Submit your post

Follow Us

बिहार: महिला को पहले कोविशील्ड लगा, फिर 5 मिनट बाद ही कोवैक्सीन लगा दी

बिहार के पटना में एक महिला को 5 मिनट के अंतराल पर कोविड वैक्सीन के दो शॉट लगा दिए गए. जानकारी के मुताबिक महिला को कोविशील्ड और कोवैक्सीन का एक-एक डोज केवल 5 मिनट के अंतर पर लगा दिया गया. हालांकि महिला की हालत स्थिर है और अभी तक कोई साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है.

आजतक की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये मामला पटना के पुनपुन प्रखंड का है जहां 16 जून को सुनीला देवी नाम की महिला को दो अलग-अलग वैक्सीन लगा दी गईं. 63 साल की सुनीला देवी, वैक्सीन लगवाने के लिए बेलदारीचक मिडिल स्कूल पर पहुंची थीं. यहां नर्स चंचला कुमारी और सुनीता कुमारी मौजूद थीं. अधिकारियों का कहना है कि नर्सों की लापरवाही के कारण ऐसा हुआ.

टीकाकरण केंद्र पर सुनीला देवी ने पहले अपना रजिस्ट्रेशन कराया और फिर कोविशील्ड वैक्सीन लगवाई. इसके बाद उनको कुछ देर बैठने के लिए कहा गया. गौरतलब है कि जिसको वैक्सीन लगाई जाती है उसे आधे घंटे बैठने को कहा जाता है ताकि उसकी स्थिति पर नजर रखी जा सके. सुनीला बैठी हुई थीं तभी दूसरी नर्स ने उन्हें कोवैक्सीन का टीका लगा दिया.

सुनीला देवी ने कहा,

“पहला टीका लेने के बाद जब मैं बैठी हुई थी तो दूसरी नर्स फिर से टीका लगाने लगी. मैंने मना किया और कहा कि एक हाथ में मुझे टीका लग चुका है तो उन्होंने कहा कि दूसरा भी उसी हाथ में लगेगा. उन्होंने दूसरा टीका भी लगा दिया.”

फिलहाल महिला की हालत ठीक है, लेकिन वह डॉक्टरों की निगरानी में हैं. इस मामले में पुनपुन खंड विकास पदाधिकारी शैलेश कुमार केसरी ने कहा कि,

“इस लापरवाही के लिए दोनों नर्स से स्पष्टीकरण मांगा गया है और महिला की मेडिकल टीम देखरेख कर रही है.”

पिछले दिनों इटली से एक ऐसा मामला सामने आया था जहां नर्स ने एक महिला को वैक्सीन की 6 डोज एक साथ लगा दी थीं. हालांकि महिला की स्थिति सही रही.

कोविशील्ड वैक्सीन की दो डोज के बीच 12 से 16 हफ्ते का गैप रखा जा रहा है. 13 मई 2021 को स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये फैसला लिया था. वहीं कोवैक्सीन की दोनों डोज के बीच 28 दिन का गैप रखा जा रहा है.

कोवीशील्ड के दो डोज के गैप बढ़ाने पर विवाद हो गया था. जिस नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन (NTAGI) ने गैप बढ़ाकर 12-16 हफ्ते किया था, उसके तीन सदस्यों ने कहा था कि इस फैसले में उनका समर्थन नहीं था. इसके बाद सरकार ने NTAGI के चीफ डॉ. एनके अरोड़ा को मीडिया के सामने भेजा और सफाई दिलवाई.

देश में कोरोना वैक्सीन कोवीशील्ड के दो डोज के बीच गैप बढ़ाने के सरकार के फैसला का ब्रिटिश फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने भी समर्थन किया है. एस्ट्राजेनका-ऑक्सफोर्ड ने ही इस वैक्सीन का फॉर्मूला तैयार किया है, जबकि सीरम इंस्टीट्यूट इसे भारत में कोवीशील्ड नाम से बना रहा है. एस्ट्राजेनका के क्लिनिकल ट्रायल के मुख्य जांचकर्ता प्रो. एंड्रयू पोलार्ड ने कहा कि वैक्सीन सिंगल डोज के बाद दूसरे और तीसरे महीने में ज्यादा सुरक्षा प्रदान करती है, यानी इसका सुरक्षा का स्तर और भी बढ़ जाता है. ऐसे में डोज का गैप बढ़ाने के फैसले में कोई कमी नजर नहीं आती.


वीडियो- रज़िया सुल्तान के बिहार की पहली मुस्लिम महिला DSP बनने की कहानी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.