Submit your post

Follow Us

करण जौहर के करीबी ने बताया कि सुशांत मुद्दे पर हुई भयंकर ट्रोलिंग का उनपर कैसा भयानक असर हुआ है

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत. 14 जून को मुंबई के अपने फ्लैट पर मृत पाए गए. शुरुआती जांच में पता चला कि वो डिप्रेशन से जूझ रहे थे और उन्होंने सुसाइड किया है. देखते ही देखते सोशल मीडिया पर लोगों ने ये कहना शुरू कर दिया कि सुशांत ने नेपोटिज़म से परेशान होकर ये कदम उठाया. डायरेक्टर करण जौहर पर बॉलीवुड में नेपोटिज़म फैलाने का आरोप लगाया गया. बुरी तरह से ट्रोल किया गया. इस ट्रोलिंग के बाद करण ने सोशल मीडिया से दूरी बना ली. उन्होंने केवल आठ लोगों को छोड़कर ट्विटर पर सबको अनफॉलो कर दिया. ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी उनका आखिरी पोस्ट 14 जून का ही है. इतने दिनों बाद अब करण के एक करीबी दोस्त ने उनकी हालत के बारे में बताया है. कहा है कि करण बुरी तरह टूट चुके हैं, परेशान हैं, दुखी हैं.

‘बॉलीवुड हंगामा’ से करण के करीबी दोस्त ने बात की. कहा,

‘करण टूट चुके हैं. इतने बरसों की ट्रोलिंग के बाद उन्हें लगा था कि उन पर इसका असर होना बंद हो गया है, लेकिन सुशांत की मौत के बाद जिस तरह की नफरत का सामना उन्होंने किया, उसने उन्हें तोड़ दिया.’

करण के दोस्त ने बताया कि उन्हें इस बात का सबसे ज्यादा दुख है कि उनके करीबी इससे काफी ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं. दोस्त ने कहा,

‘उनके करीबियों पर भी सोशल मीडिया पर हमले हो रहे हैं. इससे करण कुसूरवार सा महसूस कर रहे हैं. उनके तीन साल के जुड़वा बच्चों को जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं. कुछ लोग जैसे अनन्या पांडे, जिनका सुशांत से कोई कनेक्शन नहीं था. सोशल मीडिया पर उनका एक हेटर है, जो लिखता है कि अगर वो सुसाइड कर लेंगी, तो सुशांत की मौत की भरपाई हो जाएगी.’

करण के दोस्त से पूछा गया कि क्या करण, सुशांत वाले मुद्दे पर कोई बयान देने के बारे में सोच रहे हैं. इसके जवाब में दोस्त ने कहा,

‘बिल्कुल भी नहीं. वकील की सलाह है. चुप रहना ही बेहतर है. करण कुछ बोलने की हालत में नहीं हैं. वो किस्मत के मारे इंसान की तरह नज़र आ रहे हैं. करण से बात करना सुखद अनुभव नहीं है. जब भी हम उन्हें कॉल करते हैं, वो टूट जाते हैं और रोने लगते हैं. वो लगातार रो रहे हैं और पूछ रहे हैं कि उन्होंने ऐसा क्या किया कि उन्हें ये सबकुछ झेलना पड़ रहा है.’

सुशांत के जाने पर करण के साथ क्या-क्या हुआ?

14 जून करण ने ट्वीट करके सुशांत को याद किया. लिखा,

‘ये दिल तोड़ने वाला है… जो वक्त हमने साथ बिताया उसकी बहुत सारी यादें हैं… मैं इस पर भरोसा नहीं कर पा रहा… मेरे दोस्त RIP… जब शॉक कम हो जाएगा, तो केवल अच्छी यादें रह जाएंगी.’

उनके इस ट्वीट पर लोगों ने उन्हें बहुत ट्रोल किया. कहा कि वो दिखावा कर रहे हैं. वो अपनी फिल्म में सुशांत को मौका दे सकते थे, लेकिन उन्हें केवल सुपरस्टार्स की ही फिक्र रहती थी.

इसके बाद नेपोटिज़म (भाई-भतीजावाद) को शह देने का आरोप लगाया गया. बिहार में उनके खिलाफ केस हो गया. ये सब होने के बाद करण ने मुंबई फिल्म फेस्टिवल (MAMI- Mumbai Academy Of Moving Image) के बोर्ड मेंबर के पद से इस्तीफा दे दिया. इसी दौरान करण ने ट्विटर पर भी स्टार्स को अनफॉलो कर दिया था.


वीडियो देखें: करण जौहर अब अक्षय कुमार की ‘सूर्यवंशी’ का हिस्सा नहीं रहे, इस खबर में कितनी सच्चाई है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!