Submit your post

Follow Us

महंगे प्याज के बीच दबंग ऐसी चीज चुरा ले गए कि योगी जी को भी भरोसा न होगा

उधर जनता दिल, चैन, जिगर, नींद चुराने के गाने और दावों पर भरोसा नहीं कर पा रही थी. इधर यूपी के चोरों ने चोरी में नया रिकॉर्ड बना डाला. ऐसी चीज चुराई कि चिड़िया के चुगने को खेत न बचा.

‘बेला चाऊ,बेला चाऊ’ गाते मनी हाईस्टियों को ‘किड्स’ कह ‘लीजेंड’ बन गए. आप कहोगे, हमें पता है. प्याज महंगी है. प्याज चुराई होगी. ‘न, नहीं, नहीं को’. क्लीशे बात तो यूपी के चोरों ने सीधी ही नहीं है. धन पर नज़र डाली ही नहीं, धान पर नज़र डाली है.

3 अप्रैल 2020 को आएगा, ‘Money Heist’ Season 4. नैरोबी काटती दिखेंगी चंदौली के खेतों में धान | प्रोफेसर ने किया इनकार, कहा धान काटने पर पीठ में खजुआता है.
3 अप्रैल 2020 को आएगा, ‘Money Heist’ Season 4. नैरोबी काटती दिखेंगी चंदौली के खेतों में धान | प्रोफेसर ने किया इनकार, कहा धान काटने पर पीठ में खजुआता है.

ख़बर, आगे पढ़िए. आपको पता चलेगा, ये कोई अचानक आ धमके चोर नहीं थे. दबंग थे.

पत्रकारिता पढ़-पढ़ गेंहू और धान में अंतर भूल गए पत्रकारों के लिए ये ‘5W1H’ के बेसिक से बड़ा ज्ञान है. क्योंकि अबकी बार चुराई गई, खेत से धान है.

पूर्वी उत्तर प्रदेश के चंदौली के घटना है. सरकारी जमीन पर बोई गई थी धान. दबंग थ्री पर बवाल मचने के दौर में असल दबंगो ने कारनामा किया. सरकारी धान चुरा ली, चुरा क्या ली काट ली. जीवन को कैसे काटें? जैसे सवालों पर माथाफोड़ी करते निरीह इनसे काटना सीखें. महाराष्ट्र की आती-जाती सरकारें ‘आरे’ के कटने, न कटने पर हैरान थीं. इन चोरों ने उन्हें चिंतातुर होने की नई वजह दे दी.

हुआ ये कि ज़मीन चंदौली के जिलाधिकारी के नाम पर थी. गूगल न करिएगा, उसमें ‘ज़मीन’ के आगे बाबा ज़हीर खान वाली ‘ज़मीन’ दिखाएगा. बिपाशा, अभिषेक, अजय देवगन वाली. फिल्म कुछ ख़ास नहीं थी. तो उस ज़मीन पर लगी धान कटने का मामला आया.

Zameen
ज़मीन का नया पोस्टर, प्याज के दाम बढ़ने के बाद

मामला आया तो चंदौली सदर के उपजिलाधिकारी का काम बढ़ा. उनने आधा दर्जन लोगों पर मुकदमा कायम किया. ‘का वर्षा जब कृषि सुखानी’ वाली बात पर जिला प्रशासन ने पहले ध्यान दिया था. अब जब फसल कट गई तो भागते भूत की लंगोटी बचाने में लगी है, आई मीन टू से दैट कि धान की कटाई कराई जा रही है.

3ivoec
क्या भाई के फैन थे कथित दबंग

हर ज़मीन का एक किस्सा होता है. इस ज़मीन का भी है. बात ये थी कि कुछ साल पहले चंदौली के जसुरी गांव में एक मठ था. जिसकी तकरीबन 40 बीघे जमीन थी. मठ में आनंद था, पर वो आनंद मठ नहीं कहाता था. आनंद में खलल तब पड़ा जब ‘हुड़-हुड़ दबंग न करते’ कुछ दबंगों की नज़र उस पर पड़ी. उधर नज़र पड़ी, इधर विवाद हुए. ज़मीन के विवादों का तो आपको पता ही है. करेजे का बोझ होता है, जो हटाया भी न जा सकता है.

Download
हरक्यूलिस ने भी ऐसा ही कुछ कहा था

रोज़-रोज़ के विवाद से खिसियाकर मठ के महंत ने लगभग 10 साल पहले एक बड़ा फैसला लिया. ’39-40 ले ले, लैंड अपने नाम करा ले’ वाली टोन पकड़ी. 40 एकड़ लैंड जिलाधिकारी के कागजों पर लैंड करा दी. माने कलेक्टर को दे दी. फिर भी दबंग तो दबंग होते हैं. ‘हुड़-हुड़’ नहीं करते तो क्या, खेती तो कर सकते हैं. उस ज़मीन के कुछ हिस्से पर खेती करते रहे, फसल उगाते और काटते रहे.

