Submit your post

Follow Us

उपचुनाव: तेज प्रताप ने जिस कैंडिडेट को समर्थन दिया, तेजस्वी ने उसे ही RJD में शामिल करा लिया

बिहार से एक बार फिर टसल की ख़बरें आ रही हैं. टसल RJD चीफ लालू प्रसाद यादव के बेटों के बीच. तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच.

दरअसल बिहार में दो विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं. कुशेश्वरस्थान और तारापुर. मतदान 30 अक्टूबर को होना है. नतीजा 2 नवंबर को आएगा. तारापुर सीट पर हाल ही में संजय कुमार ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन किया था. उनका नाम चर्चा में इसलिए था क्योंकि उन्हें तेज प्रताप यादव का समर्थन प्राप्त था. दरअसल तेज प्रताप यादव का एक संगठन है- छात्र जनशक्ति परिषद. क्योंकि उनका संगठन अभी चुनाव आयोग में रजिस्टर्ड नहीं है, न ही संगठन के पास चुनाव चिह्न है. इसलिए तेज प्रताप ने संजय कुमार को निर्दलीय उतारा और अपने संगठन का समर्थन दिया. माना गया कि तेज प्रताप ने RJD के ख़िलाफ़ अपना प्रत्याशी उतार दिया है.

तेजस्वी ने बाजी पलटी

बड़े भइया ने बाजी चली. अभी छोटे भइया की बारी थी. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव. 9 अक्टूबर को तेजस्वी ने संजय कुमार को मिलने बुलाया. मुलाकात हुई और चंद घंटों के भीतर ही संजय कुमार ने न सिर्फ अपना नामांकन वापस ले लिया, बल्कि RJD भी जॉइन कर ली. संजय कुमार ने कहा –

“बिहार में RJD की सरकार बनानी है. RJD को मजबूत करने के लिए मैंने अपना नामांकन वापस लेने का फ़ैसला किया है. मेरा उद्देश्य है- तारापुर विधानसभा से RJD उम्मीदवार को जिताना.”

वहीं तेज प्रताप यादव ने ट्वीट किया –

“मेरे लिए चुनाव में आदरणीय तेज प्रताप यादव जी प्रचार करेंगें- संजय यादव.
जनता के लिए संजय यादव जी ने अपनी उम्मीदवारी वापिस ली- पार्टी.
ना मैंने कुछ कहा, ना लिखा तो इसमें मेरा क्या रोल था या है? हरियाणवी स्क्रिप्टराइटर, तुम ये फालतू की सी-ग्रेड कहानी कहीं और लिखना. बिहारी सब समझतें हैं.”

हरियाणवी स्क्रिप्ट राइटर से यहां तेज प्रताप का इशारा तेजस्वी यादव के राजनीतिक सलाहकार संजय यादव पर बताया जा रहा है. तेज प्रताप यादव का कहना है कि उन्होंने तो इस मामले में कुछ कहा ही नही ंथा. ये तो संजय यादव ने कहा था कि तेज मेरे लिए प्रचार करेंगे फिर मेरा नाम कहां से आ गया.

लगातार उभर रहे मतभेद

हाल ही में RJD ने बिहार में स्टार प्रचारकों की एक सूची जारी की. इस सूची में तेज प्रताप का नाम नहीं था. बिहार की पूर्व CM राबड़ी देवी का नाम नहीं था. साथ ही लालू की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती का भी नाम नहीं था. इस पर भी तेज प्रताप ने खुलकर नाराजगी जाहिर की थी. उन्होंने ट्वीट किया था कि –

“ऐ अंधेरे देख ले मुंह तेरा काला हो गया, मां ने आंखें खोल दीं घर में उजाला हो गया. मेरा नाम रहता ना रहता, मां और दीदी का नाम रहना चाहिए था. इस गलती के लिए बिहार की महिलाएं कभी माफ नहीं करेंगी. दशहरा में हम मां की ही आराधना करते हैं ना जी”

इस पर RJD विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा था कि पार्टी के शीर्ष नेता तय करते हैं कि स्टार प्रचारक कौन होंगे. उन्होंने कहा था कि ये घर का मामला है, जिसे बाहर नहीं करना चाहिए.

इससे पहले तेज प्रताप ने कुछ दिन तेजस्वी का नाम लिए बिना बड़ा बयान दिया था. कहा था कि –

“RJD में कुछ लोग हैं, जो राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का सपना देख रहे हैं. चार-पांच लोग हैं ऐसे.हमारे पिताजी को आने नहीं दे रहे हैं. बंधक बनाकर रखे हैं दिल्ली में.”

इस पर तेजस्वी ने भी बिना किसी का नाम लिए कहा कि लालू प्रसाद यादव लंबे समय तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे. देश के रेल मंत्री रहे. 2-2 प्रधानमंत्री को उन्होंने बनाया. लालकृष्ण आडवाणी तक को उन्होंने गिरफ्तार करवा दिया था. हमारे पिता का जो व्यक्तित्व है, वो इन आरोपों से मेल नहीं खाता.


जगदानंद सिंह को लेकर तेज़ प्रताप के बिगड़े बोल पर तेज़स्वी ने क्या सलाह दी है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

ट्विटर पर फिल्म इंडस्ट्री ने पुनीत को किया भारी मन से याद.

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

इससे फेसबुक पर क्या कुछ फर्क पड़ने वाला है?