Submit your post

Follow Us

कोवैक्सीन पर WHO से भारत को मिल रही है तारीख-पे-तारीख

स्वदेसी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की तरफ से आपातकालीन उपयोग के लिए हरी झंडी देने का मामला सुलझ नहीं पा रहा है. WHO के एक तकनीकी सलाहकार समूह ने कोवैक्सीन को मंजूरी देने की अर्जी पर मंगलवार को समीक्षा की. पहले कहा गया कि अगर कंपनी के दावों से संतुष्टि होती है तो अगले 24 घंटों के भीतर सिफारिश की जा सकती है. हालांकि रात को WHO ने कोवैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक से अतिरिक्त जानकारी की मांग कर डाली.

WHO ने फिर मांगी अतिरिक्त जानकारी

कोवैक्सीन को डब्लूएचओ की तरफ से फिलहाल तारीख पर तारीख ही मिल रही है. WHO के तकनीकी सलाहकार समूह ने अब कोवैक्सीन को लेकर किए गए परीक्षणों के संबंध में भारत बायोटेक से अतिरिक्त जानकारी मांगी है. यह जानकारी खासतौर पर वैक्सीन के फाइनल रिस्क-बेनेफिट असेस्मेंट से संबंधित है. बता दें कि ये असेसमेंट मान्यता देने का फाइनल चरण माना जाता है.

ये अतिरिक्त जानकारी मिलने पर अब 3 नवंबर को बैठक में कोवैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी देने पर फिर से विचार किया जाएगा. ये जानकारी खुद डब्लूएचओ की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामिनाथन ने ट्वीट करके दी. उन्होंने लिखा,

“WHO के इंडिपेंडेंट तकनीकी सलाहकार ग्रुप की मीटिंग हुई, इसमें भारत बायोटेक से पूरी दुनिया में कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल के अप्रूवल के लिए अतिरिक्त जानकारी मांगी गई है. अगर जल्द ही डाटा मिल जाता है तो 3 नवंबर को फिर से असेसमेंट किया जाएगा.”

कंपनी को है जल्दी अप्रूवल की उम्मीद

कोवैक्सीन बनाने वाली हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक कंपनी ने टीके को आपातकालीन उपयोग सूची (EUL) में शामिल करने के लिए 19 अप्रैल को WHO को डेटा उपलब्ध कराया था. तब WHO के एक प्रवक्ता ने कहा था कि यदि समिति संतुष्ट होती है तो हम अगले 24 घंटों के भीतर किसी सिफारिश की उम्मीद करते हैं. कंपनी को उम्मीद थी कि जल्द ही अप्रूवल मिल जाएगा. लेकिन मामला टल गया. उसके बाद 26 अक्टूबर को भी कहा गया कि अगले 24 घंटे में मंजूरी पर विचार करेंगे. लेकिन फिर से भारत बायोटेक से डाटा मांग लिया गया है.

WHO अब तक कोरोना के टीकों के लिए फाइज़र-बायोएनटेक, एस्ट्राजेनेका, जॉनसन एंड जॉनसन, मॉडर्ना और सिनोफार्मा कंपनियों की बनाई वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल का अप्रूवल दे चुका है. डब्लूएचओ के एक शीर्ष अधिकारी ने मीडिया से कहा था कि किसी भी वैक्सीन के इस्तेमाल यूज की मंजूरी देने से पहले उसका पूरी तरह से मूल्यांकन करना जरूरी होता है. इसकी सिफारिश की प्रक्रिया में कभी-कभी अधिक समय लग सकता है. इसके लिए उनका कहना था कि विश्व को सही सलाह ही दी जानी चाहिए, भले ही इसमें एक दो सप्ताह अधिक लग जाएं.


वीडियो – कोविशील्ड और कोवैक्सीन के मिक्स डोज को लेकर ICMR की स्टडी क्या कहती है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.