Submit your post

Follow Us

एक बोतल हवा, कीमत 1850 रुपये

9
शेयर्स

दिल्ली में जहरीली हवा पर खूब चिल्ल-पों है. मुख्यमंत्री ने दो टाइप के फेफड़े ट्वीट किए. गाड़ियों में अक्कड़ बक्कड़ फॉर्मूला लगाया. डीजल गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगा दी. लेकिन चाइना वाले हमसे बड़े कलाकार हैं. वहां दो दोस्तों ने पॉल्यूशन से निकाल लिया कमाई का रास्ता.

वो भी ऐसा कि बोतलों में हवा भर कर बेच रहे हैं. अच्छी कीमत पर. एक बोतल शुद्ध हवा की कीमत है 1850 रुपए. अब साफ फेफड़े और ज्यादा जिंदगी चाहिए वो भी बीजिंग के धुएं में तो खरीदनी ही पड़ेगी हवा भरी बोतल.

ये हवा भरने वाली कंपनी है ‘वाइटैलिटी एयर.’ इसको मोजेज लैम और ट्रॉय पकेट ने शुरू किया 2014 में. वो इसके लिए गए पहाड़ों की ऊंचाई पर. जहां शहरों की तरह प्रदूषण न हो. वहां से बॉटलिंग करके उसकी ऑनलाइन बिक्री शुरू की.

ऐसा नहीं है कि ये पहली बार हो रहा है. इसके पहले 2013 में भी एक सयाने ने ये काम किया है. चेन गुआंगबियाओ ने छोटी बियर की कैन के साइज बोतलों में भर कर हवा बेची है. लेकिन उसकी कीमत सिर्फ 80 पैसे रहती थी.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

इधर इंडिया-पाकिस्तान में तनाव है, उधर पाक क्रिकेटर ने इंडियन लड़की से शादी कर ली

अब दोनों मुल्कों के लोग बधाइयां दे रहे हैं.

योगी ने 23 नए मंत्री बनाए, मगर ये 4 मंत्री हुए पैदल और विदाई की वजह जानने लायक है

योगी, मोदी का डंडा चला है.

क्या गिरफ़्तारी के डर से गायब हो गए हैं चिदंबरम?

INX मीडिया मामले में पूर्व वित्त मंत्री को खोज रही हैं CBI और ED.

पिता ने मोबाइल इस्तेमाल करने पर पाबंदी लगाई, बेटी ने प्रेमी के साथ मिलकर मार डाला

लड़की की उम्र सिर्फ 15 साल है.

अब बिना एटीएम कार्ड के भी निकलेंगे एटीएम से पैसे

बस नोटबंदी न हुई हो.

जावेद मियांदाद ने कहा, भारत को न्यूक्लियर बम मारकर साफ कर देंगे

जेंटलमैन्स गेम से जुड़े खिलाड़ी की अभद्र भाषा.

क्या है कोहिनूर मिल केस, जिसकी जांच के दायरे में राज ठाकरे आ गए?

वरिष्ठ शिवसेना नेता मनोहर जोशी के बेटे का भी नाम आया है.

जिस वायरल लड़के को 'उसैन बोल्ट' बता रहे थे, पहली रेस में उसका क्या हुआ?

शिवराज सिंह ने ट्वीट किया था, अब स्पोर्ट्स मिनिस्टर ने बताया- अब क्या होगा.

MP के सीएम कमल नाथ का भांजा गबन के इल्ज़ाम में गिरफ्तार

मामा सीएम हैं. लेकिन रतुल के दिन ठीक नहीं चल रहे.

टीम इंडिया की सबसे बड़ी दिक्कत का इलाज कोच शास्त्री और कोहली ने निकाल लिया है!

ये मसला पहले सुलझा होता तो वर्ल्डकप सेमीफाइनल में वो न होता जो हुआ.