Submit your post

Follow Us

गोमूत्र को कोरोना की दवा बताने वाले BJP विधायक ने डॉक्टरों को बहुत बुरी बात कह डाली

ऐलोपैथ. इलाज की वो पद्धति जो पूरी दुनिया में प्रमुख रूप से फॉलो की जाती है. लेकिन कोरोना वायरस से चल रही लड़ाई के बीच गोमूत्र, गोबर और कुछ आयुर्वेदिक इम्युनिटी बूस्टर्स के प्रचार के चक्कर में ऐलोपैथ को गलत रोशनी में दिखाने की कोशिश की जा रही है. पहले योगगुरु रामदेव ने ऐलोपैथ के खिलाफ बयान दिया. उनके बाद पतंजलि के MD बालकृष्ण और अब यूपी के रोहनिया सीट से BJP विधायक सुरेंद्र सिंह.

इंडिया टुडे के कुमार अभिषेक की रिपोर्ट के मुताबिक, सुरेंद्र सिंह ने कहा,

एलौपैथ क्षेत्र के डॉक्टरों ने राक्षस का रूप ले लिया है. मरे हुए को भी ज़िंदा बताकर पैसे लेने की परंपरा शुरू कर दी है. ऐसे डॉक्टरों को राक्षस ही कहा जा सकता है, जो डॉक्टर मरे हुए व्यक्ति को आईसीयू में जीवित बताकर पैसे लेता है वो राक्षस से कम नहीं.

रामदेव का बचाव किया

सुरेंद्र सिंह ने रामदेव के विवादित बयानों का बचाव किया. उन्होंने कहा कि रामदेव जिस पद्धति को आगे बढ़ा रहे हैं वो सनातन धर्म की पद्धति है. उन्होंने कहा कि जब वह राजनीति से संन्यास लेंगे तो इस तरह के प्रचार का ज़िम्मा अपने ऊपर ले लेंगे.

बाद में सुरेंद्र सिंह सफाई देने लगे कि एलोपैथ वाले सब डॉक्टर एक जैसे नहीं होते. मगर कुछ डॉक्टर दस रुपये की दवा सौ रुपये में देते हैं और नैतिकता की बात करते हैं. पर ये पहली बार तो है नहीं जब सुरेंद्र सिंह ने ऐसा दावा किया हो.

गोमूत्र से कोरोना ठीक होने का किया था दावा

बीते दिनों उनका एक वीडियो वायरल हुआ था. इस वीडियो में वो कोरोना से बचाव के लिए गोमूत्र पीने की सलाह देते नज़र आ रहे थे. वीडियो में वह कहते दिखते हैं कि विज्ञान माने या ना माने वो गोमूत्र पर पूरा भरोसा करते हैं. गोमूत्र के प्रति उनकी अपनी आस्था है. वैसे विधायक महोदय तो रेप के दोषी और बीजेपी के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का भी बचाव कर चुके हैं, ऐसे में उनसे क्या ही उम्मीद की जा सकती है.

रामदेव ने क्या कहा था

रामदेव का एक वीडियो बीते दिनों वायरल हुआ था. इसमें वो ऐलोपैथी को तमाशा और ‘स्टुपिड और दिवालिया साइंस’ बता रहे थे. वो कह रहे थे कि ऐलोपैथ में बुखार की जो दवाइयां हैं वो केवल टेम्परेचर उतारने का काम करती हैं. जिस वजह से बुखार आ रहा है उसे ठीक करने का इलाज ऐलोपैथ में नहीं हैं. उन्होंने ये भी कहा था कि लाखों लोगों की मौत ऐलोपैथी की दवा खाने से भी हुई है.

रामदेव के इस बयान का डॉक्टरों ने विरोध किया था. IMA और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने भी रामदेव के बयान को गैर जिम्मेदार बताया था. डॉक्टर हर्षवर्धन ने इसे लेकर रामदेव को चिट्ठी भी लिखी थी. जिसके जवाब में रामदेव ने अपना बयान वापस लेने की बात कही थी. साथ ही सफाई दी थी कि उन्होंने वॉट्सऐप पर पढ़कर वो बात कही थी.

 


वीडियो: IMA चीफ डॉ. जयलाल पर लगे धर्मांतरण के आरोपों का ये है सच

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

वो तस्वीर जिसमें पहलवान सुशील कुमार खुद सागर को पीटते दिख रहे हैं

'स्टेडियम में मारपीट के दौरान गैंगस्टर के भाई को पेशाब पिलाने की भी कोशिश हुई थी'.

सरकार के नए नियमों पर कोर्ट पहुंचा वॉट्सऐप, कहा- निर्दोष इंसान जेल जा सकता है

इस पर सरकार ने भी जवाब दिया है.

किस संस्था ने रामदेव के खिलाफ एक हजार करोड़ की मानहानि का केस करने की बात कही है?

इससे बचने के लिए बाबा को क्या करने की सलाह दी है?

ओडिशा पहुंचा तूफान 'यास', पटरियों से बांधने पड़े ट्रेन के पहिए

पश्चिम बंगाल से लेकर झारखंड हाई अलर्ट पर हैं.

सागर हत्याकांड: सुशील कुमार का साथ देने के आरोप में बवाना गैंग के चार मेंबर गिरफ्तार

सागर की हत्या के आरोप में पुलिस सुशील कुमार को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है.

भारत में 26 मई से फेसबुक और ट्विटर जैसे ऐप बंद हो जाएंगे?

क्या हैं भारत सरकार के नए नियम, जिन्हें कंपनियों ने अब तक नहीं माना?

हत्यारोपी पहलवान सुशील कुमार से मेडल्स और अवॉर्ड्स छीने जा सकते हैं, क्या कहते हैं नियम?

पद्म श्री, खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड के अलावा सुशील कुमार के नाम तमाम मेडल भी हैं.

कौन हैं डॉ.जयेश लेले, जिन्होंने बीच डिबेट में ही रामदेव को शटअप बोल दिया?

एलोपैथी बनाम आयुर्वेद को लेकर डॉक्टर और बाबा के बीच हुई तीखी बहस.

रामदेव ने वापस लिया एलोपैथी के विरोध वाला बयान, कहा- वॉट्सऐप मैसेज पढ़कर बोल दिया था

रामदेव ने बयान पर खेद जताया लेकिन एलोपैथी डॉक्टरों को एक नसीहत भी दे डाली.

यूपी: EWS कोटे से बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी के भाई बने असिस्टेंट प्रोफेसर

विपक्षी पार्टियों ने उठाए सवाल.