Submit your post

Follow Us

जिंदा दफनाने की धमकी देने वाले BJP विधायक ने खुद को धमकी मिलने की FIR करवाई

सोशल मीडिया पर कुछ दिनों पहले एक वीडियो काफी वायरल हुआ था, जिसमें यूपी के श्रम राज्यमंत्री रघुराज सिंह भाषण देते दिख रहे थे. उन्होंने कहा था कि जो भी पीएम नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारे लगाएगा, उसे जिंदा दफन कर दिया जाएगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक, अब रघुराज को अज्ञात नंबरों से धमकी भरे फोन कॉल आ रहे हैं. उन्होंने लखनऊ के हजरतगंज पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है.

रघुराज सिंह का कहना है कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है. साथ ही उन्होंने अपनी सुरक्षा के लिए पुलिस से मदद मांगी है. रघुराज की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

फोन पर कहा गया- प्लानिंग हो चुकी है

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, रघुराज का कहना है कि इंटरनेशनल नंबरों से भी धमकी भरे कॉल आ रहे हैं. उन्होंने कहा,

‘किसी अज्ञात कॉलर ने पीएम मोदी और योगी आदित्यनाथ की कब्र खोदने की धमकी दी. ये भी कहा कि बम का इस्तेमाल करके मुझे भी निशाने पर लेगा, वो भी एक हफ्ते के अंदर. उसने कहा कि सारी योजना बन चुकी है. अज्ञात नंबरों से पांच बार कॉल आए, मैंने तीन बार उठाया. तीनों बार एक ही तरह की धमकी दी गई.’

रघुराज सिंह ने सरकार के सीनियर अधिकारियों को भी आवेदन दे दिया है. उन्होंने यूपी DGP, लखनऊ पुलिस कमिश्नर और अलीगढ़ SSP को भी शिकायत की है. अलीगढ़ SSP ने जानकारी दी कि रघुराज की मांग पर उनकी सुरक्षा के लिए दो पुलिस गनर की तैनाती कर दी गई है.

रघुराज ने अलीगढ़ में बयान दिया था. उनके भाषण की क्लिप जैसे ही सामने आई, जमकर वायरल हो गई. कई नेताओं के रिएक्शन भी आए. कई लोगों ने रघुराज की आलोचना की.

बयान पर क्या सफाई दी?

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, जब रघुराज से उनके बयान को लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा :

‘मैंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में हुए प्रोटेस्ट के सिलसिले में ये बात कही थी. प्रोटेस्ट में पीएम मोदी और सीएम योगी के खिलाफ नारे लगाए गए थे. कहा गया था कि AMU ग्राउंड पर उनकी कब्र खोद दी जाएगी. ये स्टेटमेंट AMU के स्टूडेंट्स और आउटसाइडर के हैं. मैं अलीगढ़ की रैली में इन्हीं का जवाब दे रहा था.’

इधर, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल-मुस्लिमीन (AIMIM) के एक वर्कर का कहना है कि वो अलीगढ़ पुलिस स्टेशन गया था. रघुराज के बयान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने, लेकिन पुलिस ने FIR दर्ज नहीं की. जब अलीगढ़ SSP अक्षय कुल्हारी से पूछा गया, तो उन्होंने बताया कि कोई भी रघुराज के खिलाफ शिकायत लेकर पुलिस के पास नहीं आया.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?