Submit your post

Follow Us

लोजपा विवाद : सांसदों और चिराग में ऐसा छछंद हुआ कि आपको फ़िल्म का ये मशहूर सीन याद आ जाएगा

बाग़ी सांसदों ने चिराग को अध्यक्ष पद से हटाया, फिर चिराग ने सांसदों को पार्टी से निकाल दिया

चिराग पासवान. 13 जून की रात तक 6 लोकसभा सांसदों वाली लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के संसदीय दल के नेता और पार्टी के राष्ठ्रीय अध्यक्ष भी थे. फिर पांच सांसदों ने चाचा पशुपति कुमार पारस के नेतृत्व में उनके खिलाफ बगावत कर दी. सबसे पहले उन्हें एलजेपी संसदीय देल के नेता के पद से हटाया गया, जिसे लोकसभा स्पीकर की मंजूरी भी मिल गई. अब मंगलवार को बागी सांसदों ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आपातकालीन बैठक बुलाकर पार्टी के संविधान का हवाला दिया. और उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटा दिया. इस पर चिराग पासवान ने कार्रवाई करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते पांचों सांसदों को पार्टी से निष्काषित कर दिया.

इतने पर सोशल मीडिया पर ‘तेजा मैं हूं, मार्क इधर है’ वाला जुमला चल निकला. पत्रकार नरेंद्र नाथ मिश्रा ने ट्वीट करके कह भी दिया.

फिलहाल, सूरजभान सिंह को एलजेपी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है. और जल्दी ही राष्ट्रीय कार्यकारिणी बुलाकर अगले अध्यक्ष को चुन लेने की बात कही गई है. वहीं आजतक ने सूत्रों के हवाले से चलाई अपनी ख़बर में बताया है कि बागी खेमे की 20 जून तक पशुपति कुमार पारस को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की योजना है. यानी चिराग आउट और चिराग के चाचा सीधे अध्यक्ष.

वैसे, पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की एक और बैठक हुई जिसे बुलाया था चिराग पासवान ने. इस बैठक में पशुपति पारस पासवान (हाजीपुर), प्रिंस राज (समस्तीपुर), चंदन सिंह (नवादा), वीणा देवी (वैशाली) और महबूब अली केसर (खगड़िया) को पार्टी से निलंबित करने का फैसला लिया गया. बता दें कि 2019 में चिराग पासवान पार्टी के अध्यक्ष बने थे.

इन घटनाक्रम से कुछ घंटे पहले चिराग पासवान ने कुछ चिट्ठियां ट्वीट कीं जो उन्होंने अपने चाचा पशुपति पारस को 29 मार्च 2021, यानी होली के दिन लिखी थीं. इसको शेयर करते हुए उन्होंने ट्वीट में लिखा, 

“पापा की बनाई इस पार्टी और अपने परिवार को साथ रखने के लिए किए मैंने प्रयास किया लेकिन असफल रहा. पार्टी मां के समान है और मां के साथ धोखा नहीं करना चाहिए. लोकतंत्र में जनता सर्वोपरि है. पार्टी में आस्था रखने वाले लोगों का मैं धन्यवाद देता हूं. एक पुराना पत्र साझा करता हूं.”

LJP के घमासान में अब तक क्या-कुछ हुआ?

रविवार देर रात को लोक जनशक्ति पार्टी में घमासान की खबर आई. पार्टी के कुल 6 लोकसभा सांसद हैं. इनमें से 5 ने पशुपति कुमार पारस के नेतृत्व में संसदीय दल के नेता और राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के खिलाफ मोर्चा खोला और आनन-फानन में लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से मुलाकात भी कर ली. उन्हें चिट्ठी देकर बता दिया कि संसदीय दल नेता चिराग पासवान नहीं, अब पशुपति पारस हैं. इसे मंजूरी भी मिल गई. पशुपति पारस भी सार्वजनिक मंच पर आए. मीडिया को बताया कि वो लोजपा को तोड़ नहीं रहे, बल्कि बचा रहे हैं. इतना साफ था कि पार्टी और पार्टी को चला रहे परिवार के अंदर सब-कुछ ठीक नहीं है. इस घटनाक्रम के बीच चिराग पासवान कुछ देर बाद सामने आए. सीधे चाचा के घर के बाहर. मीटिंग करने के लिए. खुद ही गाड़ी चलाकर पहुंचे. लेकिन चाचा उनका इंतज़ार नहीं कर रहे थे. चिराग करीब डेढ़ घंटे वहीं रुके. पर पशुपति पारस से बिना मुलाकात किए खाली हाथ लौट आए.

मीडिया रिपोर्ट्स इशारा करते हैं कि एलजेपी की इस फूट में जेडीयू का अहम रोल है. चिराग पासवान के समर्थक और राष्ट्रीय जनता दल भी यही आरोप लगा रहे हैं. लेकिन जेडीयू ने आधिकारिक तौर पर ये बात नहीं मानी है. वहीं बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व इस सियासी उठापटक पर चुप्पी बनाए रखना मुनासिब समझा है.


वीडियो : चिराग पासवान के सांसदों ने क्यों लोकसभा स्पीकर को लेटर लिखकर अलग पार्टी की मांग की?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.