Submit your post

Follow Us

CBSE ने '2002 में मुस्लिम विरोधी हिंसा किसके शासन में फैली' पूछकर दिए चार ऑप्शन

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी CBSE की बुधवार 1 दिसंबर से टर्म-1 की परीक्षाएं शुरू हो गईं. लेकिन, पहले ही दिन परीक्षा में ऐसा विवाद हो गया जिसके लिए बोर्ड को सार्वजनिक तौर पर स्पष्टीकरण देना पड़ा. यह विवाद 12वीं क्लास के सोशियोलॉजी (समाजशास्त्र) के पेपर में पूछे गए एक सवाल को लेकर हुआ. इसमें छात्रों से उस पार्टी का नाम बताने को कहा गया जिसके कार्यकाल में 2002 में गुजरात में मुस्लिम विरोधी हिंसा (Gujarat Violence) हुई थी.

क्या था पूरा सवाल?

न्यूज़ एजेंसी PTI के मुताबिक सोशियोलॉजी के प्रश्नपत्र में गुजरात दंगों से जुड़ा यह सवाल ऑब्जेक्टिव टाइप यानी बहुवैकल्पिक था. सवाल में यह पूछा गया था कि वर्ष 2002 में बड़े पैमाने और मुस्लिम विरोधी हिंसा किस सरकार के शासन में फैली थी? इस सवाल के जवाब के लिए चार विकल्प दिए गए थे- कांग्रेस, भाजपा, डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन. परीक्षा खत्म होने के बाद इस सवाल पर जमकर विवाद हुआ. लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए इस पर काफी नाराजगी जताई. कई लोगों ने CBSE बोर्ड को कठघरे में खड़ा करते हुए उसपर बच्चों के दिमाग में साम्प्रदायिक हिंसा का जहर बोने का भी आरोप लगा दिया.

CBSE ने अपनी सफाई में क्या कहा?

विवाद बढ़ा तो CBSE बोर्ड ने तुरंत इसपर सफाई दी और अपनी गलती स्वीकार की. बोर्ड ने इस प्रश्न को अनुचित और उसके दिशा-निर्देशों के खिलाफ बताया. उसने कहा कि मामले में जिम्मेदार व्यक्तियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. बोर्ड ने अपने एक ट्वीट में कहा,

‘आज 12वीं कक्षा के सोशियोलॉजी टर्म-1 एग्जाम में एक प्रश्न पूछा गया, जो अनुचित है और प्रश्न पत्र तैयार करने को लेकर बाहरी विशेषज्ञों के लिए बने CBSE के दिशा-निर्देशों (CBSE Guidelines) का उल्लंघन है. CBSE इस गलती को स्वीकार करता है और जिम्मेदार व्यक्तियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा.’

PTI की एक रिपोर्ट में पेपर बनाने वालों के लिए बने CBSE के दिशा-निर्देशों के बारे में भी बताया गया है. ये दिशा-निर्देश साफ़ तौर पर कहते हैं कि एग्जाम पेपर में सवाल केवल एकेडमिक ओरिएंटेड होने चाहिए और ये सभी धर्मों और वर्गों को लेकर तटस्थ होने चाहिए. दिशा-निर्देशों यह भी कहते हैं कि पेपर बनाते समय ऐसे किसी भी विषय को नहीं छूना है, जिससे सामाजिक और राजनीतिक आधार पर लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचे.


वीडियो-योगी सरकार के आने के बाद से अब तक कितनी भर्तियां रद्द हो चुकी हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.