Submit your post

Follow Us

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

नॉर्थ 24 परगना. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से लगा ज़िला. यहां के डनलप बारानगर इलाके से एक बूढ़ी महिला की तस्वीर सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल हो रही है. तस्वीर में महिला एक ब्लू गाउन पहने देखी जा सकती हैं. वो बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं और आसपास के रेहड़ी-पटरी पर खाना बेचने वालों से लेकर खाना खाती है. आप कहेंगे कि इसमें क्या कोई विशेष बात है, क्योंकि भारत में इस तरह की तस्वीरें देखने को मिलती रहती हैं.

तो अब जो बात आप पढ़ने वाले हैं वो आपको हैरान कर सकती है. दरअसल, इरा बसु नाम की ये महिला पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य (Buddhadeb Bhattarcharya) की पत्नी की बहन हैं. यानी उनकी साली हैं. वही बुद्धदेव भट्टाचार्य जो 10 साल तक पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे.

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD कर चुकी हैं. वो नॉर्थ 24 परगना के प्रियनाथ गर्ल्स हाई स्कूल में लाइफ़ साइन्स पढ़ाती थीं. वो साफ़ और स्पष्ट अंग्रेज़ी और बांग्ला बोलती हैं. इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, इरा राज्य स्तर की एथलीट रह चुकीं हैं. टेबल टेनिस और क्रिकेट भी खेलती थीं.

अब आप सोच रहे होंगे कि पूर्व सीएम की साली और इतनी क्वालिफाइड होने के बावजूद इरा की ये दशा कैसे हुई.

Bd Bhattacharya Sixteen Nine
पश्चिम बंगाल की पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य

इरा बसु ने 1976 में प्रियनाथ गर्ल्स हाई स्कूल में बतौर शिक्षक नौकरी शुरू की. 28 जून, 2009 को वो सेवानिवृत्त हुईं. उस समय बुद्धदेव भट्टाचार्य पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री थे.

स्कूल में पढ़ाने के दौरान वो बारानगर इलाक़े में रहती थीं और रिटायरमेंट के बाद खरदाह इलाक़े के लिचु बागान इलाके में चली गईं. लेकिन कुछ ही समय बाद इरा एक दिन अचानक लापता हो गईं. डनलप इलाक़े के लोगों के मुताबिक़ वो तब से वहां की सड़कों पर नजर आ रही हैं. उनकी मानें तो वो पिछले दो सालों से फ़ुटपाथ पर ही सोती हैं.

पैसों की क़िल्लत से हुई ये हालत

इरा बसु अपने पूरे होशोहवास में हैं. लेकिन उन्हें पैसों की क़िल्लत है. उन्हें पेंशन नहीं मिल रही. क्यों नहीं मिल रही, ये बताया प्रियनाथ स्कूल की प्रिंसिपल कृष्णकली चंदा ने. इंडिया टुडे से बात करते हुए उन्होंने कहा,

“इरा बसु यहां पढ़ाती थीं. उनकी सेवानिवृत्ति के बाद हमने उनकी पेंशन देने की पहल की और उनसे अपने सारे कागजात जमा करने को कहा. लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. जिस वजह से उन्हें कोई पेंशन नहीं मिल रही है.”

इरा बसु की मौजूदा हालत की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद प्रशासन सक्रिय हुआ. उसने गुरुवार 9 सितंबर को खरदाह नगर पालिका की एंबुलेंस भेजी और इरा बसु को बारानगर थाने ले जाया गया. इसके बाद उनकी चिकित्सीय जांच और उपचार के लिए कोलकाता के एक अस्पताल ले जाया गया. अब उनकी स्थिति ठीक बताई जा रही है.

‘मुझे वीआईपी पहचान नहीं चाहिए’

इंडिया टुडे ने इरा बसु से बात की. उन्होंने बुद्धदेव भट्टाचार्य के परिवार के साथ अपने संबंधों पर बात करते हुए कहा,

“जब मैंने एक स्कूल शिक्षक के रूप में अपना करियर शुरू किया, तब भी मैंने उनसे कोई लाभ नहीं लिया. मैंने इसे अपने कैलिबर पर हासिल किया. मुझे वीआईपी पहचान नहीं चाहिए, हालांकि बहुत से लोगों को हमारे पारिवारिक संबंधों के बारे में अब पता चल गया है.”

Ira Basu Felicitated
ग़ैर-सरकारी संस्था ‘अरत्योजोन’ के सदस्य इरा बसु को सम्मानित करते हुए.