इस सीजन में भी उन दबंगो ने इस जमीन पर धान की फसल बोई थी. चंदौली सदर के उपजिलाधिकारी ( आसान भाषा में SDM!) जिनका नाम है, हीरालाल. उनने तरीका खोजा. नवंबर के महीने में ज़मीन की कुर्की करा दी. दबंगों के आगे कुर्की और थैंक्स गिविंग के आगे Turkey की कब चली है. इस सरकारी जमीन पर उगाई गई धान को भी काटकर ले गए.

Image001
चिड़िया के चुगने लायक भी नहीं बचेगा खेत

अब एसडीएम हीरालाल बता रहे हैं. चंदौली कोतवाली में 5 ज्ञात और एक दर्ज़न से ज्यादा अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है. सरकारी ज़मीन से धान चुराने का मामला बना है.
हम तो कह रहे हैं, सरकार को चाहिए. मुंशी प्रेमचंद की कहानियों से शिक्षा ले. ‘नमक का दरोगा’ पढ़ी होगी, अब ‘धान का दरोगा’ तैनात करा दे.

Image002
बची धान काटते सरकारी लोग

ये ख़बर पढ़ते-पढ़ते मुझे आज ही यूपी कैबिनेट का नया फैसला याद आ गया. आज योगी सरकार ने फैसला लिया है कि किसी को भी पेड़ काटने की अनुमति तब मिलेगी. जब एक पेड़ के बदले 10 पेड़ लगाए जाएंगे. माने पहले आप 10 पेड़ लगाइए, फिर 1 पेड़ काट पाएंगे. 10 पेड़ के नाम पर आप कुछ भी न लगा देंगे. पीपल, महुआ, नीम और साल जैसे पेड़ लगाने होंगे. अपनी ज़मीन न हो तो वन विभाग की जमीन पर ये पेड़ लगाने होंगे. पूरी कवायद ऑनलाइन अपडेट भी होगी.

अब माननीय कलेक्टर साहेब और मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है. आपसे तो सरकारी ज़मीन पर लगी फसल भी न बचाई गई. काटने वालों से अगले सीजन चार-पांच सौ एकड़ ज़मीन में धान बुवा लीजिएगा. ये न करना हो तो हमें बताइएगा, इन धान-चोरों के खिलाफ क्या एक्शन लिया गया. हम जनता को बताएंगे.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

सुशांत केस की बात करते-करते शरद पवार ने किसके लिए कह दिया- “मैच्योर नहीं है”

जांच सीबीआई को दिए जाने को लेकर महाराष्ट्र सरकार की ओर से लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं.

जान्हवी कपूर की फिल्म 'गुंजन सक्सेना' में वायुसेना को क्या खटक गया?

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (CBFC) को पत्र लिखा है.

पाकिस्तान के खिलाफ स्टुअर्ट ब्रॉड से हुई थी गलती, पिता ने दे दी कड़ी सज़ा!

पिता के सख़्त रवैये पर ब्रॉड ने भी जवाब दिया है.

मुंबई के क्रिकेटर ने फांसी लगाकर जान दी, IPL में सलेक्शन न होने से डिप्रेशन में था!

दोस्त को फोनकर बताया था, आत्महत्या करने जा रहा हूं.

इस बार IPL में धोनी और CSK के साथ नहीं होगा उनका लकी चार्म!

इनके नहीं होने से इस बार CSK के खेमे में सूनापन ज़रूर रहेगा!

31 दिन बाद बाड़े से बाहर निकले कांग्रेसी विधायक, गाया रंग और नूर की बारात किसे पेश करूं

सीएम गहलोत बोले-फॉर्गेट एंड फॉरगिव

'लिमिटेड रिप्लाई' फ़ीचर सबके लिए आ गया, ट्विटर पर फ़ालतू बकैती बंद होगी!

अब जाकर गालियों से पीछा छूटेगा.

सुशांत सिंह के दोस्त सिद्धार्थ से ED ने 14 घंटे पूछताछ की, ये 12 सवाल पूछे गए

सुशांत के पिता केके सिंह के वकील ने सिद्धार्थ पर नए आरोप लगाए.

डेंटिस्ट के पास जाने का प्लान बना रहे हैं तो WHO की ये बातें जान लीजिए

मामला कोरोना से जुड़ा है.

IPL2020 शुरू होने से पहले वही बुरी ख़बर आ गई, जिसका डर सभी को था

रॉयल्स के खेमे से निकला पहला कोविड-19 केस.