Submit your post

Follow Us

AIIMS चीफ की ये बात मान ले सरकार तो ऑक्सीजन की कमी से नहीं मरेंगे लोग

कोरोना वायरस की दूसरी लहर से देश जूझ रहा है. हॉस्पिटल बेड और ऑक्सीजन जैसी बेसिक चीज़ों की कमी की वजह लोग अपनी जानें गंवा रहे हैं. एम्स के चीफ रणदीप गुलेरिया ने देश की इस हालत पर विस्तार से बात करते हुए कहा कि 10 फीसदी से ज़्यादा कोविड-19 पॉज़िटिव वाले इलाकों को लॉकडाउन कर देना चाहिए. साथ ही उनका ये भी कहना है कि भारत में कोविड के दूसरे वेव को न रोक पाना सरकार की नाकामी है.

# कोविड के मामलों को कम करने के सिर्फ दो तरीके हैं

देशभर में प्रतिदिन भारी संख्या में आ रहे कोविड के मामलों को रोकना सबसे ज़रूरी है. बकौल गुलेरिया, इस वेव को दो तरीके से रोका जा सकता है. शनिवार को एनडीटीवी से हुई बातचीत में डॉ. गुलेरिया कहते हैं

”अगर मेरी मानें, तो इसे दोतरफा अटैक से रोका जा सकता है. पहला, हमें तत्काल प्रभाव से अपने हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार लाना होगा. अस्पतालों में बेड्स से लेकर दवाइयों और ऑक्सीजन की मात्रा तेजी से बढ़ानी होगी. दूसरा, कोविड मामलों को कम करना होगा. हम लगातार इतनी भारी संख्या में कोविड केसेज़ नहीं आने दे सकते. मामलों को कम करने के लिए हमें सबसे ज़्यादा इनफेक्टेड या प्रभावित इलाकों को ढूंढना होगा. अगर इन इलाकों में कोविड पॉज़िटिव लोगों की संख्या ज़्यादा है, तो हमें इन्हें कॉन्टेनमेंट ज़ोन घोषित करना चाहिए. अगर ज़रूरत पड़े, तो इन इलाकों में लॉकडाउन भी लगाया जाना चाहिए. ताकि ट्रांसमिशन की चेन टूटे और कोविड के मामले तेज़ी से नीचे आएं.”

कोविड की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बहुत बढ़ गई है. मगर सप्लाई में कमी कई लोगों की जान ले चुकी है.
कोविड की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बहुत बढ़ गई है. मगर सप्लाई में कमी कई लोगों की जान ले चुकी है.

डॉ. गुलेरिया ने देशभर में ऑक्सीजन की कमी से हो रही लोगों की मौत पर भी बात की. उनका कहना है कि ऑक्सीजन क्राइसिस से निपटने के लिए उसके वितरण पर ध्यान देना होगा. देश के कई हिस्सों ऐसे हैं, जहां ऑक्सीजन ज़रूरत से ज़्यादा है. उस ऑक्सजीन को उन इलाकों तक पहुंचाना चाहिए, जहां इसकी कमी है.

# Remdesivir  नहीं है जान बचाने की दवा!

इन दिनों कोविड के मरीजों में Remdesivir की मांग बढ़ी है. मगर डॉक्टरों के मुताबिक ये महज़ एक एंटी-वायरल ड्रग है. ये जान बचाने की दवा नहीं है. Remdesivir की भारी मांग को ग़लत ठहराते हुए डॉ.गुलेरिया कहते हैं-

”ये दवाई मौतें कम करने वाली नहीं है. Remdesivir कितनी कारगर है, इस बारे में हमें बड़े मिक्स्ड रिज़ल्ट मिले हैं. इसलिए इसे इंडिया में एमरजेंसी की स्थिति में इस्तेमाल की जाने वाली दवाइयों की कैटेगरी में रखा गया है. इसके साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं. इसलिए इसे डॉक्टरों की देखरेख में लेने की सलाह दी जाती है.”

एम्स चीफ डॉ. रणदीप गुलेरिया रेमडेसिविर के इस्तेमाल में भी सावधानी बरतने की बात कही है.
एम्स चीफ डॉ. रणदीप गुलेरिया रेमडेसिविर के इस्तेमाल में भी सावधानी बरतने की बात कही है.

पिछले 24 घंटे में देशभर से कोविड-19 के कुल साढ़े तीन लाख मामले सामने आए हैं. और 2676 लोगों की मौत हुई है. कोरोनावायरस की पहली लहर धीमी थी. मगर इस वायरस का यूके वैरिएंट तेज़ी से फैल रहा है. डॉ. गुलेरिया का कहना है कि इन दोनों वेव के बीच हमारे पास अपने अस्पतालों में बेड और दवाइयां की मात्रा बढ़ाने का समय था. मगर हमने ध्यान नहीं दिया. इसलिए कोरोना की दूसरी लहर हमारे लिए ज़्यादा बड़ी परेशानी का सबब बन गई है. डॉक्टर साब का ये भी कहना है कि अगर आपके टेस्ट नेगेटिव आ रहे हैं. मगर कोविड के लक्षण नज़र आ रहे हैं, तो उसका इलाज कोविड सेंटर में अन्य कोविड पेशेंट्स की तरह ही होना चाहिए.


वीडियो देखें: PM केयर फंड से दिल्ली को 8 ऑक्सीजन प्लांट्स के लिए मदद की गई, पर कुछ काम नहीं हुआ!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.