संस्था ने सम्मानित किया था

ये सब पता चलने के बाद ये भी मालूम हुआ कि इस साल शिक्षक दिवस के मौके पर डनलप की ग़ैर-सरकारी संस्था ‘अरत्योजोन’ के सदस्यों ने इरा को सम्मानित किया था. तब इरा ने कहा था,

“सभी शिक्षक अभी भी मुझसे प्यार करते हैं और कई छात्र मुझे याद करते हैं. उनमें से कुछ जब मुझे गले लगाते हैं तो रो पड़ते हैं.”

इरा बसु को जानने वाले बताते हैं कि उन्हें कई स्कूलों में पढ़ाने का मौक़ा मिला. लेकिन उन्होंने प्रियनाथ गर्ल्स हाई स्कूल में 34 साल पढ़ाया.

ऑनलाइन क्लास के विरोध में हैं इरा

बढ़ती उम्र और परिस्थितियों के बावजूद, आज भी पढ़ने और पढ़ाने के बारे में काफ़ी जानकारी रखती हैं इरा. इंडिया टुडे से उन्होंने कहा, “मैं ऑनलाइन क्लास का समर्थन नहीं कर सकती. छात्र को कई प्रॉब्लम्स का सामना करना पड़ रहा है और अगर व्यावहारिक रूप से कहूं तो वो कुछ भी नहीं सीख पा रहे हैं.”


वीडियो-आयोग का ऐलान, पश्चिम बंगाल उपचुनाव में भवानीपुर सीट से चुनाव लड़ेंगी ममता बनर्जी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने से लेंकशर को लगा करोड़ों का फटका!

मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने से लेंकशर को लगा करोड़ों का फटका!

कौन भरेगा ये नुकसान?

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट होस्ट करने से मना करने पर अफगानिस्तान ने क्या कहा?

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट होस्ट करने से मना करने पर अफगानिस्तान ने क्या कहा?

ICC का हवाला देते हुए भी कुछ कहा है.

तालिबान पर पूर्व अफगान उप-राष्ट्रपति के भाई की हत्या का आरोप, मारने से पहले बुरी तरह टॉर्चर किया

तालिबान पर पूर्व अफगान उप-राष्ट्रपति के भाई की हत्या का आरोप, मारने से पहले बुरी तरह टॉर्चर किया

पंजशीर में तालिबान को अमरुल्लाह सालेह नहीं मिले, लेकिन उनके भाई रोहुल्लाह घर पर थे.

तेजस्वी यादव ने पैसे बांटे, JDU ने आचार संहिता का उल्लंघन बताया, RJD बोली- कुछ पता तो है नहीं

तेजस्वी यादव ने पैसे बांटे, JDU ने आचार संहिता का उल्लंघन बताया, RJD बोली- कुछ पता तो है नहीं

तेजस्वी यादव का ये वीडियो वायरल है.

PM मोदी पर क्या बोल गए असदुद्दीन ओवैसी की यूपी पुलिस ने केस दर्ज कर लिया?

PM मोदी पर क्या बोल गए असदुद्दीन ओवैसी की यूपी पुलिस ने केस दर्ज कर लिया?

ओवैसी पर सीएम योगी आदित्यनाथ के लिए भी अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने का आरोप है.

मथुरा में कृष्ण जन्मस्थल से 10 km तक का क्षेत्र तीर्थस्थल घोषित, शराब-मीट बेचने पर बैन

मथुरा में कृष्ण जन्मस्थल से 10 km तक का क्षेत्र तीर्थस्थल घोषित, शराब-मीट बेचने पर बैन

जन्माष्टमी के अवसर पर सीएम योगी ने ऐसा कदम उठाने की बात कही थी.

कोहली और शास्त्री पर भड़की ब्रिटिश मीडिया ने ये क्या लिख दिया!

कोहली और शास्त्री पर भड़की ब्रिटिश मीडिया ने ये क्या लिख दिया!

मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने से मचा बवाल.

नेशनल हाइवे पर बनी देश की पहली इमरजेंसी हवाई पट्टी के फायदे क्या हैं?

नेशनल हाइवे पर बनी देश की पहली इमरजेंसी हवाई पट्टी के फायदे क्या हैं?

बाड़मेर में NH पर फाइटर जेट उतारकर भारत ने पाकिस्तान का क्या मैसेज दिया?

शरद पवार ने ज़मींदारों की कहानी सुनाते हुए कांग्रेस को चुभने वाली क्या बात कह दी?

शरद पवार ने ज़मींदारों की कहानी सुनाते हुए कांग्रेस को चुभने वाली क्या बात कह दी?

पवार के बयान के बाद प्रतिक्रियाओं की झड़ी लग गई है.

भारतीय मूल के अमेरिकी जसकरण ने एक ही ओवर में जड़ दिए छह छक्के

भारतीय मूल के अमेरिकी जसकरण ने एक ही ओवर में जड़ दिए छह छक्के

गिब्स के बराबर पहुंचे जसकरण.