Submit your post

Follow Us

कोरोना काल में सरकार कैसे मनाएगी 15 अगस्त, गाइडलाइंस आ गई हैं

15 अगस्त, 1947. देश को आजादी मिली. इस साल 15 अगस्त को देश 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाएगा. लेकिन कोरोना की वजह से इस साल माहौल अलग है. ऐसे में गृह मंत्रालय ने गाइडलाइंस जारी की हैं. कोरोना काल में 15 अगस्त को होने वाले कार्यक्रमों को लेकर.

गाइडलाइंस में बताया गया है कि स्वतंत्रता दिवस मनाते समय किस तरह की सावधानियां बरती जानी चाहिए. सबसे बेसिक और जरूरी चीज सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए. मास्क पहनकर ही कोई कार्यक्रम हो. प्रॉपर तरीके से सेनिटाइजेशन की व्यवस्था हो. बड़ी भीड़ वाले कार्यक्रम करने से बचा जाए. कमजोर व्यक्तियों पर विशेष ध्यान दिया जाए. इसके अलावा कोरोना से बचाव से संबंधित सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाए, जो समय-समय पर गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए हैं.

और क्या है गाइडलाइंस में? 

इसमें कहा गया है कि बड़े कार्यक्रम करने से बचा जाए. तकनीक का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल हो. बड़े पैमाने पर लोगों तक इन कार्यक्रमों को पहुंचाने के लिए इवेंट web-cast किए जा सकते हैं. गाइडलाइन में कहा गया है कि ऊपर बताई गई सभी चीजों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली में होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह कैसा होगा.

1. लालकिले पर होने वाले कार्यक्रम में सशस्त्र बलों और दिल्ली पुलिस की ओर से प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा. राष्ट्रीय ध्वज फहराना, प्रधानमंत्री का भाषण, पीएम के भाषण के तुरंत बाद राष्ट्रगान और अंत में तिरंगे वाले गुब्बारे उड़ाना.

2. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रपति की ओर से होस्ट की जाने वाली पार्टी.

वहीं केंद्रशासित प्रदेशों और राज्यों में होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए भी गाइडलाइंस जारी की गई हैं.

राज्य स्तर पर

1. राज्य की राजधानियों में मुख्यमंत्री की ओर से सुबह 9 बजे ध्वजारोहण किया जाएगा. राष्ट्रगान होगा, पुलिस गार्ड, पैरा-मिलिट्री फोर्सेस, होम गार्ड्स, एनसीसी की ओर से गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा. सीएम का भाषण होगा और अंत में राष्ट्रगान.

2. समारोह छोटे स्तर पर होगा. यानी ज्यादा भीड़भाड़ नहीं होगी. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा. मास्क पहनना अनिवार्य है.

3. स्वतंत्रता दिवस समारोह में कोविड -19 के योद्धाओं- जैसे डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी, स्वच्छताकर्मी को बुलाना उचित होगा, ताकि कोरोना के खिलाफ जंग में उनके योगदान को सराहा जा सके. कोविड -19 संक्रमण से ठीक हुए कुछ व्यक्तियों को भी आमंत्रित किया जा सकता है.

इन्हीं बातों का जिला स्तर, तहसील स्तर और ग्राम पंचायत के स्तर पर खयाल रखना होगा. गाइडलाइंस में ये भी कहा गया है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि 15 अगस्त को राज्य में राजधानी, जिला, ब्लॉक और पंचायत स्तर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाए.

कुछ फैसले राज्यपालों के विवेक पर 

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर होने वाले ‘At Home रिसेप्शन’ को राज्यपाल, उपराज्यपाल के विवेक पर छोड़ा जाता है. फिर भी अगर इस तरह का कार्यक्रम आयोजित होता है, तो गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय की कोरोना से संबंधित गाइडलाइंस का पालन करना होगा. कोरोना वॉरियर्स और कोरोना से ठीक होने वाले लोगों को कार्यक्रम में बुलाया जा सकता है.

स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़े ऐतिहासिक महत्व के स्थानों पर पुलिस/ सैन्य बैंड की रिकॉर्डिंग बजाई जा सकती है. इसे बड़े स्क्रीन पर डिजिटल मीडिया के माध्यम से प्रदर्शित किया जा सकता है.

डिजिटल कार्यक्रमों पर जोर

स्वतंत्रता दिवस पर होने वाले अन्य कार्यक्रम किए जा सकते हैं. जैसे पौधे लगाना. इसके अलावा डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कविता, कहानी, क्विज, डिबेट कंपिटिशन कराए जा सकते हैं. वेबिनार का आयोजन किया जा सकता है. स्वतंत्रता दिवस मनाने के अन्य नवीन तरीकों पर विचार किया जा सकता है, जैसे डिजिटल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों के माध्यम से देशभक्ति या राष्ट्रीय एकता का संदेश. महत्वपूर्ण सार्वजनिक भवनों पर लाइट शो, बालकनियों में लोगों द्वारा राष्ट्रीय झंडे लहराना, आदि.

कोरोना की वजह से सरकारी मीटिंग ऑनलाइन हो रही है. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी होने वाले कार्यक्रमों के डिजिटल होने पर जोर देने को कहा गया है. (मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करते पीएम मोदी-फाइल फोटो)
कोरोना की वजह से सरकारी मीटिंग ऑनलाइन हो रही है. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी होने वाले कार्यक्रमों के डिजिटल होने पर जोर देने को कहा गया है. (मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करते पीएम मोदी- फाइल फोटो)

यह उचित होगा कि स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान होने वाले कार्यक्रमों और सोशल मीडिया पर होने वाली एक्टिविटी के जरिए “आत्मानिभर भारत” की थीम जनता को बताई जाए.


क्या अयोध्या में राम मंदिर के अलावा भी कुछ बनवाने का प्लान है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन का दाम पता चल गया है, लेकिन पैसे आपको नहीं देने होंगे!

क्या कहा बनाने वाले आदर पूनावाला ने?

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?

जाटों-पंजाबियों को बिना बुद्धि का बोलकर माफ़ी मांगने लगे बीजेपी के सीएम

और कौन? वही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब.

इन तीन परिवारों के उजड़ने की कहानी से समझिए कि कोरोना से बचाव कितना ज़रूरी है

पहले मां की मौत, फिर एक के बाद एक 5 बेटों की मौत

दिशा सालियान की मौत के बाद क्या सुशांत सिंह ने डिप्रेशन की दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं?

डॉक्टर ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नहीं रहे

वो 85 बरस के थे, कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

उत्तर बिहार में हर साल क्यों आती है बाढ़, अभी कैसे हैं हालात

भौगोलिक स्थिति समझना बहुत जरूरी है.

बिहार महादलित विकास मिशन घोटाला: 'स्पोकन इंग्लिश' के नाम पर कैसे हुई हेरा-फेरी

एक निलंबित और तीन रिटायर्ड IAS अधिकारियों समेत 10 लोगों पर FIR.

राजस्थान में सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत ने एक और मोर्चा मार लिया है!

19 जुलाई को राजस्थान की राजनीति से संबंधित ये 5 चीजें हुईं.

ये 'एयर बबल' क्या है, जिस पर हवाई यात्रा करने वाले टकटकी लगाए देख रहे हैं

भारत ने 'एयर बबल' को लेकर कदम उठाए हैं.