोपी नेताओं को दिल्ली पुलिस ने क्लीन चिट दी, हाईकोर्ट ने क्लास लगा दी

दवाओं की जमाखोरी के आरोपी नेताओं को दिल्ली पुलिस ने क्लीन चिट दी, हाईकोर्ट ने क्लास लगा दी

गौतम गंभीर, बीवी श्रीनिवास, दिलीप पांडे जैसों को क्लीन चिट देते हुए दिल्ली पुलिस ने क्या कहा था?

कोरोना संकट पर खरी-खरी सुनाने वाले नामी वायरोलॉजिस्ट ने सरकारी ग्रुप से इस्तीफा क्यों दे दिया?

कोरोना संकट पर खरी-खरी सुनाने वाले नामी वायरोलॉजिस्ट ने सरकारी ग्रुप से इस्तीफा क्यों दे दिया?

डॉ. शाहिद जमील वायरस के जीनोम स्ट्रक्चर की पहचान करने वाले ग्रुप INSACOG के प्रमुख थे.

गांवों और आदिवासी क्षेत्रों के लिए सरकार ने नई कोविड गाइडलाइंस जारी की

गांवों और आदिवासी क्षेत्रों के लिए सरकार ने नई कोविड गाइडलाइंस जारी की

स्क्रीनिंग और आइसोलेशन पर ज़ोर.

दलितों ने समारोह आयोजित करने की परमीशन नहीं ली, सवर्णों के पैरों पर गिरने की सजा मिली!

दलितों ने समारोह आयोजित करने की परमीशन नहीं ली, सवर्णों के पैरों पर गिरने की सजा मिली!

आठ पर केस, जिसमें से छह फरार हैं.

कोरोना से माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए इन राज्य सरकारों ने क्या घोषणा की है?

कोरोना से माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए इन राज्य सरकारों ने क्या घोषणा की है?

दिल्ली, UP, MP, गुजरात, बिहार ने घोषणाएं की हैं.

CM मनोहर लाल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज, आंसू गैस का इस्तेमाल, कई घायल

CM मनोहर लाल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज, आंसू गैस का इस्तेमाल, कई घायल

कोविड हॉस्पिटल का उद्घाटन करने पहुंचे थे मुख्यमंत्री.

कितने करोड़ लोगों को वैक्सीन लग जाए तो तीसरी वेव से बचा जा सकता है?

कितने करोड़ लोगों को वैक्सीन लग जाए तो तीसरी वेव से बचा जा सकता है?

इस एक्सपर्ट से जानिए, लॉकडाउन से बचने का विकल्प क्या है?

नई पॉलिसी एक्सेप्ट नहीं करने वालों को लिए WhatsApp ने क्या कहा है?

नई पॉलिसी एक्सेप्ट नहीं करने वालों को लिए WhatsApp ने क्या कहा है?

15 मई आखिरी तारीख थी.